चिकनगुनिया की जानकारी, चिकनगुनिया, चिकनगुनिया बुखार

चिकनगुनिया के बारे में जानकारी – 12 सवाल जवाब (क्या करे)

पढ़िए चिकनगुनिया की जानकारी के बारे में चिकनगुनिया में क्या करे कैसे इस बुखार की देख भाल करे आदि सवालों के जवाब. चिकनगुनिया के बारे में सभी महत्वपूर्ण बातें.

चिकनगुनिया के बारे में सवाल जवाब चिकनगुनिया की जानकारी

चिकनगुनिया की जानकारी, चिकनगुनिया, चिकनगुनिया बुखार

Question – कैसे पता लगाया जाये की मुझे चिकनगुनिया बुखार है या नहीं ?

Answer : इसके लिए आप सबसे पहले डॉक्टर के पास जाइये, फिर डॉक्टर आपको ब्लड टेस्ट खून की जांच करवाने की सलाह देगा. अगर आपके खून में चिकनगुनिया वायरस होगा तो खून की जांच में यह सामने आ जायेगा. इस तरह खून की जांच के माध्यम से चिकनगुनिया बुखार होने या न होने का पता लगाया जा सकता हैं. इसके अलावा हमने पिछले लेख में इसके लक्षणों के बारे में बताया आप उसे पढियेगा आपको इस बुखार की पहचान करने में मदद होगी .

Question : डेंगू बुखार और चिकनगुनिया में क्या फर्क हैं ?

Answer : भले ही डेंगू बुखार और चिकनगुनिया के लक्षण और कारण एक ही हो लेकिन फिर भी इन दोनों रोग में काफी अंतर (difference) हैं. यह दोनों ही एक ही प्रजाति के मच्छर के काटने से होते हैं.

  • डेंगू में जोड़ों में कम या न के बराबर दर्द होता हैं, वहीं चिकनगुनिया बुखार में 1-2 महीनो तक जोड़ों में दर्द बना रहता हैं.
  • चिकनगुनिया में पुरे शरीर पर लाल चकते रेशेष हो जाते हैं वहीं डेंगू बुखार में यह रेशेज चहरे और कंधो पर ही होते हैं.
  • डेंगू में अंगों में से खून बहता हैं वहीं चिकनगुनिया में ऐसा नहीं होता
  • तो डेंगू और चिकनगुनिया इतना भेद होता हैं इसके बावजूद खून की जांच के माध्यम से पता लगाया जा सकता हैं की आपको डेंगू है या चिकनगुनिया.

चिकनगुनिया की जानकारी क्या करे इसकी देखभाल के बारे में

Question : क्या चिकनगुनिया के इलाज के लिए टिका दिया जाता हैं ?

Answer : नहीं, अभी तक डॉक्टर्स ऐसी कोई दवा या टिका नहीं खोज पाए हैं जो सीधे ही चिकनगुनिया को ख़त्म कर सके. इसके लिए डॉक्टर चिकनगुनिया के लक्षणों को मिटाने की दवा देते हैं और इस रोग का उपचार करते हैं.

Question : चिकनगुनिया ठीक होने में कितना समय लेता हैं ?

Answer : यह कुछ दिनों से 2 सप्ताह तक रह सकता है. हालांकि, शुरुआती संक्रमण के बाद एक साल तक जोड़ों में दर्द और सूजन जैसे लक्षण जारी रहते हैं.

Question : चिकनगुनिया के दौरान क्या खाना चाहिए ?

Answer : चिकनगुनिया में यह बहुत जरुरी हैं की आप अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखें, क्योंकि इस रोग में डिहाइड्रेशन का खतरा बहुत रहता हैं, इसके अलावा आपको यह चीजे खाना चाहिए ताकि जल्दी शरीर की खोई हुई शक्ति वापस बनाई जा सके- Vitamin C और Vitamin A से भरपूर पदार्थ खाये जैसे पपीता के पत्तों का रस, अंगूर, पालक, टमाटर, हरी पत्तेदार सब्जियां, कच्ची गाजर, नारियल पानी, संतरे का रस आदि का सेवन करना चाहिए.

Question : चिकनगुनिया में क्या परहेज करे

Answer : चाय और कॉफ़ी का सेवन कम से कम करे, हो सके तो इनको लेना ही बंद कर दें. तली-गली चीजे न खाये, ज्यादा मिर्च मसलों से बने पदार्थ भी न खाये, बीड़ी सिगरेट दारु भी न पिए और बाजार की चीजों का सेवन न करे. ज्यादा मात्रा में पानी पीते रहे.

Question : चिकनगुनिया में शरीर पर जो चकत्ते बन जाते हैं उनको कैसे मिटाये ?

Answer : एक अच्छा मॉइस्चराइजिंग लोशन का प्रयोग करें जिसमें चकत्ते को शांत करने के गुण हो. आप प्राकृतिक उपचार जैसे मुसब्बर, अलोएवेरा या जैतून का तेल का उपयोग कर सकते हैं ताकि चकत्ते के सूखापन और खुजली को कम किया जा सके.

Question : चिकनगुनिया में जोड़ों में दर्द क्यों होता हैं ?

Answer : चिकनगुनिया के वायरस जोड़ों के आसपास के ऊतकों को प्रभावित करने के लिए जाना जाता है. शरीर, इस लगातार संक्रमण के प्रति अपनी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया करता हैं जिससे जोड़ों में सूजन, सूजन और दर्द पैदा होता हैं. जैसे-जैसे यह वायरस शरीर से खत्म होने लगता हैं वैसे-वैसे दर्द भी शांत होता जाता हैं.

Question : इस बुखार में जोड़ों का दर्द कब तक होता हैं ?

Answer : चिकनगुनिया होने के कुछ महीनो बाद तक जोड़ों में दर्द की शिकायत बनी रह सकती हैं. कई लोगों में यह शिकायत एक वर्ष तक बनी रहती हैं.

Question : अगर चिकनगुनिया का कोई टिका नहीं है तो इसका इलाज कैसे करे ?

Answer : चिकनगुनिया का टिका तो नहीं हैं, लेकिन इसका इलाज किया जा सकता हैं. इसके लिए डॉक्टर चिकनगुनिया के लक्षणों को ख़त्म करने के लिए विभिन्न तरह-तरह की दवा देते हैं. इसके इलाज के लिए होमियोपैथी में अच्छी दवाइयां हैं जो की हमने पिछले लेख में बताई थी इसके अलावा कई लाखों लोगों ने आयुर्वेदिक उपचार से चिकनगुनिया को दूर किया हैं. आप भी आयुर्वेद और होम्योपैथी की सहायता लीजिये.

Question : चिकनगुनिया के मच्छर से कैसे बचे

Answer : इसके लिए घर पर साफ़ सफाई रखे, यह मच्छर बरसात में और बरसात के बाद काफी ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं इसलिए घर में व घर के आसपास कहीं भी किसी भी जगह पर पानी को जमा हुआ न रहने दे. कूलर, नाली आदि का पानी बहाते रहे. इसके अलावा अपने शरीर पर लौंग का तेल, नीम का तेल लगाए ऐसा करने से आपकी त्वचा पर मच्छर नहीं बैठेंगे और अपने घर पर बालकनी में तुलसी और गेंदे का फूल का पौधा लगाए.

Question : चिकनगुनिया किस वजह से होता हैं ?

Answer : यह मच्छर के काटने से होता हैं, मच्छर के काटने से चिकनगुनिया का वायरस हमारे शरीर में चला जाता हैं और तीन से चार दिन के भीतर वह पुरे शरीर में फेल जाता हैं. जिन लोगी की immunity अच्छी मजबूत होती हैं उन्हें यह रोग ज्यादा परेशानी नहीं देते हैं और ऐसे लोगों को बुखार आसानी से नहीं आता.

Question : ऐसे मजबूत Immunity पाने के लिए क्या करे ?

Answer : इसके लिए हम आपको सबसे सरल उपाय बताते हैं रोजाना सुबह के समय खाली पेट 5-6 तुलसी के पत्ते चबा-चबा कर खाये. इस उपाय को करने से आपको कभी बुखार नहीं आएगा. तुलसी शरीर को बाहरी संक्रमण से लड़ने की मजबूती देती हैं. इसके अलावा आप Wheat Grass Juice भी पिया करे सुबह के समय. ()

तो दोस्तों उम्मीद करते हैं आपको चिकनगुनिया के बारे में व इससे जुड़े सवालों के जवाब पाकर अच्छा लगा होगा. चिकनगुनिया में क्या करे यह अब आप बखूबी जान गए होंगे, यह चिकनगुनिया की जानकारी विभिन्न स्त्रोतों व मरीजों से ली गई हैं.

हमने पिछले लेख में इसके आयुर्वेदिक इलाज के बारे में भी बताया है और इससे सम्बंधित कई अन्य लेख भी लिखे हैं, आप उन्हें निचे Related Posts Section में जाकर जरूर पड़ें.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.

हमसे Facebook पर अभी जुड़िये, Group Join करे "Join Us On Facebook"