kamar dard ka ilaj baba ramdev, kamar ke dard ka ilaj

कमर दर्द ख़त्म करने का इलाज : बाबा रामदेव के 7 उपाय और दवा

loading...

 

कमर दर्द का इलाज की दवा इन हिंदी में बताये – पीठ में दर्द होना कोई बीमारी नहीं होती हैं. यह आपकी शारीरिक कमजोरी यानी हड्डियों की कमजोरी का संकेत होता हैं. हमारा पूरा शरीर हड्डियों का ढांचा है, और अगर ऐसे में हड्डियां कमजोर पड़ने लगेंगी तो कमर में दर्द, पैरों में दर्द आदि शिकायते होने लगेंगी जिससे आपको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पढ़ सकता हैं. इसके लिए आप घरेलु साधनो को अपनाकर भी ठीक कर सकते हैं.

पीठ दर्द ही क्यों – कमर में जहां दर्द होता है वह हड्डी हमारे पुरे शरीर को सम्हाले हुए होती है. यह सबसे अहम् हड्डी होती हैं. इसे रीड की हड्डी (vertebrae bone) भी कहते हैं. यह हड्डी छोटी-छोटी हड्डियों से बनी होती है, यानी छोटी-छोटी हड्डियों का समूह ही रीड की हड्डी (back bone) कहलाती है. अगर आप अभी युवा हैं और अभी से आपको पीठ में दर्द (back bone pain) होने लगा हैं तो आपको बिना देर किये समय से इसका उपचार खोज लेना चाहिए. kamar dard ka ilaj baba ramdev back pain treatment in Hindi हमारे द्वारा बताये जा रहे इलाज को आजमाकर भी आप इस पीठ दर्द से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं.

  • इस पोस्ट को पुरे ध्यान से और निचे तक पूरा पड़ें, यहां आयुर्वेद के खास नुस्खे बताये गए है और कमर के दर्द से जुड़े कुछ और पोस्ट निचे बताये है उन्हें भी पड़ें.

kamar dard ka ilaj, kamar ke dard ka ilaj baba ramdev

कमर दर्द होने का कारण

  • कमर में दर्द होने के कारण बहुत से हो सकते हैं जैसे –
  • ज्यादा भारी वजन उठाना
  • हड्डियों का कमजोर होना
  • ज्यादा देर तक एक Posture में बैठे रहना
  • Over Weighted होना
  • (शरीर का ज्यादा वजन होना मोटापा) आदि यह सबसे आम कारण हैं.
  • बहुत से व्यक्तियों को कमर में चोंट लगने के कारण भी दर्द होने लगता हैं.
  • बचपन की छोटी से चोंट भी इसका कारण बन सकती हैं.
  • कई बार भारी वजन को झटके से उठाने पर भी कमर की हड्डी पर आतंरिक चोंट पड़ जाती है, जिससे भी यह दर्द करने लगती हैं.

गलत तरीके से बैठना व चलना

  • कमर दर्द का यह सबसे आम कारण कहा जा सकता हैं. हमारे बैठने का तरीका बिलकुल गलत होता है, और इस गलत तरीके का प्रभाव रीड की हड्डी पर पड़ता हैं जिससे कमर में दर्द होने लगता हैं. इसलिए हमेशा रीड की हड्डी को सीधा रख कर बैठे और चले.
  • ज्यादातर कमर दर्द एक तो Office में एक जगह बैठ कर काम करने से और दूसरा ज्यादा उम्र होने यानी बुढ़ापे में. इन दोनों अवस्था में ही कमर में दर्द होता हैं. बुढ़ापे में जो कमर दर्द होता है उसका ठोस इलाज नही किया जा सकता, लेकिन फिर भी योग एक्सरसाइज और घरेलु नुस्खे के जरिये इसको बहुत हद तक रोका जा सकता हैं. और जिन लोगो को कम उम्र में ही एक जगह बैठने से कमर में दर्द होने लगता है, ऐसे लोगों को जल्द ही योग एक्सरसाइज शुरू कर देना चाहिए.

Yoga exercise ही जरुरी क्यों

  • यह आप सभी जानते होंगे की कमर दर्द एक हड्डी दर्द है, यानी यह हड्डियों की कमजोरी का संकेत हैं. और हड्डी की कमजोरी को दो तरीकों से ख़त्म किया जा सकता हैं. 1 yoga exercise 2. घरेलु नुस्खे इन दोनों तरीको से हर एक शारीरिक रोग को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता हैं. इसमें योग की अहम् भूमिका होती है, क्योंकि यह हड्डी में खिंचाव लाकर उसे मजबूत बनाता हैं.

  • योग स्ट्रेचिंग से कमर की हड्डी लचीली हो जायेगी जिससे आपको एक जगह बैठने में परेशानी नहीं आएगी. इसके साथ ही यह भविष्य में होने वाले जोड़ों के दर्द आदि हड्डियों से संबंधित सभी रोगों से छुटकारा दिलाएगा.
  • मानव शरीर व मानव मन की एक ही कमजोरी होती है, वह ज्यादा देर तक एक जगह पर स्थिर होकर नहीं रह सकता, हमारा मन भी एक जगह नही लगता इधर उधर भटकता ही रहता हैं, ठीक वैसे ही जब हम एक जगह पर ज्यादा देर तक एक ही posture में बैठे रहते हैं तो कमर की हड्डी में दर्द होने लगता हैं. क्योंकि पुरे शरीर का वजन इसी पर आ गिरता है जिससे इसकी जान सी निकल जाती हैं. और स्थिरता व ठहराव हमारे शरीर को पसंद ही नही होता.

कमर दर्द का इलाज की दवा

Ayurvedic Kamar Dard Ka ilaj in Hindi

  • बाबा रामदेव पतंजलि की दवा PEEDANTAK OIL को दर्द वाली जगह पर लगाने से तुरंत ही दर्द से राहत मिलती है. इसे आप पतंजलि स्टोर से खरीद कर ला सकते है.

Aloe Vera के लड्डू खाये

  • सबसे पहले अलोएवेरा लें और इसे कंडो (गोबर के कंडे) अगर गाय के गोबर के कंडे हो तो और भी लाभदायक होगा. अब इन कंडो को लेकर जला दें. जब यह कंडे जल कर अंगारे बन जाए तो इसमें अलोएवेरा को रख दें और एलो वेरा पर ऊपर से अंगारे भी बिछा दें. इतना करने के बाद निचे दी जा रही विधि अपनाये.

  • Aloe Vera को काटकर इसे छिल लें व गूदे को बाहर निकाल लें. इसके गूदे को अच्छे से बारीक पीस लें व इसमें थोड़ा आटा मिला लें. अब देसी घी व खांड मिलाकर मिक्स कर लें. इन सभी के मिक्सचर से हलवा बना ले. अब इस हलवे के 20 ग्राम के जितने भी लड्डू बने वह बना लें.
  • अब रोजाना नियम से चार पांच दिनों तक इन लड्डुओं को सुबह के समय खाली पेट खाये. भयानक से भयानक कमर दर्द में भी इस एलो वेरा के नुस्खे से दर्द में आराम हो जाएगा. एलो वेरा व अन्य सामग्री इतनी ले की 7 लड्डू बन सके. यह नुस्खा कमर दर्द, जोड़ों के दर्द, स्लिप डिस्क आदि इन सभी में लाभ देता हैं. अलोएवेरा के यह लड्डू कमर दर्द का रामबाण इलाज करते है.

सबसे आसान नुस्खा

हड्डियों से जुड़े रोगों के लिए इस कमर दर्द के घरेलु नुस्खे को रामबाण माना जाता हैं. यह उपाय दो महीने का हैं. कमर दर्द के लिए इससे आसान आयुर्वेदिक नुस्खा मिलना मुश्किल हैं.

  • एक सुखी खुबानी
  • पांच सूखे आलूबुखारे
  • एक सुखी अंजीर

इन तीनो को आपस में मिलाकर रोजाना सोने से पहले चबाकर खाना हैं. तीनो को आपस में अच्छे मिक्स कर लीजिये और दांतो से चबाकर खाये. सिर्फ दो महीने तक रोजाना खाते रहने से आपका कमर दर्द बिलकुल ही गायब हो जायेगा. इसको खाने के शुरूआती दिनों में ही आपको आराम महसूस होने लगेगा. फिर धीरे-धीरे या पूरी तरह गायब हो जायेगा.

तैल की आयुर्वेदिक मालिश

  • 400 ग्राम लहसुन
  • 1 लीटर कच्चा तेल (जैतून या सूरजमुखी का तेल भी ले सकते हैं)

जाने कमर दर्द का इलाज बाबा रामदेव : सबसे पहले लहसुन को छिले, छिलने के बाद इन्हें बारीक टुकड़ों में काट लें. अब इन टुकड़ों को एक कांच के बर्तन में दाल दें, फिर इसमें जैतून या सूरज मुखी दोनों में से एक का कच्चा तैल डाले. अब इसे अच्छे से पैक कर के दो हफ़्तों के लिए अंधेरे से भरे कमरे में रख दें. (याद रखे इसको जरा भी रौशनी नहीं लगना चाहिए) इस बिच रोजाना इस अंधेरे वाले कमरे में जाकर इस डिब्बे को हिलाते रहे.

दो सप्ताह के बाद डिब्बे को खोलकर एक कपडे के जरिये इसे छान लें, इसमें से निकलने वाले तैल को अलग निकाल लें. अब कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज तैय्यार हो चूका हैं. इस तैल को अपनी उँगलियों पर डालकर दर्द वाली जगह पर रोजाना सुबह व सोने से पहले मालिश करे. मालिश करने के बाद उस जगह को प्लास्टिक की पॉलिथीन से ढंक दें. ताकि वह हिस्सा गर्म बना रहे.

  • इसे दो महीनो तक करना होता हैं, जोड़ों के दर्द, पीठ का दर्द आदि सभी तरह के हड्डियों के रोग में यह फायदेमंद होता हैं.

लहसुन और अजवाइन का तैल बाबा रामदेव

  • लहसुन की चार कलियां लें, इन्हें छिल लें
  • 30 ग्राम सरसों का तैल लें
  • दो चम्मच अजवाइन के दाने

लहसुन को इस 30 ग्राम तैल में डाल दें. अब इसमें दो चम्मच अजवाइन के दाने भी मिलाये. कम आंच में तवे पर इन्हें सेंक लें. जब लहसुन की कली और अजवाइन के दाने काले पड़ने लगे तो इन्हें सेंकना बंद कर दें व आंच से निचे उतार लें. अब इनके ठन्डे होने का इन्तेजार करे.

  • रोजाना नियम से दिन में दो बार इस तैल से दर्द करने वाली जगह पर मालिश करे. यह आयुर्वेदिक नुस्खा पीठ दर्द, जोड़ों का दर्द, कंधो का दर्द, कोहनी का दर्द आदि हर प्रकार के हड्डियों से होने वाले दर्द में लाभ देता हैं.

गर्म पानी से भरे बाथटब या बड़े बर्तन में दो तीन चम्मच नमक डालकर अच्छे से मिलाकर उसमे 20 मिनट तक बैठे आराम करे. तो चोंट से हो रहा दर्द शांत हो जायेगा. इसके अलावा बर्फ के टुकड़ों को कमर पर रखकर भी राहत पा सकते है.

Oil Therapy For Back Pain

  • सरसों का तैल, तिल का तैल या नारियल का तैल इनमे से किसी भी एक तैल को चार चम्मच लेकर तवे पर डाल दे. फिर 8 लहसुन की कलियों को लेकर इस तैल के साथ सेंकें. इसे तब तक सेंकते रहे जब तक यह हलकी भूरी न हो जाए. फिर इन्हे तेल से निकालकर ठन्डे होने दें. अब इस तैल से कमर पर मालिश करे. करीबन 15 दिनों तक रोजाना इस तैल से मालिश करे.

  • अरंडी के तैल को गर्म कर के कमर पर मालिश करने से भी बहुत आराम मिलता हैं.
  • Mix turpentine oil और warm mint oil दोनों को आपस में मिलाकर कमर पर मालिश करने से जल्द आराम होता हैं.

पुराने कमर दर्द के लिए गेहूं का आयुर्वेदिक इलाज

रात को सोते समय 60 ग्राम गेहूं के दाने लें और इन्हें पानी में भिगो दें. फिर अगली सुबह इन गेहूं में 30 ग्राम खसखस व 30 ग्राम धनिया की मींगी (धनिया के छिलके निकलने पर निकलने वाली गिरी). इन तीनो को आपस में मिलाकर बारीक पीस लें. पीसने के बाद इसे दूध में मिलाकर पका लें. अब इस आयुर्वेदिक नुस्खे को दो सप्ताह तक खाये, इससे शारीरिक ताकत भी बढ़ेगी. सिर्फ खसखस और मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर दूध के साथ खाने से भी कमर दर्द दूर हो जाता हैं.

तुरंत आराम के लिए बर्फ की सिंकाई करे

  • अगर आपको कमर में चोंट लगी है (बिना चोंट के दर्द को भी यह उपाय ख़त्म करता है) और कमर में चोट लगने की वजह से ही कमर दर्द हो रहा हो तो बर्फ का यह इलाज आपके कमर दर्द को दूर करने के लिए सबसे उत्तम हैं. बर्फ में ऐसे ढेरों गुण होते हैं जिससे इसे पैन किलर भी कहा जा सकता हैं.

  • किसी भी वजह से लगी चोंट में बर्फ से सेंक करने से बहुत आराम मिलता हैं. थोड़े बहुत बर्फ के टुकड़े लें, इन्हे बारीक पीसकर एक कपडे में डाल लें. अब इस कपडे को अपनी कमर पर रख कर सेंक करे. इसे करीबन 20 minute तक कमर पर रखा रहने दें. अगर आपको आराम महसूस हो तो थोड़ी देर रुक कर फिर से बर्फ को अपनी कमर पर रखे.

आलू का उपयोग करे

  • कुछ कच्चे व भुने आलू लें, अब इन्है एक कपडे में लपेटकर अपनी कमर पर रख लें या बांध लें. एक घंटे तक इन्ही कमर से बंधा रहने दें.

पत्ता गोभी का उपयोग

  • उबलते हुए दूध में पत्ता गोभी डाले, और इसे तब तक उबाले जब तक दूध उबलकर आधा से आधा न रह जाए. यानी सिर्फ पत्ते ही दिखने लगे तब तक उबाले. फिर इसके बाद इसे अपनी कमर पर लगाए, या इन पत्तों को कमर से बांध दें. 20-30 minutes तक इसे ऐसे ही रहने दे.

  • नींबू के जूस में थोड़ा सा नमक मिलाये, अब इसे अच्छे से मिक्स कर लें. इस तरह रोजाना नींबू का जूस बनाकर पिने से lower back pain में बहुत फायदा होता है.

  • दूध में कैल्शियम बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता हैं. और कैल्शियम हड्डियों की सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता हैं. यह हड्डियों में होने वाली बिमारियों को रोकता हैं व हड्डियों को मजबूती देता हैं. इसके लिए एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच शहद डालें और रोजाना पिए. इससे तुरंत आराम नही मिलेगा लेकिन लगातार सेवन करने से आराम मिलेगा.

Black Haw and Cramp bark

Black haw और cramp bark को बराबर मात्रा में मिक्स कर ले, फिर इसे हर 3 से 4 घंटे के अंतराल में 3 दिनों तक लेते रहे. यह कमर दर्द के लिए सबसे असरकारी आयुर्वेदिक उपाय हैं जिससे पीठ में दर्द का घरेलु इलाज संभव हैं.

  • Chebulic myroblan :यह कमर दर्द के लिए सबसे आसान उपाय हैं. रोजाना खाना खाने से पहले इस फल को खाये. इससे कमर में होने वाले दर्द से बहुत आराम मिलेगा. सबसे सस्ता और आसान उपाय हैं.

 

  • Chamomile Tea इस चाय को दर्द निवारक माना जाता हैं. यह मांसपेशियों में हो रहे तनाव को ख़त्म करने में सबसे असरकारी माना जाता हैं. 1 कप उबलते हुए पानी में 1 चम्मच Chamomile flower को मिला दें. अब इसे 15-20 मिनट तक उबाले इसके बाद ठंडा होने पर इसका सेवन करे. आप इसका चाय के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं. आम सादहरण चाय की जगह आप इसका उपयोग कर सकते हैं.

  • जब भी कमर में अकड़न में दर्द सा महसूस होने लगे तो तुरंत अदरक की चाय पिए. अदरक को काट कर एक चौथाई पानी में डालकर आधे घंटे तक उबाले. इसके बाद ठंडा हो जाने पर इसमें थोड़ी सी शहद मिलाकर पिले.

कमर दर्द के लिए मालिश massage करे

  • यह कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज सबसे आसान और आरामदायक हैं. इसके लिए न कोई physical work और न mental work करने की जरूरत होती हैं. बस किसी एक व्यक्ति से कहिये और massage करवा लीजिये. ऐसी बहुत सी Massage cream market में available हैं जिनके जरिये कमर दर्द ख़त्म किया जा सकता हैं. आप massage के लिए किसी भी नजदीकी massage therapist को बुला कर कमर की मालिश करवा सकते हैं.

आप चाहे कहीं भी हो कुछ भी कर रहे हो, हमेशा अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रख कर ही बैठे व चले, काम करते वक्त, खाना कहते वक्त, मोबाइल चलते वक्त सभी समय कमर को सीधा रखे.

इसके अलावा आप रोजाना योग जरूर करे, योग इसका जड़ से उपचार करता है और शरीर को भी स्वस्थ रखेगा. हमने इसके लिए योग का एक पोस्ट भी लिखा है जो की ऊपर बताया है आप उसे भी एक बार जरूर पड़ें.

उम्मीद करते है आपको यह कमर दर्द का घरेलु इलाज करने के उपाय kamar dard ka ilaj in Hindi को पढ़कर अच्छा लगा होगा. इसमें हमने बहुत जरुरी कमर दर्द दूर करने के घरेलु नुस्खे  दिए है आप उनका प्रयोग करे और इस आयुर्वेदिक उपचार का लाभ उठाये.

Advertisement
loading...

6 Comments

  1. Ask Your Question
  2. abhishek singh
  3. Ask Your Question
  4. Girish
  5. Shruti Gupta
  6. ghanshyam

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.