f

41 एसिडिटी के लिए घरेलु नुस्खे उपाय (पेट में जलन का इलाज )

Ad Blocker Detected

Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by disabling your ad blocker.

एसिडिटी का इलाज Treatment करने के लिए घरेलु नुस्खे व उपाय

Content

acidity upay in hindi

All types Acidity treatment in hindi – आज के समय में हमारे खान पान के जो तरीके हैं वह बिलकुल Unnatural हैं. और इसी वजह से हमें acidity, पेट में जलन और पाचन तंत्र (Digestion) से Related बहुत सी problems का सामना करना पड़ता है.

और फिर हम acidity पेट में जलन का इलाज करने के लिए “Google Search” या किसी Doctor की मदद लेते हैं की आखिर इस एसिडिटी का इलाज कैसे करे व पेट की जलन को कैसे शांत करे.

तो चलिए अब आपको इस बारे में चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि हम आपको एसिडिटी का उपचार करने के लिए ढेर सारे घरेलु नुस्खे बताएंगे. जो की एसिडिटी से होने वाली पेट में जलन को मिटाने में आपकी मदद करेंगे (acidity ko kaise dur kare).

पेट और सीने में जलन एसिडिटी के लिए घरेलु उपाय से उपचार करने के बारे में पढ़ने के पहले चलिए जानते हैं की आखिर एसिडिटी होने के कारण व लक्षण कौन-कौन से होते हैं.

  • एसिडिटी क्यों और कैसे होती हैं

हमारे भोजन करने के बाद जब भोजन पेट के अंदर पाचन तंत्र में पहुंचता हैं तब इस भोजन को पचाने के लिए एक “Acid” बनता हैं, जो की पेट में भोजन को पचाने का काम करता हैं.

जब यह Acid पेट में जरुरत से ज्यादा बनने लगे तो acidity व पेट में जलन (Heart burning) सी मालुम होने लगती हैं.

जब हम भोजन को Unnaturally करते हैं तो हमारा digestive system इसको पचाने के लिए सही तरीके से काम नहीं कर पाता और वह Out of control हो जाता है जिस वजह से यह Acid जरुरत से ज्यादा बन जाता हैं.

आप भी एसिडिटी के लिए घरेलु उपाय से करे उपचार इलाज

भोजन को पचाने वाले इस Acid की भूमिका

  • यह acid Vitamin B12 को Absorb करता है. और यह Vitamin हमारे Brain और Nervous System को properly function
  • करने में मदद करता हैं.
  • यह Acid हमारे पेट में मौजूद जानलेवा bacteria को ख़त्म करने में मदद करता हैं.
  • Pepsin enzymes को सक्रीय करता है जो की digestion process में मदद करता है.
  • यह एसिड भोजन को पचाने वाले अंगो को सक्रिय करता है.
  • Intestines को भोजन में से nutrients absorb करने में मदद करता हैं

एसिडिटी के कारण (Acidity Cause)

  • चाय और कॉफ पिने से एसिडिटी होती है. (खासकर भूखे पेट होने पर कभी भी चाय कॉफ़ी न पिए)
  • Smoking करने से भी Acidity होती हैं.
  • ज्यादा और अनियमित चटपटा मसाले वाला भोजन करना
  • Alcohol पिने से भी यह तकलीफ होती है, (एक दायरे में रहकर alcohol पिए) ज्यादा alcohol digestion process को damage करती हैं.
  • भूख लगने पर भोजन नहीं करना, ज्यादा देर तक भूखे रहना.
  • दिन में कभी भी कुछ भी खाना
  • खाना खाने के बाद तुरंत सो जाना
  • तैलीय चीजें oily foods खाना आदि Acidity के reason होते है.
  • कम पानी पिने से
  • टमाटर और चावल न खाये
  • पढ़िए एसिडिटी का कारण और निवारण के बारे में

Tips – read full article acidity का घरेलु नुस्खे और उपाय 100 percent natural and works better then acidity medicine, tablets.

एसिडिटी के लक्षण (Acidity symptoms in hindi)

  • पेट में जलन सा मालूम होना
  • जी मचलना
  • खट्टी और कड़वी डकारे आने लगना
  • कब्ज की समस्या होना
  • गैस की समस्या होना
  • उलटी करने जैसे मन होना
  • सर दर्द और पेट में अजीब सा महसूस होना
  • Heart में जलन होने लगना

अब जानिए Acidity treatment के घरेलु उपाय व पेट में जलन के घरेलु नुस्खे के बारे में.

Padiye Acidity Ke Sabhi Tarah Ke Gharelu Nuskhe ke Baare Mein.

बताये जा रहे नुस्खों में अगर आपको कोई गड़बड़ मालुम हो या आपको हमसे कुछ पूछना हो तो हमें Comment Box के जरिये सुचना दें.

Kele ka Gharelu Upay (Banana)

  • केले में Potassium भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो की हमारे पेट में acid production को control में रखता है.
  • Bananaमें और भी बहुत से ऐसे पदार्थ होते हैं जो की पाचन तंत्र से सम्बंधित शिकायतों दूर करने में मदद करते हैं.
  • इसमे में Fiber भी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो की digestion process को मजबूत बनाता हैं.

जब भी आपको एसिडिटी की शिकायत होने लगे तो केले से एसिडिटी का उपचार कर सकते हैं.

Tulsi Ke Gharelu Nuskhe

  • Mucous पदार्थ पेट में एसिडिटी नहीं होने देता हैं. और यह mucous तुलसी के पत्तों में भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं.
  • तुलसी में Antiulcer properties होती है जो की Gastric Acids को control में रखते हैं.
  • तुलसी पाचन तंत्र को साफ़ करती हैं. (तुलसी एसिडिटी से बचाव करती हैं)

Acidity होने पर 5-6 तुलसी के पत्तों को अच्छे से चबा-चबा कर खाये व चूसें, तुलसी का यह प्रयोग बहुत आसान और मददगार हैं.

Elaichi Ka Gharelu Upay

  • इलाइची कफ, पित्त, वात दोष को को ख़त्म करने के लिए बहुत प्रसिद्द हैं.
  • आयुर्वेदिक डॉक्टर्स के मुताबिक इलाइची Digestion Process को उत्तेजित करता है.
  • पेट में होने वाली ऐठन को ख़त्म करता हैं.
  • भोजन के पाचन के दौरान बनने वाले Acid को control में बनाये रखता है. और पेट की आतंरिक अंगो को भी आराम पहुंचाता है.

Acidity से राहत पाने के लिए 2 इलाइची को लेकर उनके दाने निकाल लें फिर इन्हे पानी में डालकर अच्छे से उबाल लें. इसके ठन्डे हो जाने पर जब भी पेट व सीने में जलन महसूस हो तो इलाइची के इस ड्रिंक को पिए इसको पिने से तुरंत आराम मिलेगा. Instant relief treatment for acidity.

Pet Me Jalan Permanent Solution ilaj in hindi

Acidity permanent solution in hindi

Acidity को Permanently हमेशा के लिए दूर कैसे करे इसके लिए best बाबा रामदेव जी का उपाय.

एसिडिटी के लिए सबसे अच्छा उपाय होता है एलोवेरा, आप खाना खाने से पहले ही 4 चम्मच Aloevera का juice पीजिये. और ज्यादा problem होती हो तो खाना खाने के आधे घंटे बाद भी 4 चम्मच Aloevera juice पिली जिए. Aloevera का juice पिने से Acidity permanent ठीक हो जाती हैं. (acidity से हमेशा के लिए छुटकारा पाने का घरेलु उपाय . (आप इस नुस्खे को जरूर Try करे).

  • ऐसे ही परमानेंट 5 उपाय के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करे >> Permanent Care Must Read.

Laung Se Acidity Ka Treatment Kare

  • (Clove) लौंग में ऐसे रासायनिक तत्त्व होते है जो की पाचन तंत्र को साफ़ बनाये रखते हैं.
  • इसमे भोजन के पाचन के दौरान बनने वाले Acid को control में रखता हैं.
  • लौंग में Carmitive properties पाई जाती हैं जो की Foods digestion process को complete करने में मदद करता हैं.

अगर आप एसिडिटी से ग्रसित है तो एक दो लौंग को मुंह में रखकर चबाये और चूसै जब इसमे से juice निकलने लगे तो उसे पेट में उतार लें, लौंग का पेट की जलन के लिए यह उपाय पेट से सम्बंधित होने वाली सभी समस्याओं जैसे उलटी, जी मचलना आदि को तुरंत ख़त्म कर देता है सीने में जलन के उपाय .

Amla Ka Gharelu Upay

  • आमला जो की कफ और पित्त की शिकायत को ख़त्म करता है इसमे Vitamic C भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसके सेवन से पेट के सभी अंग स्वस्थ बनते हैं. यह एसिडिटी को भी नियंत्रित करता हैं.

रोजाना दिन में दो बार आमला के powder का सेवन करे, यह सेवन Acidity को शांत करेगा.

Thande Dudh Ka Gharelu Upay (पेट में जलन)

  • दूध में Calcium भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं और Calcium Acid को out of control होने से रोकता हैं. इस तरह ठंडा दूध Acidity ka ilaj करता हैं.
  • यह दूध Acidity की जलन से तुरंत राहत दिलाता है.
  • पेट की आंतों को शांत करता है जिससे शरीर में जलन बंद हो जाती हैं.

इसके लिए यह जरुरी हैं की दूध ठंडा हो और उसमे किसी भी तरह का कोई Powder, Sugar आदि न मिली हो. आप इस दूध में थोड़ा शुद्ध घी भी मिला सकते हैं. ऐसा करने से यह और ज्यादा असरदार हो जायेगा.

Sleeping Position For Acidity Solution

बहुत से लोगों को सोते वक्त पेट में जलन होती हैं. यह जलन गलत तरफ सोने से होती हैं. नींद में सोते वक्त होने वाली पेट में जलन से बचने के लिए हमेशा Left side में सोये. इस दिशा में सोने से जलन बिलकुल नहीं होगी और याद रख right side में कभी न सोये.

Sote wakt acidity hone se bachane ka upay

Apple Cider Vinegar Ka Gharelu Upay

  • Naturally apple cider vinegar में ऐसे गुण होते हैं जो की एसिडिटी को ख़त्म करने में बहुत मदद करते हैं.

एक दो चम्मच apple cider vinegar को पानी में मिला लें, फिर सुबह शाम और जब भी पेट में जलन महसूस होने लगे तो इसके drink का सेवन करें. (इसका उपयोग आप भोजन करने से पहले भी किया जा सकता हैं).

Apple cider vinegar एसिडिटी के लिए drinks में से सबसे best है, इसलिए अगर आप पेट में जलन को ख़त्म करने वाले drink का उपयोग करना चाहते है तो इसका उपयोग करे. इसके और भी बहुत से शारीरिक लाभ होते है.

उम्मीद है आपके लिए बताये गए एसिडिटी का सरल उपचार व घरेलु नुस्खे बहुत helpful हो, इसके साथ ही हम आयुर्वेदिक देसी उपाय भी बता रहे है इनको भी पड़ें यह भी एसिडिटी का इलाज करने में बहुत असरदार माने जाते है.

Jeera Ka Acidity Ke Liye Gharelu Nuskhe

  • Ayurvedic Scientist के मुताबिक जीरे में पेट की Nerve में होने वाली हलचल (irritation) और अल्सर को relax करने के लिए बहुत असरदार होता है.
  • जीरे में ऐसे असरदार पदार्थ पाए जाते हैं जो की Digestion process को boost करते हैं, Metabolism को improve करते है और गैस, कब्ज, Gastric problems से छुटकारा दिलाते हैं.
  • जीरा खट्टी डकारे को आने से रोकता हैं.

जब भी Acidity होने लगे तो जीरे के कुछ दाने को चबाकर चूसें या फिर जीरे के कुछ दानो को पानी में अच्छे से उबालकर रख लें फिर जब भी acidity होने लगे तो इसको पिए. ऐसा करने से acidity तुरंत शांत हो जायेगी.

Jaggery Gudh Ka Gharelu Upay

  • पेट में जलन और पेट के पाचन से सम्बंधित सभी परेशानियों, रोग से छुटकारा पाने के लिए गुड़ बहुत असरदार होता है.
  • गुड़ कर प्रयोग हम भी करते है.
  • गुड़ एसिडिटी के लिए प्राकृतिक उपचार है, जो की पेट में पाचन यंत्रो को स्वस्थ करता हैं.
  • पाचन के दौरान बनने वाले एसिड को जरुरत से ज्यादा नहीं बनने देता हैं.
  • गुड़ को आप बाजार में बड़ी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं. यह किसी भी किराना स्टोर पर मिल जायेगा.

Saunf Ka Gharelu Upay (Acidity Ka Ilaj)

  • यह पाचन तंत्र और कब्ज, गैस की शिकायत को भी दूर करता है.
  • इसमे भरपूर मात्रा में potent anti-ulcer properties होती है जो Acidity को शांत करती हैं.
  • एसिडिटी के दौरान शरीर में होने वाली जलन को तुरंत ख़त्म करने में मदद करता हैं.

सौंफ के कुछ दानो को चबाकर चूसने से भी Acidity में राहत मिलती हैं. इसके साथ ही सौंफ का एसिडिटी के लिए खास घरेलु उपचार भी है जो की इस तरह हैं –

सौंफ के कुछ दानो को पानी में अच्छे से उबाल लें और फिर इसे रात भर ऐसे ही छोड़ दें, फिर सौंफ के इस उबले हुए पानी को जब भी आपको पेट में जलन महसूस होने लगे तब पिए. यह drink एसिडिटी से तुरंत राहत दिलाएगी.

रोजाना सुबह व शाम खाना खाने के बाद 10 ग्राम गुड़ खाये. एसिडिटी के लिए यह 1 मिनट का उपचार एसिडिटी के इलाज के लिए बहुत असरदार होता है. इसका प्रयोग हम भी रोजाना करते हैं.

सबसे ज्यादा असरकारी एसिडिटी का उपचार के लिए आसान घरेलु उपाय इलाज

acidity ka gharelu upay, acidity ke liye gharelu nuskhe in hindi

Top 11 Most Common hindi home remedies for acidity treatment.

  • नमक का पानी

जब भी पेट में जलन होने लगे तो एक ग्लास पानी में थोड़ा सा नमक डालकर अच्छे से घोल लें, और फिर इसे धीरे-धीरे drink करे. Namak ka paani Acidity ke liye aasan upay hai जो की बहुत असरदार भी माना जाता हैं.

  • नारियल पानी

Acidity ke ilaj ke Liye (Coconut water) नारियल पानी भी बहुत उपयोगी Drink माना जाता है, क्योंकि यह भोजन को पचाने वाले Acid को control में बनाये रखता है और साथ ही यह पेट में mucous पदार्थ को भी बनाता है. यह mucous Acidity से होने वाली pet mei jalan को रोकता हैं. इसके साथ ही यह भोजन को जल्दी पचाने में भी मदद करता हैं.

  • Ice Creams

Ice Cream का सेवन करना भी acidity ke liye desi gharelu nuskhe में से एक हैं. Acidity का यह उपाय बहुत tasty और सबका पसंदीदा हैं. जब भी आपको पेट में जलन महसूस हो तो आप ice cream का सेवन कर सकते हैं.

क्योंकि ice cream इतनी ठंडी होती है की वह आराम से पेट की जलन को कम और ख़त्म कर सकती हैं.

  • खीरा और तरबूज

खीरा और तरबूज से भी acidity ka upchar बड़ी आसानी से किया जा सकता हैं. क्योंकि खीरा और तरबूज में 80 percent से ज्यादा पानी पाया जाता हैं जो की शरीर में पानी की कमी को तुरंत दूर करता है और पेट की समस्याओं से राहत दिलाता हैं.

(Cucumber & watermelon) तरबुज का पानी आम साधारण पानी के मुकाबले acidity के उपचार के लिए बहुत असरदार होता है)

  • Lemon & Ginger Juice

Lemon juice or ginger juice का Acidity का घरेलु उपाय सबसे आसान माना जाता है, इसका उपयोग बहुत से लोग करते हैं. अदरक और निम्बू को पेट की समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक उपचार में सबसे पहले गिना जाता हैं.

इसके लिए अदरक और निम्बू के जूस की दो-दो बून्द हलके गरम पानी में मिला लें, अच्छे से मिलाने के बाद इसको पी ले.

(जब भी आपको लगे की आपने जरुरत से ज्यादा भोजन कर लिया है तो एस आयुर्वेदिक घरेलु उपाय में शहद की एक बून्द और मिला कर सेवन करें, yah acidity ke tratment ke liye yah home remedy already bahut popular hai.

  • Pineapple Juice

हमेशा जब भी आपको एसिडिटी महसूस होने लगे तो एक ग्लास Pineapple juice का सेवन करे, एसिडिटी का यह आसान घरेलु नुस्खा आपको पेट में जलन से तुरंत राहत दिलाएगा और भोजन को पचाने में भी मदद करेगा. (एसिडिटी के इलाज के लिए इस remedy का उपयोग खाना खाने के बाद करे तो ज्यादा फायदेमंद होगा).

  • Orange Juice

Orange juice के बारे में लगभग हम सब जानते हैं की यह पेट में जलन, जी मचलना, उलटी होना आदि पेट की समस्याओं का उपचार करने के लिए बहुत उपयोगी होता हैं.

(इसका उपयोग एसिडिटी के आयुर्वदिक घरेलु नुस्खे में भी आता हैं) इसका सेवन भोजन करने के बाद करे, यह प्राकृतिक उपाय एसिडिटी को होने ही नहीं देगा.

  • Fasting व्रत उपवास करे 

व्रत (Fasting) , उपहास करने से भी एसिडिटी व पेट की पाचन शक्ति से जुडी सभी समस्याओं से राहत पाई जा सकती हैं. इसके लिए सप्ताह में 1-2 दिन fasting करे. (fasting के बिच सिर्फ fruits और fruits juice का सेवन करे)

एसिडिटी के लिए राजीव दीक्षित जी के घरेलु नुस्खे

रात को सोते समय 10 ग्राम किशमिश पानी में भिगोकर रख दें और फिर सुबह उठकर इसका सेवन करे (yah rajiv dixit ji ka acidity ke liye upchar hai)

एक तांबे के बड़े कप या बड़े बर्तन जिसमे 2-3 ग्लास पानी भरा जा सके, इसको रात में सोने से पहले अपने Bed के पास में रखकर सोये और सुबह उठने के तुरंत बाद ही यह सारा पानी पि जाए.

(तांबे के बर्तन की जगह साधारण बर्तन का उपयोग भी किया जा सकता है) यह आसान उपाय आपको Acidity, Pimples, चेहरे की सुंदरता, पेट की समस्या आदि में बहुत फायदे देगा. (यह राजीव दीक्षित जी के एसिडिटी के लिए घरेलु नुस्खे में से एक है).

रोजाना खाना खाने के बाद एक कप दही या लस्सी का सेवन करे, इनका सेवन एसिडिटी की जलन और पेट से जुडी सभी समस्याओं में राहत दिलाता हैं. (Ancient remedy यह एसिडिटी का आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे में से एक है) आज भी इसका प्रचलन बहुत से ढाबो में किया जाता है, यहां खाना खाने के बाद एक कटोरी में दही दिया जाता है. क्योंकि यह पेट से जुडी सभी समस्याओं के लिए रामबाण से कम नहीं होता.

दही का सेवन रत के समय न करे, अगर आप रात का भोजन सूर्यास्त होने से पहले कर लेते हैं तो ही दही का सेवन करे, अन्यथा सूर्य ढलने के बाद दही का सेवन नुकसानदायक होता हैं.

Top 10 Easy Remedies For Acidity Treatment in Hindi

  • खाने को हमेशा अच्छे से चबा-चबा कर खाये
  • पपीता, गाजर, पत्तागोभी, केले, सेब, पाइनएप्पल का juice एसिडिटी के लिए देसी उपचार के लिए आसान उपाय माने जाते हैं.
  • Acidity की जलन से राहत पाने के लिए रोजाना दिन में किसी भी समय निम्बू की शिकंजी का सेवन करे.
  • वह लोग जो की एक जगह बैठ कर सारे दिन काम करते हैं ज्यादातर ऐसे लोगों को ही एसिडिटी की शिकायत हो जाती है इसके लिए आपको अपने Office में नारियल पानी, निम्बू की शिकंजी आदि fruits juices का सेवन करना चाहिए.
  • एसिडिटी से तुरंत छुटकारा पाने के लिए बेकिंग सोडा को एक ग्लास पानी में मिलकर पिए, इसके सेवन से तुरंत आराम मिलेगा.
  • रात के समय त्रिफला चूर्ण और शहद का सेवन करने से भी एसिडिटी में आराम मिलता हैं.
  • पेट और पेट के नजदीक किसी अंग में जलन हो रही हो तो आप ठंडी चीज जैसे ice cream, fruits juice आदि का सेवन भी कर सकते है, एसिडिटी की जलन को शांत करने में यह भी आराम देंगे.
  • रोजाना केले और सेब खाये.
  • थोड़े से अजवाइन को एक ग्लास पानी में मिलाकर पिने से भी acidity ki jalan बंद हो जाती है.
  • जैसा की हमने बताया acidity के आयुर्वेदिक घरेलु उपाय में आप तुलसी के पत्ते, इलाइची और लौंग का सेवन करे. इनको मुह में चबाते हुए इनका रास चूसते रहने से पेट में जलन नहीं होती.
  • भोजन करने के बाद 10 ग्राम गुड़ खाने से भी एसिडिटी नहीं होती हैं.
  • (Heart burn) acidity के लिए सब्जियां – कद्दू, प्याज, पत्तागोभी, गाजर और सभी हरी सब्जियां. और साथ ही कम मसाले की सब्जियों का सेवन करे.

एसिडिटी के लिए बाबा रामदेव के उपचार (Patanjali)

एसिडिटी के इलाज के लिए पतंजलि का “Divya avipattikar churna” भी से भी उपचार किया जा सकता है. यह चूर्ण एसिडिटी बनाने वाले Acid को Control में करता है और इसके साथ ही पाचन तंत्र से जुडी सभी समस्याओं में भी राहत दिलाता हैं.

रामदेव बाबा की एसिडिटी के लिए आयुर्वेदिक मेडिसिन Divya avipattikar churna का उपयोग दिन में 2 बार भोजन करने के बाद 2-4 चम्मच सेवन करना चाहिए.

यह चूर्ण/दवा गैस, पेट में जलन, अम्लपित्त, खट्टी डकारे, खाना खाने के बाद उलटी जैसे मन होना आदि के उपचार के लिए बहुत उपयोगी होती हैं.

Acidity Ke Liye Yoga Kare

अगर आपके पास सुबह 10 minute का समय हो तो आपको एसिडिटी के लिए योग जरूर करना चाहिए. योगासन और प्राणायाम के जरिये एसिडिटी का उपचार बड़ी आसानी से हो सकता है. इसके साथ योगासन से आप शरीर को निर्गुण, स्वस्थ और शरीर का योवन सदा बनाये रख सकते हैं.

  • Kapalabhati Pranayama
  • Bhastrika Pranayama
  • Anulom Vilom Pranayama
  • Halasana Yoga
  • Ushtra Asana Yoga
  • Vajrasana Yoga
  • Pawanamuktasana Yoga

पेट में जलन एसिडिटी से बचने के उपाय टिप्स

  • भोजन के बाद गुड़ खाये
  • एक ग्लास पानी में मीठा सोडा मिलाकर पिए
  • पुदीना की पत्तियों को उबालकर पिए
  • गुन-गुने पानी में निम्बू डालकर पिए
  • नारियल पानी पिए
  • त्रिफला पाउडर को दूध में मिलाकर पिए
  • अलोएवेरा का जूस पिए
  • मूली को छोटे टुकड़ों में काटकर उसमें कालीमिर्च पाउडर और कला सेंधा नमक मिलाकर खाये
  • खाना खाने के बाद एक चम्मच सौंफ और मिश्री खाये
  • शहद को अदरक के रस में मिलाकर पिए.

उम्मीद है दोस्तों आपको बताये गए acidity treatment in hindi or acidity ka gharelu upay को पढ़कर और आयुर्वेदिक एसिडिटी के लिए घरेलु नुस्खे के बारे में जानकार आपको अच्छा लगा हो. अगर आप एसिडिटी पेट में जलन के इलाज से related हमसे कुछ पूछना चाहते हैं तो निचे Comment कीजिये हम एसिडिटी के उपाय से इलाज और उपचार से एसिडिटी कैसे दूर करे इसके बारे में और भी बहुत कुछ help करेंगे.

हमने यहां एसिडिटी के जितने भी ख़ास नुस्खे पाए जाते है वह सभी यहां पर बताये हैं.

loading...

34 Comments

  1. Sheetal Kumari
  2. Vipul chouhan
  3. Mala
    • HGU
  4. Naman
  5. Ramesh
    • hgupay.com
  6. Ramanand Kumar
  7. महेंद्र कुमार जैन बांसवाड़ा ,राजस्थान
    • hgupay.com
  8. Sudip gupta
    • hgupay.com
  9. Rajeev
    • hgupay.com
  10. ravi
  11. ravi
    • hgupay.com
      • paras
        • hgupay.com
  12. paras
  13. paras
  14. Ashwani tiwari
    • Editorial Team
  15. Devika
    • Editorial Team
  16. Pankaj singh
  17. manisha
    • BABA
  18. Aradhaya
  19. Shiv Shankar Hansda
    • BABA
  20. Shiv Shankar Hansda
  21. Ranvijay Mishra
    • BABA

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.