f

Stomach Pain Treatment 10 Effective Ayurvedic Remedies

Ad Blocker Detected

Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by disabling your ad blocker.

Stomach pain treatment in hindi with home remedies – यह एक ऐसी problem हैं जो की हर साल प्रत्येक व्यक्ति को एक न एक बार जरूर होता ही हैं, फिर चाहे वह हल्का पेट दर्द (light abdominal pain) हो या तेज व लम्बे समय तक पेट दर्द हो (chronic pain). लेकिन पूरी दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा जिसे इस दर्द का एहसास न हुआ हो की पेट में दर्द होने पर कैसे महसूस होता हैं.

इस दर्द से घर पर ही राहत पाने के लिए हम यहां आपको most effective & fastest home remedies for stomach pain (abdominal) के बारे में बताएंगे. इनको आप घर पर ही बड़ी आसानी से बना कर stomach pain का cure कर सकते हैं. यह ayurvedic remedies हैं इन से किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होता.

इसके साथ ही हम यहां आपको stomach pain tips भी देंगे. चलिए आगे पढ़ते हैं इस दर्द का permanently treatment करने के तरीकों और उपायों के बारे में. इस जानकारी को पूरा पढ़ने के बाद यह भी जरूर पड़ें – पेट दर्द का इलाज उपचार करने के लिए 81 उपाय.

stomach pain treatment in hindi, stomach pain home remedy in hindi, Stomach pain in hindi,

Effective Ayurvedic Stomach Pain Treatment in Hindi At Home

  • Why stomach pain occurs

सबसे पहले हम आपको छोटे रूप में यह बताना चाहेंगे की आखिर पेट दर्द क्यों होता हैं (why stomach pain occurs) व इसके कारण और लक्षण क्या क्या होते हैं.

  • जहरीला व बैक्टीरियल खाना खाने से (bacterial infection)
  • गन्दा दूषित पानी पिने से (bacterial water)
  • ज्यादा भोजन करने से
  • पानी कम पिने से (Be hydrated)
  • कच्चा भोजन करने से
  • भोजन करते समय बार-बार पानी पिने से
  • भोजन को ठीक से न पचाने से
  • शौच समय पर न जाने से
  • आंतों में मल का इकठ्ठा हो जाने से
  • कब्ज, अजीर्ण, बदहजमी के वजह से
  • एसिडिटी पेट में जलन, सीने में जलन आदि से
  • ulcer, a hernia, gall stones
  • अपेंडिक्स की खराबी से
  • पेट में छाले होने से

आदि पेट दर्द के यह सामान्य लक्षण होते हैं. अगर देखा जाए तो यह हमारी ही अनदेखी के वजह से होता हैं. जैसे की कहीं भी कैसे भी पानी पि लेना, बाजार की किसी भी होटल से कुछ भी खा लेना, हाथ धोकर भोजन नहीं करना आदि. हमारी यह साफ़ सफाई पर ध्यान न देने वाली आदतें ही हमारी सेहत को बिगाड़ती हैं.

जब हम बिना सफाई के अशुद्ध भोजन ग्रहण करते हैं तो उनमे छुपे बैक्टीरिया हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं. हाथ साफ़ करके भोजन नहीं करने पर भी यही स्थिति बनती हैं, हमारे हाथ कई जगह पर जाते हैं, इसलिए उन पर भी कई बैक्टीरिया निवास करते हैं ऐसे में बिना हाथ धोये भोजन करने पर वह बैक्टीरिया पेट में चले जाते हैं.

  • कच्चा भोजन खाना

जब व्यक्ति अपने घर से दूर रहने लगता हैं तो उसे टिफिन सेंटर पर भोजन करना पड़ता हैं, और ज्यादातर टिफिन सेंटर पर रोटियां अधपकी हुई मिलती हैं. वहां पर भोजन साफ़ सुथरा व पूरा पका हुआ नहीं होने से भोजन पेट में जाने पर दर्द पैदा करता हैं.

यह एक दम असर नहीं करता लेकिन जब व्यक्ति रोजाना कच्चा भोजन करता जाता हैं तो उसे एक दिन तेज पेट दर्द (chronic stomach pain) का सामना करना ही पढता हैं. फिर दर्द को रोकने के लिए आपको डॉक्टर की तुरंत सहायता लेनी पढ़ती हैं. इसलिए आप जहां कहीं भी रह रहे हो इस बात का खास ध्यान देख की आप जो खा रहे हैं वह पूरी तरह पका हुआ हैं या नहीं ?

लक्षण

  • पेट के किसी भी हिस्से में दर्द का एहसास होना
  • पेट व सीने में जलन सी महसूस होना
  • मल ठीक से न आना
  • खबराहट होना
  • अपचन होना
  • भोजन करते ही पेट में दर्द होना

अगर आपको कब्ज, अजीर्ण व मल के वजह से पेट में दर्द हो रहा हो तो यह लक्षण दिखाई देंगे

  • पेट भारी-भारी सा लगना, पेट में भारीपन
  • उलटी जी मचलना
  • पेट में सुई की चुभन जैसा दर्द होना
  • मल गाढ़ा और ठीक से नहीं निकलना
  • मल व गैस में बुरी बदबू आना

गंभीर लक्षण

  • मलद्वार में से खून निकलना
  • पेट में तेजी से दर्द होना और दवा लेने के बाद भी कम न होना
  • पेट दर्द के साथ-साथ बुखार आदि होना
  • खून की उलटी होना
  • बार बार रुक रुक कर दर्द होना
  • आंखे लाल हो जाना
  • शरीर का बिलकुल थक जाना
  • बहुत शारीरिक कमजोरी आना

क्या आपके छोटे बच्चे को भी पेट दर्द होता हैं, तो उसके लिए यह जानकारी जरूर पड़ें. यहां पर बच्चों में पेट दर्द का उपचार करने के लिए बहुत ही असरकारी नुस्खे बताये गए है जो की विशेषकर बच्चों के लिए ही हैं.

10 Ayurvedic Easy & Fastest Stomach Pain Ache Home Remedy

आदि इन लक्षणों के दिखाई देने पर आप अपने नजदीकी डॉक्टर को जरूर दिखाए, क्योंकि यह गंभीर लक्षण होते हैं जिनसे रोग के और बढ़ जाने की ज्यादा सम्भावना होती हैं. ऐसी स्थिति में आप first aid के तौर पर stomach pain home remedies को home treatment करने के लिए उपयोग में ला सकते हैं.

1. Chamomile Tea (कैमोमाइल)

कैमोमाइल stomach ache को कम करने के लिए बहुत ही असरकारी और आसान home remedy हैं. यह बैक्टीरियल इन्फेक्शन के वजह से हो रहे पेट दर्द में तो रामबाण होती हैं, ऐसे दर्द में तो यह आपको बहुत ही जल्दी राहत दिलाएगी. इसके साथ ही यह आंतों में हो रहे तनाव को भी कम करती हैं. अगर आपके पेट में दर्द किसी चीज के खाने से व इन्फेक्शन के वजह से हो रहा होगा तो इस आयुर्वेदिक रेमेडी का उपयोग जरूर कीजियेगा.

सामग्री – आपको जरूरत लगेगी :-

  • एक कैमोमाइल का पैकेज या फिर 1-2 चम्मच सुखी कैमोमाइल
  • एक मग्गा
  • गर्म पानी

एक बर्तन लीजिये उसमे एक मग्गे से ज्यादा पानी डाल दीजिये. अब इसे आग पर रख दें फिर इसमें कैमोमाइल भी मिला दें.
इस बर्तन को ऊपर से ढंक दीजिये. 10-15 मिनट तक इसे उबलने दें. उबल जाने के बाद इसे मग्गे में डालकर आराम से चाय की तरह पिए

2. Hot Water (गर्म पानी की बोटल)

गर्म पानी की बोटल यानी इतनी गर्म की आप इसे अपने पेट पर आराम से रख सके. इसमें आप कांच की बोटले और प्लास्टिक दोनों तरह की बोटल का उपयोग कर सकते हैं. इसके लिए थोड़ा पानी लीजिये उसे आग पर अच्छे से गर्म करके उबाल लीजिये फिर जब वह थोड़ा ठंडा हो जाए तो उसे बोटल में डाल लें (अगर आपके पास heating pad हैं तो आप बोटल की जगह उसका उपयोग कर सकते हैं).

इसके बाद सीधे लेट जाइये और बोटल को पेट पर रख लीजिये. 15 मिनट तक इसे पेट में जहां भी दर्द हो रहा हो उस हिस्से में रखे. ऐसा करने से पेट की आंतों में जो अकड़न हो रही होगी वह ठीक हो जाएगी, जिससे दर्द में बहुत राहत मिलेगी. यह घरेलु उपाय बहुत ही आसान हैं इसके कहीं कोई नुकसान नहीं होते, इसलिए आप इसका उपयोग जरूर कर सकते हैं.

3. Rice Water (चावल का पानी)

(Rice water remedy) चावल का पानी भी पेट दर्द में बहुत ही लाभदायक होता हैं, इसमें ऐसे कई गुण होते हैं जो की पेट के दर्द को ख़त्म करते हैं. बैक्टीरियल इन्फेक्शन, आंतों में दर्द, उलटी आदि सभी में चावल का पानी बहुत ही फायदे करता हैं. इसको बनाने में भी ज्यादा मेहनत नहीं करनी पढ़ती यह बहुत ही आसान हैं.

सामग्री :-

  • 2 कप चावल
  • जितने चावल हो उससे दुगना पानी लें
  • जैसे 2 कप चावल लिए तो आप 4 कप पानी लीजिये
  • चावल बनाने का बर्तन

चावल के बर्तन में चावल और पानी दोनों डाल दीजिये और इसे आग पर रख कर कम आंच में पकाना शुरू कीजिये. जब इसमें रखे चावल पक जाए यानी मुलायम हो जाए तब इसे आग पर से उतार लें. अब एक कप लीजिये और उसमे चावल पानी को निकाल लीजिये. इसमें चावल को बिलकुल भी न रहने दें, चावल-चावल एक तरफ और चावल का पानी एक तरफ रख लें.

अब इसमें स्वाद के लिए थोड़ी सी शहद मिला लीजिये, अच्छे से मिलाने के बाद इसे आराम से धीरे-धीरे पि जाये. इसके सेवन से stomach pain का home treatment हो जाएगा, दर्द में बहुत राहत मिलेगी.

4. Mint Ayurvedic Remedy (पुदीना)

पुदीना की पत्तियां और पुदीना की चाय दोनों ही पेट दर्द को ख़त्म करने में बहुत ही लाभदायक होती हैं. इसका सेवन पेट की मांसपेशियों को आराम पहुंचाता हैं साथ ही भोजन की पाचन प्रणाली को भी दुरुस्त करता हैं.

अगर आपको अपचन और गैस की शिकायत हैं या गैस व अपचन के वजह से ही पेट दर्द हो रहा हो तो यह आपके लिए और भी फायदेमंद होगी. क्योंकि यह गैस व अपचन को भी बड़ी आसानी से दूर कर देती हैं.

सामग्री :-

  • एक-दौ चम्मच पुदीना चाय की सुखी पत्ती या फिर थोड़ी ताज़ा पुदीना की पत्तियां
  • 1 मग्गा
  • 1 कप पानी

एक बर्तन लें उसमे पुदीना की चाय पत्ती (सुखी) मिलाये व एक कप पानी भी मिलाये. अब इसे आग पर रख कर करीबन 15 मिनट तक उबाले. इसके बाद अच्छे से उबल जाने के बाद आग पर से उतार कर आराम से धीरे-धीरे स्वाद लेते हुए इसको पि जाए.

अगर आपके पास में पुदीना के ताज़ा पत्ते हैं तो आप उन्हें सीधे मुंह में रख कर भी चबा सकते हैं. यह भी उतना ही फायदेमद होगा जितना की पुदीना की चाय पीना. इसका उपयोग आप कभी भी किसी भी समय कर सकते हैं. पुदीना के पत्तों को अच्छे से चबाकर उनका रस चूसे.

5. Lemon Water (नीबू पानी)

(Best for burning sensation) अगर आपको अपचन की शिकायत हैं और इसी वजह से पेट में दर्द हो रहा हैं तो यह रेमेडी आपको बहुत ही फायदा देगी. साथ ही अगर आपको एसिडिटी पेट में जलन के वजह से दर्द हो रहा हो तो यह उसमे भी बहुत लाभ देगी. एसिडिटी होने पर पेट में जो एसिड फैलता हैं उसे नीबू पानी नियंत्रित कर संतुलित कर देता हैं. जिससे पेट की जलन शांत तो होती हैं इसके साथ-साथ भोजन प्रणाली दुरुस्त हो जाती हैं.

सबसे पहले एक गिलास पानी को अच्छे से उबाल लीजिये, फिर जब यह गुन-गुना पिने लायक हो जाए तो इसमें एक नीबू काट कर उसका रस मिला दीजिये. अच्छे से मिलाने पर इसको पीलें.

6. Ginger Remedy (अदरक)

अदरक में यह दौ तत्व gingerols और shogaols होते हैं जो की पेट से सम्बंधित रोगों में बहुत लाभ देते हैं. जैसे पेट की आंतों को आराम देना, पेट की मांसपेशियों की अकड़न दूर करना, पेट दर्द को दूर करना आदि. इसके लिए आपको सिर्फ अदरक की चाय का सेवन करना होता हैं जो की इस तरह बनाई जाती हैं. आयुर्वेदिक fastest home remedy for stomach ache.

सामग्री

  • एक दो बड़ा अदरक या फिर 1-2 इंच बड़ी अदरक की जड़ें
  • 1-2 कप पानी और थोड़ी सी शहद

सबसे पहले अदरक को साफ़ पानी से साफ़ कर लीजिये. अब एक दौ कप पानी लीजिये और इसे आग पर उबालने के लिए रख दीजिये. अब इसमें अदरक को बारीक काट कर या अदरक घिसने की किसनी से अदरक को घिस कर इस पानी में डाल दीजिये. इसके बाद करीबन 4-5 मिनट तक इसे उबलने के लिए छोड़ दें.

5 मिनट बाद इसे आग से निचे उतार लीजिये और 1 कप में डाल लीजिये. (चाय का स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें थोड़ी शहद भी मिला सकते हैं). बस अब इसे आराम से धीरे-धीरे पीजिये जल्द ही stomach pain का treatment हो जायेगा.

7. Chew Fennel Seeds (सौंफ)

सौंफ पाचन प्रणाली को दुरुस्त करने में बहुत ही असरकारी होती हैं, यह पाचन में मौजूद पाचक द्वव्यों व रसों को नियंत्रित करती हैं जिससे पाचन सही ढंग से होने लगता हैं. अगर आपको पेट में दर्द अपचन, कब्ज, अजीर्ण, पेट में भारीपन, दूषित भोजन आदि के वजह से पेट दर्द हो रहा हो तो सौंफ आपको बहुत लाभ देगी.

इसके साथ ही पेट के रोगों से बचने के लिए आपको रोजाना भोजन करने के बाद 2 चम्मच सौंफ लेकर चबाने की आदत बना लेना चाहिए. इससे आपको पेट दर्द, कब्ज, अजीर्ण आदि रोगों से हमेशा के लिए छुटकारा मिलेगा. इसका सेवन गर्भवती स्त्री को नहीं करना चाहिए. Fennel Seeds is best for stomach pain permanent treatment effective for long time.

8. Asafetida Hing (हींग)

हींग में पेट दर्द का ट्रीटमेंट करने के बहुत से गुण होते हैं. पेट दर्द में इसका उपयोग कई तरह से किया जाता हैं, हम यहां आपको उनमे से सबसे सरल उपाय बता रहे हैं.

हलके गुन-गुने पानी में एक चुटकी हींग मिलाये (स्वाद के लिए आप इसमें सेंधा नमक या साधारण नमक भी मिला सकते हैं). अब हींग को पानी में अच्छे से घुलने दें व इसके बाद रोगी को हींग के पानी का सेवन करवा दें. यह गैस और पेट दर्द दोनों में बहुत लाभ देगी.

9. Yogurt (दही) Permanent Treatment

(Yogurt remedy for permanent treatment of stomach pain) अगर आप रोजाना दही का नियमित रूप से भोजन करने के बाद सेवन करते हैं तो आपको पुरे जीवन में कभी भी पेट का रोग नहीं होगा. क्योंकि दही पेट के रोगों के लिए रामबाण होता हैं, पेट के कीड़े, पेट के बैक्टीरिया आदि इन सभी का नाश करता हैं यानी पेट को सभी तरह के इन्फेक्शन से बचाता हैं.

इसका उपयोग भी बहुत ही आसान हैं आपको सिर्फ भोजन करने के बाद एक कप दही खाना हैं, बस. अगर आप इतना सा कष्ट उठाएंगे तो आपको जीवन में कभी भी एसिडिटी, अजीर्ण, अपचन, पेट दर्द आदि नहीं होंगे. और अगर आप भोजन करने के बाद दही लेते हैं और भोजन की टेबल से उठने के बाद सौंफ कहते हैं तो फिर क्या बात हैं. ऐसा करोगे तो आपको कभी पेट दर्द नहीं होगा.

डॉक्टर को कब दिखाए (Medical Treatment)

जब आपका पेट दर्द दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा हो, और home remedies का उपयोग करने पर भी आराम नहीं मिल रहा हो, पेट दर्द के साथ बुखार आदि होने लगा हो, ज्यादा उलटी होने लगी हो, खून की उलटी होने लगी हो, शरीर बहुत कमजोर हो गया हो आदि. यानी पेट दर्द जब बहुत तेज होने लगे तो आपको तुरंत डॉक्टर की सहायता लेना चाहिए. फ़िलहाल अगर आपका पेट दर्द सामान्य हैं और अभी-अभी हुआ हैं तो आप बेशक निचे दिए गए remedies से stomach ache का cure कर सकते हैं.

अब हम आपको stomach abdominal pain के treatment के लिए आसान आयुर्वेदिक remedies के बारे में बताएंगे. इन remedies का उपयोग करते समय एक बात का ध्यान रखे की एक remedy का उपयोग करने के बाद 30-45 मिनट तक किसी दूसरी remedy का उपयोग न करे. क्योंकि ऐसे में यह थोड़े साइड इफेक्ट्स कर सकती हैं.

उम्मीद करते हैं आपको ayurvedic stomach pain का treatment (permanent)के बारे में जानकर अच्छा लगा हो. यहां बताये गए सभी नुस्खे बहुत ही असरकारी हैं, यह आपको relief जरूर देंगे. यह जो stomach pain home remedy in Hindi में बताई गई उनमे से एक रेमेडी को एक ही समय पर इस्तेमाल करे, एक साथ 2-3 remedies का सेवन न करे.

इसके साथ ही पानी ज्यादा पिए, रात को सोने से पहले तांबे के बर्तन में पानी भरकर रखे व सूखने उठने के तुरंत बाद ही उस पानी को पेट भर के पि जाए. इससे पेट से सम्बंधित सभी रोग ख़त्म हो जाएंगे.

loading...

One Response

  1. rahul

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.