acupressure points for paralysis in hindi

7 दिन में फालिज का इलाज बाबा रामदेव लकवा की दवा

बाबा रामदेव जानिये फालिज का इलाज लकवा की दवा के बारे में, यहां बताये जा रहे है इनके आयुर्वेदिक उपायों से सिर्फ 7 दिनों में ही आपको लाभ होता दिखाई देने लगेगा. यह घरेलु उपाय बहुत ही आसान हैं, मुफ्त हैं, आप इनको घर पर ही बेहिचक अपना सकते हैं, चलिए अब आगे पड़ते हैं.

यह आयुर्वेदिक उपाय सभी के लिए असरकारी हैं, आप इन्हें पूरा पड़ें. व Facebook, Whatsapp आदि पर ज्यादा से ज्यादा SHARE करे ताकि यह सभी जरूरतमंद लोगों तक पहुंच जाए. आपका एक SHARE कई लोगों की सहायता कर सकता हैं.

  • लकवा जिसे इंग्लिश में पैरालिसिस कहते है इसे ही हिंदी भाषा में फालिज भी कहा जाता है.

लकवा को कैसे ठीक करे, lakwa ko kaise thik kare

  • फालिज अधरंग लकवा की बीमारी के लिए क्या करे, इसके लिए एलोपैथिक में यद्धपि प्रारंभिक तौर पर कुछ दवाइयां दी जाती हैं. लेकिन अगर इससे किसी का फालिज लकवा ठीक नहीं होता हैं तो फिर क्या करे? इसके लिए करे अनुम विलोम प्राणायाम, Baba ramdev treatment phalij dawa in Hindi
  • लकवा फालिज होते ही आपको पता लग जाता हैं, क्योंकि बोलने में तकलीफ आती हैं, हाथ से काम करने में तकलीफ आती हैं, दोनों हाथ पैर जवाब दे देते हैं, तो इस समय सरसों का गरम तेल करके या गरम गाय के घी से जिस अंग पर फालिज हुआ हैं वहां मालिश करिये, यह लकवा में मालिश करने के लिए बेहतरीन हैं लकवा का तेल.
  • लेफ्ट साइड में ब्रेन के अंदर स्ट्रोक आने से BP के कारण से या कोलेस्ट्रॉल के कारण से ब्रेन में क्लॉट आ जाता हैं. अगर राइट साइड में क्लॉट आ जाता हैं तो लेफ्ट साइड का फालिज हो जाता हैं और अगर लेफ्ट साइड में क्लॉट आये तो राइट साइड में फालिज हो जाता हैं. अगर ब्रेन के दोनों तरफ क्लॉट आ जाये तो पुरे शरीर में फालिज हो जाता हैं.

घर पर ही लकवा को ख़त्म करने के लिए हमने 51 आयुर्वेदिक उपाय व इस रोग के बारे में पूरी तरह से भी बताया हैं, यह क्यों होता हैं, इसके पीछे होने के क्या कारण हैं आदि इसके लिए आप यह लेख भी जरूर पड़ें – लकवा का इलाज – Ayurvedic Paralysis Treatment यहां लकवा के सभी प्रकार के बारे में भी बताया गया हैं, इसे एक बार जरूर पड़ें.

लकवा शरीर में कई जगह पर हो सकता हैं, इनमे शरीर के इन हिस्सों पर ज्यादा लकवा होता हैं. मुंह का लकवा, जीभ का लकवा, शरीर के एक तरफ का लकवा, सकम्प लकवा आदि.अगर आपको one side फालिज हुआ हैं, या शरीर के जिस तरफ फालिज लकवा हुआ हैं उस साइड से अनुम विलोम प्राणायाम करना शुरू कर दीजिये. यह लगातार करते रहिये एक घंटा तक दो घंटे तक.

अगर आपका फालिज (लकवा) ज्यादा पुराना नहीं हैं तो आप महसूस करेंगे की आपका फालिज ठीक हो रहा हैं, जिस अंग में फालिज (लकवा) हुआ हैं वह काम करने लगेगा. और अगर आपका पैरालिसिस (लकवा) ज्यादा पुराना हैं और शरीर में ज्यादा जगह पर हुआ हैं तो भी यह अनुम विलोम प्राणायाम सिर्फ 7 दिन से लेकर 15 दिनों के अंदर फालिज (लकवा) को ठीक कर देता हैं.

फालिज का इलाज लकवा की दवा बाबा रामदेव पतंजलि

Paralysis Ayurvedic Treatment in Hindi

अनुम विलोम से लकवा को ठीक करे बाबा रामदेव पतंजलि दवा

  • हमने इसका प्रयोग एक दो पर नहीं सैकड़ों रोगियों पर किया, उसमे तो बहुत से हमारे शिक्षक ही थे. किन्हीं कारण से उनको फालिज हो गया था, हमने उनका यह अनुम विलोम प्राणायाम के बारे में बताया और कुछ समय में वह इससे अच्छे हो गए.
  • यहां से लेकर पुरे देश व दुनिया में ऐसे रोगी मेरे पास में हैं. उनका पूरा रिकॉर्ड हैं. जिनको पहले फालिज (लकवा) हुआ और 7 से लेकर सिर्फ 15 दिन में ही वह इसे उपाय से पूरी तरह अच्छे हो गए. अनुम विलोम प्राणायाम एक-एक घंटा करने से यह रोग ठीक हो जाता हैं.
  • अगर आपको अभी फालिज हुआ हैं तो अभी इसी वक्त से प्राणायाम करना शुरू कर दीजिये. क्योंकि इसमें अनुम विलोम प्राणायाम जबरदस्त लाभ करता हैं, बाकी भी भस्त्रिका करे, कपालभाति करे, उज्जायी करे. ज्यादातर तो आप अनुम विलोम ही करे, लगातार एक घंटे तक. हो सके तो सुबह शाम दोनों समय पर आप इसका प्रयोग करे.

Acupressure points for paralysis in Hindi

acupressure points for paralysis in hindi

  • और हाथों और पैरों में जहां मास्टर पॉइंट हैं, उसको दबाने से भी विशेष लाभ होता हैं. रिंग फिंगर के टॉप पर दबाएँ, यानी सबसे छोटी उंगली के पास की उंगली के मध्य भाग को दबाते रहे, इस उंगली को हिंदी में अनामिका कहते हैं.. और आपके शरीर में जिस तरफ फालिज हुआ हैं उस तरफ के हाथ की उंगलियों के पीछे के हिस्सों को भी दबाये.
  • और जिनको भी फालिज हुआ हैं, उनको रोज सुबह शाम अनुम विलोम प्राणायाम करने के साथ साथ कुछ आयुर्वेदिक औषधियों का सेवन भी करना चाहिए. बाबा रामदेव के पतंजलि स्टोर्स पर आपको यह औषधियां बड़ी आसानी से मिल जाएंगी.

पतंजलि की दवा लकवा में

एकांग वीर रस – बड़ी उम्र के लोगों के लिए 10 ग्राम
प्रवाल पिष्टी – 2-4 ग्राम दिया जाता हैं
रस राज – 1-2 ग्राम दिया जाता हैं
योगेंद्र रस भी – 1-2 ग्राम दिया जाता हैं

इन सब को मिलाकर 60 पुड़िया बनाकर सुबह शाम खाली पेट खिलाये.

क्या करे जिससे लकवा जीवन में कभी भी न हो, इससे जीवन भर बचे रहने के लिए यह लेख जरूर पड़ें यहां पर वह सभी बाते बताई गई हैं जिनसे बचना चाहिए –  लकवा से कैसे बचे 

लकवा के लिए जड़ी बूटियां पतंजलि रामदेव बाबा की

मेधा वटी, त्रयोदशं गुग्गुल, शिलाजीत रसायन और अश्वगंधा कैप्सूल भी साथ में दिया जाता हैं, इससे विशेष लाभ होता हैं. इन सभी को एक एक लेकर दूध के साथ में सुबह व शाम भोजन करने के बाद सेवन करे तो इससे फालिज के मरीजे 100% अच्छे हो जाते हैं.

इसके साथ ही हमने पिछले लेखों में लकवा (फालिज) के बारे में बताया हैं, आप उनको भी जरूर पढियेगा ताकि आपको लकवा के विषय में सम्पूर्ण रूप से जानकारी हो जाए.

  • इसके लिए आप यहाँ next page पड़ें ढेरों आयुर्वेदिक उपाय दिए गए है इसमें जरूर पड़ें –  NEXT PAGE

ऊपर दिए गए सभी पोस्ट्स जरूर पड़ें उनमे बहुत अहम् जानकारियां दी गई है, जो की लकवे फालिज के रोगी के लिए रामबाण है.

आप यह रामदेव फालिज का इलाज लकवा पतंजलि की दवा paralysis by baba ramdev in Hindi में बताये गए उपायों को जरूर करे. रोजाना अनुम विलोमा प्राणायाम करने से आपको बहुत लाभ होगा.

27 Comments

  1. Ask Your Question
  2. Kapil Parmar
  3. Ask Your Question
  4. Krishna deo thakur
  5. Subh narayan onha
  6. Ask Your Question
  7. Shivam
  8. Ask Your Question
  9. Sulabh kumar
  10. Ask Your Question
  11. Imran
  12. helth special
  13. Ask Your Question
  14. SATYENDRA KUMAR
  15. Ask Your Question
  16. Durgesh prajapati
  17. BABA
  18. Trishika
  19. BABA
  20. Ranjeet singh
  21. BABA
  22. ranjeet singh
  23. BABA
  24. Preet kour
  25. poonam
  26. BABA
  27. Pushpender

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.