sardi ka ilaj, jukam ka ilaj, sardi jukam ka ilaj, sardi jukam ke gharelu nuskhe

बाबा रामदेव सर्दी जुकाम का इलाज के आसान घरेलु नुस्खे

जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती हैं उन्हें जरा से मौसम के बदलाव से सर्दी जुकाम हो जाती हैं. अगर हम लम्बे समय तक सर्दी जुकाम को नजअंदाज़ करते चले जाए तो यह अन्य गंभीर रोगों में बदल जाता हैं उनमे पहला बुखार, टाइफाइड आदि हैं. अक्सर रोगी सर्दी जुकाम की दवा गोली लेते हैं लेकिन यह जुकाम को जड़ से खत्म नहीं करती इसीलिए हम यहां आपको रामबाण आयुर्वेदिक घरेलु उपायदेसी नुस्खे बता रहे हैं इनके जरिये आप सर्दी जुकाम का इलाज कर सकते हैं, आइये जाने सर्दी दूर करने के उपाय के बारे में.

sardi ka ilaj, jukam ka ilaj, sardi jukam ka ilaj, jukam ka upchar

देसी आयुर्वेदिक उपाय से करे सर्दी जुकाम का इलाज 20 घरेलु नुस्खे

  • सात कालीमिर्च और सात बताशे पाँव भर पानी में पकावे चौथाई रहने पर इसे गरमागरम पि लें और सर तथा सारा बदन ढंककर दस मिनट तक लेट जाए. सुबह खाली पेट और रात सोते समय दो दिन प्रयोग करे. दो दिन में ही नजले में बिलकुल आराम हो जायेगा. इससे जुकाम, खांसी, हलकी हरारत और शरीर के दर्द में आराम हो जाता हैं और पसीना आकर शरीर फूला सा हल्का हो जाता हैं.
  • बुखार सहित सर्दी जुकाम होने पर सात तुलसी की पत्तियां भी काढ़ा बनाते समय उसमे डाल दें और यह काढ़ा दिन में दो बार दो दिन तक लें.
  • आधा चम्मच अदरक का रस और एक डेढ़ चम्मच शहद दोनों को आपस में मिलाकर के रात को सोने से पहले व सुबह उठने के बाद सेवन करने से सर्दी जुकाम व बुखार इन सभी में 100% आराम मिलता हैं, यह सर्दी जुकाम के उपाय में सबसे आसान हैं इसे हर कोई व्यक्ति कर सकता हैं. अगर सर्दी ज्यादा हो तो इस प्रयोग को दिन में तीन बार करे, सुबह, दुपहर व रात को. प्रयोग करने के एक घंटे बाद तक पानी न पिए.
  • यह भी पड़ें – बुखार का इलाज 15 देसी घरेलु नुस्खे

तुलसी की चाय

ताज़ा तुलसी की पत्तियां 7 से 11 तक अथवा छाया में सुखाई गई तुलसी की पत्तियों का चूर्ण एक ग्राम या चौथाई थोड़ी कुटी हुई सात नग तीनों वस्तुओं को 200 ग्राम उबलते हुए पानी में डालकर दो मिनट उबालें. इसके बाद निचे उतार कर दो मिनट ढँक कर रख दें. दो मिनट बाद छानकर इसमें उबला हुआ दूध 100 ग्राम और मिश्री या चीनी एक दो चम्मच डालकर गर्म गर्म पि लें और ओढ़कर पांच दस मिनट सो जाए. इससे सर्दी का सिरदर्द, नाक में सर्दी, जुकाम, पीनस, श्वास नली में सूजन और दर्द साधारण बुखार, मलेरिया आदि को दूर करने की क्षमता होती हैं. बच्चों की चाय में इसकी आधी मात्रा डालें. जरूरत के मुताबिक दो तीन दिन लें. सांस से सम्बंधित सभी रोग में भी यह कारगर है कफ को भी पिघला कर शरीर से बाहर कर देता हैं यह अचूक रामबाण उपाय.

सर्दी जुकाम में बंद नाक खोलने का उपाय – 10 अजवाइन को एक साफ़ कपडे की पोटली में बांधकर तैर पर गर्म कर लें. फिर उसे बार-बार सूंघने से जुकाम में आराम मिलता हैं, बंद नाक खुल जाती हैं, गन्दा पानी निकल जाता है व सर का भारीपन भी मिट जाता हैं.

सर्दी जुकाम के कारण गला बैठ जाने पर – सात कालीमिर्च और उतने ही बताशे चबाकर के रात को सो जाए, बताशे न मिलने पर मिश्री का उपयोग किया जा सकता हैं. कालीमिर्च व मिश्री (बताशे) का सेवन जुकाम से बैठा हुआ गला ठीक कर देता हैं.

नजला जुकाम का रामबाण उपचार

20 ग्राम बादाम (गुरुबंदी बादाम), 20 ग्राम कालीमिर्च (साबुत), 20 ग्राम मगज (खरबूजे के बीज), 20 ग्राम खसखस और 50 ग्राम चीनी (शक़्कर) का बुरा. इन सब को लेकर के मिक्सर में पिसे व इनका पाउडर बना लें और उसे एक डिब्बी में भरकर रख लें. अब इस नुस्खे से सर्दी जुकाम का उपचार करे के लिए एक चम्मच इस पाउडर को दूध में डालकर के सुबह व शाम को दोनों समय पिए. नजला जड़ से ख़त्म होगा, नाक बहना बंद होगी आदि सर्दी दूर हो जाएगी, इसे लगातार कुछ सप्ताह तक लेते रहे जब तक आपको पूरा आराम न हो जाए.

छोटे बच्चे को सर्दी जुकाम व खांसी में 1-2 बून्द तुलसी के रस में थोड़ा शहद मिलाका के बच्चे को छटा दें, यह आप सुबह व रात को सोते वक्त करे, प्रयोग के बाद पानी न पिए, बच्चों का सर्दी जुकाम दूर करने में यह आसान आयुर्वेदिक उपाय रामबाण होता है.

जिनको सर्दी, कफ बलगम की शिकायत है वे तुलसी की पत्ती, अदरक, लौंग व दमबेल की 1-1 पत्तियों को कूटकर काढ़ा बनाकर चाय की तरह पिए. सर्दी जुकाम व कफ बलगम में आराम मिलेगा यह जुकाम के घरेलू उपाय है.

sardi jukam ke gharelu nuskhe, sardi jukam ka desi ilaj, sardi ke gharelu nuskhe, sardi ka gharelu ilaj

सीतोपलादी चूर्ण 100% असरकारी – सर्दी जुकाम के घरेलु उपाय

सर्दी जुकाम के साथ हल्का बुखार जैसा होने पर – सीतोपलादी का चूर्ण – मिश्री-16 160 ग्राम, वंशलोचन 80 ग्राम, 3-पिप्पली 40 गम, इलाइची 20 ग्राम, दालचीनी 10 ग्राम यह सभी लेकर बारीक़ पीस लें. बच्चों के लिए इस चूर्ण को 5 ग्राम की मात्रा में लेकर के शहद के साथ मिलाकर बच्चे को चटवाये, बड़े लोग एक दो चम्मच चूर्ण को लेकर शहद में मिलाकर चाटें. नोट : इस चूर्ण का प्रयोग सुबह व शाम को खाली पेट होने पर करे यह सर्दी जुकाम, खांसी, बुखार आदि इन सभी का एक साथ घरेलु इलाज करता हैं.

जायफल व दालचीनी को सामान्य मात्रा में लेकर बारीक़ पिसे और दिन में करीबन दो बार इसको खाये, इस घरेलु उपाय के प्रयोग से सर्दी जुकाम में आराम मिलता हैं.

  • बाबा रामदेव की पतंजलि की दवा divya lavangadi vati की एक-एक गोली दिन में दो बार सेवन करने से सर्दी जुकाम, खांसी दूर होती हैं. छोटे बच्चों को आधी टेबलेट गर्म पानी के साथ सुबह व शाम को दें.

  • सर्दी जुकाम इम्युनिटी के कमजोर होने से होती है इसके लिए आप रोजाना 4-5 तुलसी के पत्ते सुबह के समय खाली पेट लेना शुरू करे, जिंदगी भर आपको कोई सर्दी जुकाम खांसी व एलर्जिक समस्या नहीं आएगी, यह उपाय इम्युनिटी को मजबूत करता है व मलेरिया, डेंगू, बुखार आदि संक्रमण के रोगों से बचाऊ करता हैं. इसके रोजाना के प्रयोग से आपको कभी जुकाम का इलाज करने के नुस्खे का प्रयोग करने की नौबत ही नहीं आएगी.

  1. सर्दी के वजह से गले में खराश की समस्या आरही हो तो थोड़े से नमक को एक डेढ़ गिलास पानी में मिलाकर गुन-गुना गर्म कर लें व फिर इससे कुल्ले (गरारे) करे. ऐसा करने से मुंह के सभी कीटाणु मर जाते हैं एलर्जिक जुकाम, कफ बलगम में अचूक लाभ करता हैं.
  2. हल्दी के टुकड़े को जलाकर उसके धुए की भांप लेने से नाक तेजी से बहकर सर्दी खुल जाती हैं.
  3. रोजाना दूध में हल्दी मिलाकर पिने से कफ, सर्दी जुकाम, खांसी सभी से सुरक्षा होती हैं, सर्दी जुकाम हमेशा के लिए दूर हो जाती हैं.
  4. खजूर को करीबन एक डेढ़ गिलास पानी में अच्छे से उबालकर पिए यह सर्दी जुकाम का देसी उपाय बहुत राहत देता हैं.
  5. एलर्जी या किसी संक्रमण से हुए सर्दी जुकाम में पांच लहसुन घी में भूनकर खाये, लहसुन में बैक्टीरिया से लड़ने की अद्भुत क्षमता होती हैं, दो-तीन बार के प्रयोग से ही जुकाम तुरंत दूर हो जायेगा.
  6. जुकाम में इलाइची को अच्छे से बारीक़-बारीक़ पीसकर अपने रुमाल में लगा लें और फिर इसे सूंघे ऐसा करने से सर्दी जुकाम में बहुत राहत मिलती हैं. आप इसको कभी भी प्रयोग कर सकते हैं, सर्दी के मौसम में अपने रुमाल में हमेशा इलाइची को पीसकर रखे तथा समय मिलने पर रुमाल को सूंघते रहे.
  7. इलाइची की तरह कपूर के एक टुकड़े को भी अपने रुमाल में रख कर सूंघने से भी जुकाम में अत्यंत लाभ होता हैं, इसके प्रयोग से बंद नाक भी खुल जाती हैं. यह आसान बंद नाक खोलने का घरेलु उपाय हैं जो सर्दी जुकाम में बेहद लाभप्रद सिद्ध होता हैं.

पतंजलि की आयुर्वेदिक दवा “दिव्य धारा”

यह दिव्य धारा रामबाण दवाई हैं यह सर्दी जुकाम से हो रहे सिर दर्द, बंद नाक, तेज सर्दी आदि को मिनटों में ठीक करती हैं. एक बड़े बर्तन में 4-5 गिलास पानी डालकर उसे अच्छे से तेज उबाल ले फिर उस बर्तन को निचे जमीन पर रख दें व आप उस बर्तन के पास कम्बल ओढ़कर बैठ जाए और अपने को पूरा ढँक ले अब दिव्य धारा की 2-3 बून्द उस गर्म पानी में डाल दें. अब तेज धुवां निकलेगा इसे धुए में आपको सांस लेना हैं, जितनी सांस लेंगे उतना लाभ होगा. यह धुआं इतना तेज होता हैं की जी करता हैं की तुरंत वहां से उठ जाए, लेकिन ऐसे तुरंत वहां से न उठे जब तक वह धुआं अपने आप कम न हो जाये 10 मिनट तक वैसे ही कम्बल ओढ़कर बैठे रहे. इससे बंद नाक तुरंत खुल जाती हैं.

  • सिर दर्द होने पर दिव्य धारा की 1 बून्द लेकर सिर में जहां दर्द हो रहा हो वहां पर मालिश करे तुरंत आराम मिलेगा.

तो इस तरह बताये गए सर्दी जुकाम का इलाज घरेलु नुस्खे से करने से आपको बहुत राहत मिलेगी व तुरंत तेजी से सर्दी दूर हो जाएगी. best natural ayurvedic remedies for cold treatment in Hindi me. प्रत्येक घरेलु उपाय का प्रयोग करने के तुरंत बाद खुली हवा में न जाये व पानी भी न पिए ऐसा करने से जुकाम का उपचार और जल्दी से असर दिखायेगा. इनमे अदरक और शहद सर्दी के इलाज में बहुत ही प्रभावकारी सिद्ध होती हैं इनका प्रयोग भी बहुत ही आसान हैं आप पहले इसे जरूर करे.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.

हमसे Facebook पर अभी जुड़िये, Group Join करे "Join Us On Facebook"