bukhar ka mantra, bukhar utarne ka mantra, fever reducing mantra

बुखार का मंत्र – 3 Fever Reducing Mantra’s

हमारा देश ऐसा हैं जहां पर किसी भी रोग के कई तरह तरह के उपचार मिल जाते हैं. हमारे देश में पीलिया, मोतीझरा, पेट दर्द आदि को मंत्र से ठीक कर दिया जाता हैं ऐसा हमने भी देखा हैं. इसीलिए हम यहां आपको बुखार का मंत्र बताने जा रहे हैं. यह बुखार उतारने का मंत्र सिर्फ तब ही ठीक से काम करते हैं जब इनका उच्चारण व प्रयोग नियम विधि अनुसार किया जाए. आइये जाने बुखार के विषय में.

bukhar ka mantra, bukhar utarne ka mantra, fever reducing mantra

बुखार का मंत्र जाप व टोटके – Fever Reducing Mantra

बुखार बड़ा ही आम रोग हैं और इसका बड़ी आसानी से इलाज किया जा सकता हैं. सामान्यतः बुखार आने पर रोगी एलॉपथी की दवाइयां लेते हैं यह आराम तो करती हैं लेकिन शरीर को फायदे के साथ साथ ज्यादा नुकसान पहुंचा जाती हैं. इसके बाद भी कई व्यक्ति ऐसे होते हैं जिन पर दवा गोली का असर ही नहीं होता, उन्हें बार-बार बुखार आता रहता हैं व इलाज करवाने पर भी ठीक नहीं होता हैं. तो इसके लिए रोगी को आयुर्वेद का सहारा भी लेना चाहिए इसके लिए आप यह लेख भी जरूर पड़ें – बुखार का इलाज देसी नुस्खे OR बार बार बुखार आना आयुर्वेदिक उपाय

इसके अलावा बताये जा रहे इन मंत्रो का प्रयोग भी करे, आइये जाने इन मन्त्रों के विषय में.

Mantra .1 

बुखार के समय रोगी अगर इस मंत्र का जप करता रहे तो उसका बुखार जल्दी ख़त्म हो जाता हैं, अगर कोई रोगी बुखार में मंत्र का जप नहीं कर सकता हो तो उसके पास बैठा हुआ व्यक्ति भी इन मंत्र का जप कर सकता हैं इससे रोगी को आराम मिलेगा. इन मंत्रो का प्रयोग दवा गोली व अन्य इलाज के साथ किया जा सकता हैं. मंत्र के प्रभाव को और बढ़ाने के लिए रोगी को सकारात्मक रहना चाहिए व मन ही मन जप करते रहना चाहिए.

लगातार बुखार आने पर

हमने बताया था की कई व्यक्तियों को दवा गोली लेते रहने पर भी लगातार बुखार आता रहता हैं, ऐसे व्यक्तियों पर इलाज का असर नहीं होता हैं. तो ऐसे में रोगी को यह घरेलु उपाय जरूर करना चाहिए. आक की जड़ जिसे हम सफ़ेद आर्क (आंकड़ा) कहते हैं (सफ़ेद आक के फूल शिव भगवान् को चढ़ाये जाते हैं) इस पौधे की जड़ को लेकर उसे किसी साफ़ सुथरे कपडे में लेकर अच्छे से टाइट बांध दें. और आखिर में इस कपडे को रोगी के कान पर किसी भी तरह बांध दें ऐसा करने से रोगी को अत्यंत लाभ होता हैं. आक की जड़ आप बाजार से पंसारी की दूकान से भी प्राप्त कर सकते हैं, अगर वहां भी आपको यह न मिले तो आप किसी आयुर्वेदिक स्टोर पर जाकर भी इस जड़ के बारे में जानकारी ले सकते हैं.

अगर किसी को टाइफाइड बुखार हो गया हैं तो उसे रोजाना दिन में तीन से चार बार नारियल पानी पिलाये कुछ ही दिनों में आराम हो जायेगा.

Mantra .3

इस मंत्र को सिद्ध कर आप बुखार के डॉक्टर बन सकते हैं, अगर एक बार इस मंत्र को सिद्ध कर लिया जाए तो सिद्ध करने वाला व्यक्ति सभी लोगों के बुखार को मंत्र का जप करके ख़त्म कर सकता हैं. आइये जाने इसकी विधि.

इस मंत्र को सिद्ध करने के लिए सिर्फ दो ही दिन होते हैं जन्माष्टमी और जब पूरा चांद दीखता हैं (Full Moon Day). जन्माष्टमी तो साल में एक बार आती हैं लेकिन चांद हर तीन दिन के भीतर एक दिन के लिए पूरा नजर आता हैं. ऐसे में आप सुबह जल्दी उठे और इस मंत्र का 2100 बार जप करे. जप करते समय सामने कृष्णा भगवान् का फोटो रखले और शुद्ध घी का दीपक भी जलाये. मंत्र का 2100 बार जब कर लेने पर भगवान को प्रणाम करे और आसान पर से उठ जाए.

अब जब भी किसी भी व्यक्ति को बुखार आये तो यह करे :- एक गिलास गरम पानी ले (पिने योग्य) और अब इस मंत्र को 108 बार जप करे, गरम पानी के गिलास को अपने हाथ में ही रखें और मंत्र का जप करते समय अपनी नज़ारे गिलास के पानी पर ही रखे. जप पूरा होने पर यह पानी रोगी को पीला दें आराम मिलेगा.

उम्मीद करते हैं दोस्तों बुखार का मंत्र के प्रयोग से आपका बुखार ख़त्म हो जाए, यह बुखार उतारने के मंत्र हमने किन्ही बाबाओ से पूछकर लिए थे. Fever reducing mantra इन मंत्रो का उच्चारण ठीक प्रकार से करे व अपनी मन की भावनाओ को सकारत्मक रखें. बुखार व बुखार से सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए Related Post Section में दिए गए लेख भी जरूर पड़ें.

loading...

One Response

  1. shikha

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.