bachon ki sardi ka upchar, bachon ki khansi ka upchar,

बच्चों की सर्दी खांसी का रामबाण इलाज – 10 देसी नुस्खे व उपाय

छोटे बच्चों की सर्दी जुकाम का इलाज करने के घरेलु उपाय – नवजात शिशुओं व छोटे बच्चों में जुकाम व खांसी होना बहुत ही आम बात हैं. इस अवस्था में उनकी इम्युनिटी बहुत ही कमजोर होती है इसी वजह से मौसम के जरा से परिवर्तन और किसी भी वायरस बैक्टीरिया के संक्रमण में आने से उनक सर्दी हो जाती है और सर्दी से खांसी होती और फिर बुखार बन जाता हैं. इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए हम यहां आपको आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे व उपाय बताने जा रहे हैं जिनके जरिये आप सर्दी जुकाम के साथ-साथ बच्चों की खांसी का इलाज भी कर सकेंगे जानिये देसी उपचार के बारे में.

हम पहले आपको बच्चों की सर्दी के उपाय के बारे में बताएंगे फिर इसके बाद निचे बच्चों की खांसी के बारे में बताएंगे. छोटे बच्चों में बुखार भी ऐसे ही बनता है. जब हम उनकी सर्दी को नजअंदाज़ करते हैं तो सर्दी बढ़कर खांसी में बदल जाती हैं और फिर इस तरह सर्दी+खांसी=बुखार आ जाता हैं. और जो बच्चे बचपन में ज्यादा बीमार रहते हैं उनका शरीर फिर ज्यादा ग्रोथ नहीं कर पाता, इसीलिए जरुरी है की बच्चे के माता पिता अपने बेटे/बेटी को बार-बार सर्दी खांसी जुकाम होने से रोके.

bachon ki sardi ka upchar, bachon ki khansi ka upchar,

छोटे बच्चों की सर्दी का इलाज के 4 घरेलु उपाय

 1. पतंजलि की एक दवा है जिसका नाम “दिव्यधारा” है. यह मात्रा 30-40 रुपए की आती हैं. इसको रोजाना रात को सोते समय जरा सी बच्चे के कपडे शर्ट की कालर के पास लगा दें, इसके प्रयोग से बच्चे की सर्दी के वजह से बंद नाक भी खुल जाएगी व रात भर खुली रहेगी उसे साँस लेने में तकलीफ भी नहीं होगी इस तरह आपका बच्चा सर्दी से बिलकुल बचा रहेगा. यह 101% बच्चों की सर्दी का रामबाण उपाय हैं.

2. अदरक को पीसकर उसका 8-10 ग्राम रस निकाल ले और एक चम्मच में अच्छे से मिला लें. अब इसे शिशु बच्चे को चटा दें. बच्चे को सर्दी खांसी लग जाने पर रोजाना रात को सोते समय व सुबह उठने के बाद दें. यह प्रयोग बुखार को भी दूर करता है व सर्दी जुकाम खांसी व बुखार इन तीनो का घरेलु उपाय है यह भी 101% असरदार उपाय हजारों पर प्रयोग किया जा चूका हैं. इसके प्रयोग के 30 मिनट बाद तक पानी न पिए, यह बच्चों की सर्दी की दवा है.

3. छोटे बच्चों की सर्दी होने पर छोटी सी कली लहसुन की लें और बारीक़ पीस ले हल्का सा शहद मिला दें और बच्चे को चटवाये यह दिन में 2-3 बार करे, रात को सोने से पहले सुबह उठने के बाद व दुपहर में.

4. शहद बच्चों की सर्दी का देसी इलाज हैं, इसमें कई गन होते हैं. 1 चम्मच नीबू के रस में 2-3 चम्मच शहद मिलाये और हर 2 घंटे के बाद बच्चे को यह मिश्रण पिलाते रहे. इसके साथ ही एक गिलास या एक कप गर्म दूध में 1-2 चम्मच शहद मिलाकर भी बच्चे को पीला सकते हैं. दोनों ही उपाय रामबाण उपचार करते हैं. यह छोटा सा प्रयोग सर्दी और खांसी दोनों में लाभप्रद होता हैं.

baccho ki sardi ka ilaj, छोटे बच्चों की सर्दी, bachon ki sardi ka ilaj in hindi

बच्चों की खांसी का इलाज के 5 रामबाण नुस्खे

1.> 1 चम्मच हल्दी लें और इसे रोटी के तवे पर सेंक लें, जब हल्दी हलकी काली होने लगे तो समझ जाए की हल्दी सिंक गई है. इसके बाद 1 गिलास पानी भी हल्का गन-गुना गर्म कर लें. अब अपने बच्चे को यह हल्दी फांकने को कहे, एक चम्मच में हल्दी भरे व मुंह में डाल दें और ऊपर से यह हल्का गर्म पानी पीला दें. हल्दी थोड़ी कड़वी लगेगी लेकिन यह प्रयोग तुरंत ही असर दिखाता इसीलिए हल्दी को थूके नहीं.

बस इस प्रयोग को रोजाना रात को सोने से पहले करे अगर छोटे बच्चे को बहुत ज्यादा ही खांसी है तो उसे यह प्रयोग दिन में 2 बार तक करवा सकते हैं. इस घरेलु नुस्खे को 2-3 तक लगातार करने से 100% खांसी दूर हो जाएगी, इस प्रयोग को करने के बाद 30-40 मिनट तक पानी न पिए. यह रामबाण बच्चों की खांसी का इलाज है सुनिश्चित परिणाम मिलेंगे.

2. बहेड़े का छिलका ले और इसका टुकड़ा कर के रोजाना रात के समय बच्चे को चूसने के लिए दे दें. इससे बच्चे की सुखी खांसी व खांसी का बलगम आदि निकल जाता हैं. बहेड़े के न मिलने पर आप बच्चे को अदरक का टुकड़ा भी चूसने के लिए दे सकते हैं. बस ध्यान रखे की बच्चा इसे चूसने के बाद पानी न पिले, यह उपाय बच्चों की खांसी की दवा जैसा है.

3. अगर आपका बच्चा 2-3 साल का है और वह चबाकर खा सकता हैं तो उसे 1 पान के पत्ते में 1 ग्राम अजवाइन रख कर दे दें. और कहे की वह इसे अच्छे से चबाये और इसके रस को अंदर ही निगल लें. इस प्रयोग से बच्चों की सुखी खांसी दूर होती हैं, यह देसी इलाज है. इसके अलावा आप बच्चे को 1-2 ग्राम अजवाइन खिलाकर गर्म पानी पीला दें इससे भी खांसी से राहत मिलती हैं. प्रयोग को दिन में 1-2 तक किया जा सकता हैं, यह भी आसान सा घरेलु उपाय है.

4. 1 चम्मच अजवाइन और 2 लहसुन की कली लें और उन्हें तवे पर रख कर भून लें. जब यह भून जाए तो ठंडा होने के लिए छोड दें, व ठंडा होने के बाद एक मुलायम सूती कपडा लें और इन भुनी हुई अजवाइन व लहसुन को उस कपडे में बांध दें. अब इस कपडे को जहाँ भी आपका बच सोता है वहां पर बांध दें, आप इसे बच्चे के गले में भी बांध सकते है. इसको बांधने के बाद इसमें से जो गंध निकलेगी वह बच्चे को सर्दी जुकाम से बचाएगी यह एक साधारण सा व रामबाण बच्चों की खांसी का देसी इलाज हैं. इस कपडे को आप बच्चे की छाती पर भी रगड़ सकते हैं रगड़ने से भी लाभ होता हैं.

5. 2-3 चम्मच सरसो का तेल ले और इसमें 2 लहसुन की कालिया काटकर डाल दें इसके साथ ही एक चुटकी अजवाइन भी मिला दें. अब इस सरसों के तेल में लहसुन और अजवाइन दोनों को भुने, तब तक इन्हे भुने जब तक लहसुन और अजवाइन हलके भूरे रंग के न हो जाये, ध्यान रहे इन्हे जलने न दें. जब यह हलके भूरे हो जाए तो गैस से उतार कर ठंडा होने के लिए छोड़ दें. ठंडा होने पर बच्चे की छाती पर व पैरों पर इस तेल की मालिश करे. इस तेल की मालिश से बच्चे की सर्दी और खांसी दोनों ही दूर होंगी.

 bachon ki khansi ka desi ilaj in hindi, bachon ki khansi ka ilaj, bachon ki khansi ka desi ilaj in hindi

बच्चे की सर्दी जुकाम में इनपर दे हमेशा ध्यान

  • सर्दी व खांसी होने पर बच्चे को तुलसी व अदरक की चाय पिलाते रहे.
  • रोजाना बच्चे को रात को सोते समय 1 गिलास या एक कप में एक चम्मच हल्दी मिलाकर दें.
  • बुखार आने पर तुलसी का काढ़ा बनाकर पिलाये
  • अपने बच्चे को जिंदगी भर सर्दी खांसी से दूर रखने के लिए उसे रोजाना सुबह के समय खली पेट तुलसी के 3-4 पत्ते खिलाये और एक
  • गिलास पानी पिलाये. इससे आपके बच्चे को कभी भी सर्दी, बुखार, खांसी, मलेरिया, टाइफाइड आदि बिलकुल भी नहीं होंगे.
  • मौसम में परिवर्तन आने पर अपने बच्चे को मौसम के अनुसार कपडे पहनाये व पूरा बदन ढंका हुआ रहे ऐसे कपडे पहनाये. बच्चे को ठंडी हवा में जाने से रोके व अन्य गन्दी चीजे खाने से भी रोके.

इस तरह आप बच्चो की सर्दी का इलाज घर पर ही बड़ी आसानी से कर सकते है, यह आयुर्वेदिक उपाय देसी उपचार के लिए 101% असरदार हैं.  यह रामबाण सिद्ध होते हैं. बताए गए इन सभी घरेलु उपाय को करने के बाद आप तुरंत पानी न पिए अथवा प्रयोग को करने के 5-10 मिनट पहले ही पानी पि लें home remedies for cold and cough in babies in Hindi.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.

हमसे Facebook पर अभी जुड़िये, Group Join करे "Join Us On Facebook"