कब्ज को कैसे दूर करे – कब्ज दूर करने का तरीका

कब्ज कैसे दूर करे, कब्ज को कैसे दूर करे

कब्ज कैसे दूर करे उपाय : पढ़िए पूरी जानकारी  – यहां पर हम इसको जड़ से मिटाने दूर करने के लिए ऐसे तरीके बताएंगे जिनके जरिये आप क़ब्ज़ का प्राकृतिक रूप से घर पर ही इलाज कर सकेंगे. क्योंकि कब्ज रोग कोई छोटी सी बीमारी नहीं हैं, यह बड़ी से बड़ी गंभीर बिमारियों को जन्म दे सकती हैं.

कब्जियत दूर करने के लिए आपको प्राकृतिक जीवन जीना होगा, यानी अपने खान पान के तरीके में बदलाव लाना होगा, समय पर भोजन करना, समय पर शौच करना, समय पर सोना, शारीरिक श्रम करना और समय पर उठना आदि. क्योंकि कब्ज एक ऐसा रोग हैं जिसका एक बार उपचार कर लेने से वह हमेशा के लिए ठीक नहीं हो जाता.

ज्यादातर कब्ज के रोगी यही करते हैं, जब भी उन्हें कब्ज हो जाती हैं तो वह T.V में देखे गए Adds को देखकर उनका चूर्ण खरीद लेते हैं. लेकिन असल में होता यह हैं की एक बार इन चूर्णों का इस्तेमाल करने पर आप इनके आदि बन जाते हैं.

फिर अगर आप थोड़े दिन यह चूर्ण लेना बंद कर दें तो वापस से कब्ज हो जाती हैं. और यह चूर्ण पेट की आंतों के लिए हानिकारक भी होते हैं. यह उनको कमजोर बनाते हैं.  आपको प्राकृतिक जीवन यानी अपनी जीवन शैली में परिवर्तन लाना ही होगा.

कब्ज कैसे दूर करे kabj tips in Hindi

कब्ज दूर करने के तरीके खोलने के उपाय

पानी ज्यादा से ज्यादा पिए – और कब्ज दूर करे आसानी से

  • कब्ज में पानी की बड़ी अहम् भूमिका होती हैं, जितना तरलता आपके शरीर में होगी उतने ही कम chances होंगे की आपको कब्ज रोग हो. इसलिए एक आदत बनाये रोजाना सुबह उठने के तुरंत बाद ही 2-3 गिलास पानी पिए. हो सके तो ताम्बे के बर्तन का पानी ज्यादा पिए.

  • रोजाना रात को सोते समय एक तांबे के जग या बड़े बर्तन में 3-4 गिलास पानी भर कर रख दें और सुबह उठकर इसका सेवन करे. यह कब्ज दूर करने के तरीके के साथ साथ कई रोगों को दूर करने में भी मदद करेगा. पेट के सभी रोगों से मुक्ति देगा.
  • कब्ज की बीमारी में जितना कम हो सके उतनी चाय पिए, या हो सके तो चाय कॉफ़ी पीना बंद ही कर दें. क्योंकि चाय कॉफ़ी कब्ज को बढ़ावा देती हैं (ऐसी शिकायत कई लोगों में देखने को मिली हैं). इनसे कब्ज और बढ़ता हैं. इसके साथ ही सिगरेट्स लेना भी कम कर दे.

30 ग्राम फाइबर रोजाना खाये – Eat More For Fibers

  • क्या आप 30 ग्राम फाइबर रोजाना लेते हैं ?? अगर नहीं लेते है तो इसको लेना शुरू कर दें. क्योंकि फाइबर मल की क्रिया में बहुत लाभ देता हैं. यह मल की क्रिया में ग्रीस और आयल की तरह काम करता हैं, यानी यह मल में चिकनाई बढ़ाता हैं जिससे वह मल आंतों में नहीं फंसता.

  • जामुन, अंगूर, सेब जैसे फलों का सेवन करे
  • हरी और पत्तेदार सब्जियों का सेवन करे
  • और अन्य सब्जियां जैसे Coconut, broccoli, spinach, carrots, cauliflower, brussel sprouts, artichokes और green beans का सेवन करे. भिंडी, पत्ता-गोभी इनका खासकर सेवन करे यह आम साधारण सब्जियां हैं हर जगह मिल जाती हैं.

Magnesium भरपूर मात्रा लें

  • कब्ज की बीमारी में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में लेने से रोगी को मल त्यागने में परेशानी नहीं आती. यह मल को ढीला बनाता हैं, जिससे रोगी को मल त्यागते वक्त जोर नहीं लगाना पढता. एक चम्मच यानी 20-30 ग्राम epsom salt को एक गिलास पानी में मिलाये, अच्छे से मिक्स कर के इसका सेवन करे. यह शरीर में magnesium की पूर्ति करेगा.

सुबह शाम दही भोजन के साथ दही लें

  • अगर आप कब्ज से ज्यादातर परेशान रहते हैं, आपको कभी भी कब्ज हो जाता हैं तो कब्ज दूर करने की टिप्स जरूर आजमाए. >> एक आदत बनाये रोजाना सुबह शाम को भोजन करने के बाद एक कप दही खाये. आप एक गिलास भी ले सकते हैं और कम से कम एक कप दही जरूर लें.

  • इस तरह दोनों समय सुबह व शाम को दही लेने से पेट से जुड़े सभी तरह के रोगों में बहुत आराम मिलेगा. कब्ज/ कॉन्स्टिपेशन, पेट दर्द, पाचन तंत्र, पाचन शक्ति, पेट साफ़ न होना आदि पेट के सभी तरह के विकारों को यह छोटी सी आदत आपसे हमेशा दूर ही रखेगी.
  • (बहुत से व्यक्तियों को रात के समय दही हजम नहीं होता. अगर आप भी इनमे से एक हैं तो सिर्फ दिन के भोजन के दौरान ही दही का सेवन करे, ऐसा कई जगहों पर आयुर्वेदा में भी बताया गया हैं की शाम ढलने के बाद दही का सेवन नहीं करना चाहिए. आप इसे सुबह के समय भोजन के साथ ले सकते हैं, कोई नुकसान नहीं होंगे 100% safe)

शारीरिक श्रम करे – Do Some Physical Exercise

  • क्या आप जानते हैं कब्ज होने के पीछे यह भी एक कारण हैं. अब के समय में ज्यादातर व्यक्ति शारीरक श्रम करते ही नहीं, क्योंकि उन्हें इसकी जरुरत ही नहीं लगती. उनके हर काम नौकर या और कोई कर देता हैं. लेकिन इससे आपके शरीर को बहुत नुकसान होता हैं. जैसे – ज्यादातर व्यक्ति दिन भर एक जगह पर पढ़े रहते हैं, कोई शारीरिक श्रम नहीं करते.

  • इससे सुबह शाम किया गया भोजन ठीक से पच नहीं पाता, यह पेट में अंदर ही अंदर सड़ने लगता हैं. पेट की चर्भी को बढ़ाने लगता हैं, आलस्य को बढ़ाने लगता हैं आदि. तो आप अपनी जीवन शैली में एक बदलाव यह भी लाये की रोजाना या एक दो दिन की गैप में शारीरिक श्रम करना शुरू करे.
  • शारीरिक श्रम यानी ऐसा काम या ऐसी क्रिया जिसमे आपके शरीर की अच्छी कसरत हो जाए, आपको पसीना छूट जाए. आप क्रिकेट, फुटबॉल, टेनिस आदि खेलों में हिस्सा ले सकते हैं अगर आप यह नहीं कर सकते तो रोजाना सुबह सूर्योदय के समय और रात को भोजन करने के आधे-घंटे बाद 1-2 Km पैदल चलना शुरू करे.
  • यानी आपको अपने शरीर को थकाना हैं, आज के समय में उल्टा हो रहा हैं. व्यक्ति मानसिक तौर पर थक जाता हैं और शरीर से बिलकुल नहीं थकता. क्योंकि आये दिनों में ज्यादातर कार्य दिमाग/मस्तिष्क से किये जाते हैं. यही वजह हैं की ज्यादातर व्यक्ति मोटापे के शिकार होते जा रहे हैं. तो आप शारीरिक श्रम को बढ़ाये, इसके लिए GYM भी कर सकते हैं. वैसे अगर GYM नहीं कर सकते हैं तो सुबह व शाम पैदल घूमना जरूर शुरू करे.

निम्बू पानी पिए – Drink Lemon Water

  • निम्बू पानी इसके लिए बेहतरीन उपाय हैं. यह सस्ता और सबसे आसान हैं. रोजाना सुबह उठने के बाद खाली पेट 1-2 निम्बू को एक गिलास पानी में निचोड़कर पिए. इससे पेट के सभी रोगों में बहुत लाभ मिलेगा. मोटापा, पाचन तंत्र, भूख कम लगना, लेटरिंग न आना, मल त्यागने में परेशानी होना आदि इन सब में बहुत लाभ देगा.

शरीर के इशारों को समझे – Listen to body

  • हमारा शरीर बड़ा ही अद्भुत हैं वह हमें हर आने वाले खतरे के बारे में समय पर चेता warn कर देता हैं. लेकिन हम हैं की उसकी चेतावनी को नजरअंदाज/ignore करते रहते हैं. ऐसा ही हम लेटरिंग टॉइलेट आने पर करते हैं, जो की हमारे शरीर के लिए बहुत ही नुकसानदायक होता हैं.
  • इसीलिए आज से इस बात पर खास ध्यान दें की जब भी आपको जिस भी समय लेटरिंग और टॉयलेट आये तो उसे उसी समय बाथरूम चले जाए. इसे रोकने से आपको ही नुकसान होगा, शरीर क्षीण होगा. बड़े बड़े आयुर्वेदा के विशेषज्ञों का भी यही मानना हैं की लेटरिंग टॉयलेट को रोकना नहीं चाहिए. इसको रोकने से कब्ज की शिकायत बढ़ती हैं, इसलिए समय पर मल त्याग करते रहे.

योगासन से करे सभी रोगों को दूर

  • योग शरीर के लिए प्रकृति का वरदान हैं. सिर्फ योगासन के जरिये मनुष्य कई तरह की बिमारियों से छुटकारा पा सकता हैं. साथ ही रोजाना योग करते रहने से वैसे ही बीमारियां आपके मुंह नहीं लगती. कब्ज में भी योग इसी तरह फायदेमंद होते हैं. यह पेट की आंतों को लचीला बनाती हैं, उनको मजबूती देती हैं. इसलिए सुबह के समय सिर्फ 10-15 के लिए योगासन जरूर करे.

  • यह आपको कब्ज दूर करने में ही नहीं बल्कि और भी कई तरह की बिमारियों से बचाने में भी रामबाण की तरह मदद करेंगी. इसके साथ ही कपालभाति और अनुम विलोम प्राणायाम भी करे. आप रोजाना यह करिये और बाकी चीजों पर ध्यान मत दीजिये तो भी आपकी कब्ज ठीक हो जाएगी.

गौ मूत्र से कब्ज दूर कैसे करे आसान देसी तरीका

  • शायद ही आप कब्ज से हमेशा छुटकारा पाने के देसी घरेलु उपाय के बारे में जानते हों. अगर नहीं जानते तो आज यहां जान लीजिये. सिर्फ गौ मूत्र के जरिये आप कब्जियत को हमेशा के लिए मिटा सकते हैं. इसके लिए आपको करना भी कुछ नहीं हैं, सिर्फ गौ मूत्र की व्यवस्था करनी हैं.

  • इसके लिए आपको पेशाब करती हुई गाय का मूत्र एक डिब्बे में भरना होता हैं. वैसे जरुरी नहीं हैं की आप ऐसा करे. आजकल गौ मूत्र भी बाजार में मिल जाता हैं. जैसे पतंजलि स्टोर्स, आयुर्वेदिक स्टोर्स, होम्योपैथिक स्टोर्स आदि ऐसे स्टोर्स पर आपको आसानी से गौ मूत्र मिल जाएगा.
  • इसको खरीद कर आप आसानी से सिर्फ एक बार में ही कब्ज दूर कर सकते हैं. गौ मूत्र को कब्ज में कैसे लें, किस तरह से लें इसकी विधि जानने के लिए यहां क्लिक करे – गौ मूत्र से कब्ज का छुटकारा पाए.

आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे भी अपनाये

  • यह नुस्खे इतने आसान होते हैं की आप इन्हें बिना किस बड़े बदलाव का आजमा सकते हैं. हमने कब्जियत के घरेलु नुस्खे के बारे में दो लेख लिखे हैं आप इन्हें भी जरूर पढ़े – >> कब्ज में इलाज के आयुर्वेदिक नुस्खे

दोस्तों क्या आप दी गई कब्ज दूर करने का तरीका kabj kaise thik hoga इस जानकारी से संतुष्ट हैं, अगर हाँ तो हमे निचे कमेंट बॉक्स में अपनी राई जरूर दें. इसके साथ ही कब्ज के टिप्स तरीके के बारे में और जानने के लिए यहां मौजूद कब्ज से सम्बंधित सभी लेख पढ़ें.

4 Comments

  1. Editorial Team
  2. Pankaj chauhan
  3. hgupay.com

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.