dehydration in hindi, dehydration treatment in hindi. dehydration ka ilaj, डिहाइड्रेशन के उपाय

डिहाइड्रेशन होने के लक्षण : Treatment Of Dehydration in Hindi

डिहाइड्रेशन के लक्षण बताये क्या है – इसका का मतलब होता हैं निर्जलीकरण यानी शरीर में पानी की कमी होना. जैसा की हम सब जानते हैं हमारा शरीर 75% पानी से बना होता हैं ऐसे में जब हम कम मात्रा में पानी पीते हैं तो शरीर ठीक से कार्य नहीं कर पाता ऐसे में डिहाइड्रेशन होने का खतरा बढ़ जाता हैं. डिहाइड्रेशन का उपचार बहुत ही आसान होता हैं इसमें आपको सिर्फ शरीर में पानी की मात्रा को बढ़ाना होता हैं इसके लिए हम आपको ऐसे ही कुछ जबरदस्त घरेलु उपचार व उपाय बताने जा रहे हैं जिनके जरिये आप घर पर ही इसकी रोकथाम कर सकते हैं.

  1. घर से निकलते वक्त पेट भरकर पानी पीकर निकले
  2. नारियल पानी का ज्यादा सेवन करे
  3. डिहाइड्रेशन होने पर घर पर ORS बनाकर पिए
  4. रोजाना नीबू पानी पिए
  5. हरी पत्तेदार सब्जियां खाये
  6. पानी भरपूर मात्रा में पिए
  7. फलों के रस का सेवन करे
  8. दही छाछ का सेवन करे
  • पोस्ट को पूरा एन्ड तक ध्यान से पड़ें

डिहाइड्रेशन होने का कारण

  • डिहाइड्रेशन ज्यादा गर्मी पड़ने से, तेज धुप में ज्यादा काम करने या रहने से, दस्त लगने से, कम मात्रा में पानी पिने से, उलटी करने से सर फ्लूइड बहार निकल जाने से, ज्यादा पसीना आना, आदि यह सभी डिहाइड्रेशन यानि पानी की कमी होने के कारण बनते हैं.
  • डिहाइड्रेशन किसे हो सकता हैं – डिहाइड्रेशन किसी भी उम्र के छोटे बच्चों से लेकर वृद्ध व्यक्ति को हो सकता हैं, और जो लोग पानी कम मात्रा में पीते हैं उनको भी डिहाइड्रेशन होने का खतरा बना रहता हैं. डिहाइड्रेशन क्या है – शरीर में पानी की कमी होने को डिहाइड्रेशन कहते हैं, जब व्यक्ति जरूर से कम मात्रा में पानी पिता है और ज्यादा कार्य करता है जिससे शरीर को पानी की और जरूरत लगती हैं ऐसी अवस्था में शरीर में पानी की कमी हो जाती है. ऐसे में मुंह सुखना, सर दर्द, थकान, घबराहट आदि लक्षण दिखाई देने लगते हैं.

dehydration in hindi, dehydration treatment in hindi. dehydration ka ilaj, डिहाइड्रेशन के उपाय

डिहाइड्रेशन के लक्षण और इलाज के उपाय

Symptoms Of Dehydration Treatment in Hindi

  • मुंह का सुखना
  • होंठों का सुखना
  • शारीरिक थकान
  • रोने पर आंखों से आंसू नहीं आना
  • सर में दर्द होना
  • शरीर से पसीना निकलना बंद हो जाना
  • त्वचा का सूखापन
  • ब्लड प्रेशर का कम होना
  • बाथरूम कम आना
  • बाथरूम का रंग बदलना
  • चक्कर आना सिर चकराना
  • घबराहट होना
  • आंखों से साफ़-साफ दिखाई न देना आदि
  • यह सभी डिहाइड्रेशन के लक्षण होते है

जब शरीर में पानी की कमी आती हैं तो शरीर को तेजी से प्यास लगने लगती हैं यह भी शरीर की चेतावनी होती हैं अगर आप फिर भी पानी नहीं पीते तो जैसे-जैसे शरीर से पानी की मात्रा कम होती जाती हैं वैसे-वैसे ही डिहाइड्रेशन होने का खतरा बढ़ता जाता है, इसके बाद बताये गए यह डिहाइड्रेशन पानी की कमी होने के लक्षण dehydration symptoms and signs in Hindi दिखाई देने लगते हैं.

पानी की कमी का उपचार डिहाइड्रेशन का इलाज – निर्जलीकरण होते हैं सबसे पहले रोगी को पानी पीना चाहिए इसके साथ ही ग्लूकोस व मीठे फल, नारियल पानी, संतरे का रस आदि का सेवन करना चाहिए यह जल्द ही इसको ख़त्म करते हैं. इसके साथ ही हम निचे कुछ घरेलु उपाय बता रहे हैं जिनके जरिये आप डिहाइड्रेशन का ट्रीटमेंट कर सकते हैं.

ORS लें

  • डिहाइड्रेशन में ORS यानी ओरल रीहाइड्रेशन सॉल्‍यूशन, इसका सेवन करने से तुरंत ही इससे आराम मिलता हैं, इसमें वह सभी तत्व होते हैं जो की डिहाइड्रेशन होने से रोकते हैं, सबसे अच्छी बात तो यह हैं की आप इसे प्राथमिक उपचार के तौर पर घर पर ही बना सकते हैं व बाजार से खरीद कर भी इसका प्रयोग कर सकते हैं.

  • आधी चम्मच सफ़ेद नमक लें और चार पांच कप पानी लें और अब इसमें 5-6 चम्मच शक्कर (चीनी) मिला दें, अच्छे से घोल ले ताकि चीनी दिखाई न दें व पानी में अच्छे से मिल जाए. इस तरह घर पर ORS को बनाकर सेवन कर सकते हैं.

दस्त व उलटी से होने वाला

  • अगर किसी व्यक्ति को दस्त व उलटी लग कर डिहाइड्रेशन की शिकायत हुई हो तो ऐसे में डिहाइड्रेशन के रोगी को दही सेवन करना चाहिए, इसके साथ ही रोगी दही से बने अन्य तरल पदार्थ जैसे लस्सी आदि का सेवन भी कर सकता हैं. दही शरीर को ताकत देता हैं व शरीर की तरलता को बनाये रखने में मदद करता है.

पानी का भरपूर सेवन

  • व्यक्ति को डिहाइड्रेशन होने के सबसे बड़ी वजह कम मात्रा में पानी पीना होती हैं. और यह ज्यादातर गर्मी के मौसम में देखने को मिलता हैं इसलिए आपको भरपूर मात्रा में पानी पीना आवश्यक हैं, खासकर गर्मियों के दिनों में. जब भी आप घर से बाहर निकले तो 2-3 गिलास पानी पिए इसके साथ ही रोजाना सुबह उठने के तुरंत बाद ही बिना ब्रश आदि किये पेट भरकर 2-3 गिलास पानी पिए.

पत्तेदार सब्जियां खाये 

  • डिहाइड्रेशन होने के बाद पत्तेदार हरी सब्जी का सेवन बहुत ही लाभकारी होता हैं, हरी पत्तेदार सब्जियों में कई गुण होते हैं, इनमे पानी भी होता हैं इस वजह से यह शरीर में तरलता को ओर बढाती हैं. अगर आपको ज्यादा ही इस रोग का खतरा रहता हैं तो ऐसे में आपको रोजाना हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए.

फलों का रस

  • फलों के रस में भी बहुत से मिनरल्स पाए जाते हैं जो की पानी की कमी से होने वाले सभी रोगो से दूर रखते हैं. इसके लिए आपको नारियल का पानी, संतरे का रस, गन्ने का रस, अंगूर, खीरा, पपीता, तरबूज, टमाटर, चुकंदर आदि फलों का सेवन करना चाहिए. इसमें गर्मी के मौसम में विशेष रूप से नारियल पानी, संतरे का रस, गन्ने का रस आदि पिने चाहिए यह शरीर में पानी की कमी होने से रोकते हैं. नारियल पानी की सलाह डॉक्टर भी देते हैं शरीर से पानी की कमी दूर करने का उपाय हैं.जो फल शरीर में तरलता ज्यादा बढ़ाता है उन्ही का डिहाइड्रेशन में ज्यादा सेवन करना चाहिए.

केला बचाएगा डिहाइड्रेशन से

  • नारियल पानी, सन्तरे के रस की तरह केले का सेवन भी उतना ही फायदेमंद होता हैं. हमारे शरीर में पानी की कमी पोटैशियम की मात्रा कम होने से होती हैं, और केले में भरपूर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता हैं. ऐसे में केले का सेवन बहुत लाभप्रद सिद्ध होता हैं, इसके लिए आपको सुबह के समय केले का रस व केले को चबाकर खाते रहना चाहिए.

छाछ मट्ठा देगा शरीर को ऊर्जा

  • रामबाण है मट्ठा डिहाइड्रेशन में :-छाछ जिसे मट्ठा भी कहते हैं इसका सेवन भी डिहाइड्रेशन व शरीर में पानी की कमी होने से बचाता हैं. यह और भी लाभकारी हैं क्योंकि यह शरीर को अन्य पोषक तत्व भी देता हैं जिससे गर्मी में पानी की कमी, थकान आदि गर्मी से होने वाले रोगों से बचाता हैं. इसलिए आपको खासकर गर्मी के मौसम में रोजाना सुबह के समय छाछ मट्ठा पीना चाहिए.

तरल चीजों का सेवन

  • इसका खतरा होने पर रोगी को अन्य सभी तरल चीजे ज्यादा मात्रा में लेना शुरू कर देना चाहिए, इसके साथ ही सभी तरह के फलों के रस का सेवन बढ़ा देना चाहिए.

पानी की कमी डिहाइड्रेशन से बचने के उपाय

  • डिहाइड्रेशन से बचे रहने के लिए पानी की कमी न रहने दें. हमेशा पानी पेट भरकर पिए. घर से बाहर जाते वक्त भी पेट भरकर पानी पीकर निकलना चाहिए. शरीर में मिनरल्स की मात्रा बढ़ाने के लिए समय-समय पर नारियल का पानी, संतरे का पानी, निम्बू का रस, गन्ने का रस हरी पत्तेदार सब्जियां आदि खाते पीते रहे ऐसा करने से आपके शरीर को तेज धुप में खड़े रहने की क्षमता मिलेगी जिससे आपको जिंदगी में कभी भी डिहाइड्रेशन नहीं होगा. इसके साथ ही गर्मी में पेट की बीमारियों से बचने के लिए सुबह के भोजन में एक प्लेट दही अवश्य लें और सुबह के समय छाछ मट्ठा का सेवन करे इससे दस्त, शारीरिक गर्मी आदि गर्मी से होने वाले रोगों में आपको राहत मिलेगी.

तो दोस्तों आपने जाना की डिहाइड्रेशन होने के लक्षण और इलाज treatment of dehydration symptoms in Hindi हमने यहाँ जो information दी हैं इसके जरिये बड़ी आसानी से इस बीमारी से बच सकते है. इन सभी पानी की कमी दूर करने के उपाय को करने से आपको किसी भी स्थिति में डिहाइड्रेशन का खतरा नहीं रहेगा इसलिए बताये गए घरेलु उपाय पर विशेष ध्यान दें.

dehydration symptoms in hindi, dehydration ke lakshan, डिहाइड्रेशन के लक्षण,

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.