f

पेट दर्द दूर करने की दुआ और 5 मंत्र – Stomach Pain Solution

Ad Blocker Detected

Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by disabling your ad blocker.

पेट दर्द के टोटके से भी बेहतर आज यहां हम आपको पेट दर्द का मंत्र दुआ इन हिंदी में बताएंगे. यह प्राचीन शास्त्रों व ग्रंथों से लिए गए हैं, इनके जरिये आप बड़ी ही आसानी से पेट का दर्द दूर कर सकते हैं. लेकिन अगर आपका पेट दर्द किसी बीमारी या किसी और वजह से दर्द कर रहा हो तो यह पेट दर्द दूर करने के मंत्र शायद काम नहीं कर पाएंगे.

क्योंकि यह मंत्र सामान्यतः पेट दर्द जो की खराब भोजन, पेट दर्द और उलटी, पेट दर्द और दस्त, पेट दर्द और पेट में जलन या पाचन प्रणाली की खराबी के वजह से हो रहा हो तो उसका या इलाज उपचार कर देंगे, लेकिन जैसे पथरी, पेट में घांव या लिवर की खराबी इनमे यह मंत्र व दुआ आपको 100% फायदे शायद न दे पाए. लेकिन आपको इन मन्त्रों का उपयोग जरूर करना चाहिए, क्योंकि हो सकता हैं की दर्द की दुआ व मंत्र आपको लाभ दे जाए.

pet dard ke mantra, pet dard ki dua in hindi

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की यहां बताये जाने वाली पेट दर्द की दुआ इन हिंदी व मंत्र हमने प्राचीन ग्रंथों से लिए हैं, इसलिए हम इस बात की कोई जिम्मेदारी नहीं लेते की यह मंत्र दुआ आपको पूरा लाभ दे या न दें. वैसे हमने इनका उपयोग किया हैं, और हमे सकारात्मक परिणाम मिले हैं.

पेट दर्द की दुआ ऐसे करे इन हिंदी में पढ़ें मंत्र टोटके

ज़मीन पर कुछ बिछाकर पीठ के बल लेट जाए, अपने पुरे शरीर को ढीला छोड़ दें दोनों आंखें बंद कर लें. अब पेट में जहां भी दर्द हो रहा हो वहां पर अपनी पूरी चेतना को ले जाए, यानी अपने पुरे ध्यान को दर्द की जगह पर लगाए. थोड़ी देर तक दर्द को महसूस करे इसके बाद मन ही मन पूरा ध्यान लगाकर दर्द वाली जगह को ऐसा भाव दें की दर्द शांत हो रहा हैं, दर्द दूर हो रहा हैं. इसी तरह पूरा मन लगाकर 10 मिनट तक यह भाव करने से दर्द में तुरंत आराम मलता हैं.

इसके बदले अगर आपको पेट की आंतों में दर्द हो रहा हो, पेट साफ़ न होने से दर्द हो रहा हो या गैस के वजह से दर्द हो रहा हो तो मालिश करने का तेल लें और किसी दूसरे व्यक्ति को कहें की वह आपके पेट पर मालिश करे. (मालिश अच्छे से करना आना चाहिए) इस तरह मालिश करने पर जब व्यक्ति का हाथ निचे की ओर यानी पेट के आखिर में जाए तो ऐसा भाव करे की मेरा पेट दर्द निकल गया हैं.

मात्रा इस तरह भाव करने मात्रा से बड़े से बड़े रोगों का इलाज किया जा सकता हैं. अगर आप पेट दर्द की दुआ को पुरे ध्यान से करते हैं तो बताये गए समय में ही आपको बहुत आराम महसूस होने लगेगा.

सिर्फ 5 मिनट में फ़ोन पर पेट दर्द दूर करवाए सिद्ध मंत्र

pet ke dard ki dua, pet dard ka mantra, pet dard ki dua in hindi

9887477163 इस नंबर पर फ़ोन लगाए, और इन्हें नमस्कार करे और बताये की आप कहा से बोल रहे हैं. इसके बाद कहे की मुझे पेट दर्द हो रहा हैं उसको ठीक करवाना था, फिर आपको यह व्यक्ति आपके पेट दर्द के बारे में पूछेगा यानी की कहां पर हो रहा हैं आदि तो जैसा जैसा यह पूछे वैसे वैसे आप बता दें.

यह व्यक्ति राजस्थान (पिड़ावा) का रहने वाला हैं, जो की हमारा मित्र हैं. इन मित्र को पेट दर्द ख़त्म करने की सिद्धि प्राप्त हैं व यह फ़ोन पर ही किसी भी व्यक्ति का पेट दर्द दूर कर देते हैं. याद रहे यह सिर्फ हिंदी भाषा ही जानते हैं. इसलिए बात करते वक्त तेज आवाज में आराम से बोले ताकि वह आपकी बातों को साफ़-साफ़ सुन सके.

फ़ोन पर बात कर लेने के बाद यह व्यक्ति आपसे बाबा को अगरबत्ती लगाने को कहेंगे तो आप किसी भी दिशा में या फिर जो दिशा यह बताये उस दिशा में अगरबत्ती लगाकर प्रणाम करे. याद रहे अगर यह व्यक्ति आपको ऐसा न कहे तो आप इनसे खुद ही पुछले की हमारी ओर से किसी देव को अगरबत्ती लगाना हे क्या फिर वह आपको बता देंगे.

5 आसान और सरल शाबर पेट दर्द के मंत्र इन हिंदी में Stomach Pain

1. Stomach Pain Relief Mantra

Mantra – 1

यह एक ऐसा stomach pain mantra हैं जो की तेज से तेज (chronic pain) को भी दूर करने की क्षमता रखता हैं. जब व्यक्ति इस मंत्र को सिद्ध कर लेता हैं तो वह कई लोगों के पेट दर्द का इस मंत्र के जरिये इलाज कर सकता हैं. इस मंत्र को सिद्ध करने के लिए 12,500 बार इस का जप (chanting) करना पढ़ती हैं, तब जाकर यह मंत्र सिद्ध हो पाता हैं.

एक बार जब व्यक्ति इस मंत्र को सिद्ध कर लें तो उसे किसी का भी पेट दर्द मिटाने के लिए इस तरह प्रयोग करना होगा – सीधे खड़े हो जाए अपने हाथ में एक ग्लास पिने का पानी लें (पानी शुद्ध व पवित्र होना चाहिए) फिर इस मंत्र का 21 जप करे. इस मंत्र का जप करने से ग्लास के पानी में तरंगे उत्पन्न होगी जो की रोगी का पेट दर्द दूर करने में रामबाण सिद्ध होगी.

21 मंत्र का जप करने के बाद आपके हाथ में रखा हुआ पानी रोगी को पीला दें. ऐसा माना जाता हैं की इस विधि से मंत्र सिद्ध करने के बाद इस तरह जप कर रोगी को पानी पीला देने से पेट का दर्द मिट जाता हैं.

2. Stomach Ache Mantra

Mantra – 2

यह मंत्र गन्दा पानी पिने से, गन्दा भोजन करने से आदि किसी भी diseases के कारण होने वाले पेट दर्द के लिए बहुत असरकारी होता हैं. यह बहुत ही फायदेमंद शाबर मंत्र हैं जो की श्री हनुमान जी से सम्बन्ध रखता हैं. शाबर मंत्र दुनिया में काफी तेज गति से फेल रहे हैं, इसी के चलते हमे यह मंत्र मालुम हुआ हैं. उम्मीद करते हैं आपको इससे पूर्ण लाभ हो.

अपने हाथ में एक ग्लास पानी रखे और इस मंत्र का 7 बार जप करे. जप करने के बाद मन ही मन ऐसा महसूस करे की इस ग्लास में पेट दर्द को दूर करने की शक्ति आ गई हैं, इसके बाद यह पानी रोगी को दे दें. इस प्रयोग को रोजाना 7 दिनों तक करना होता हैं.

3. गैस की वजह से होने वाला दर्द का मंत्र

Mantra – 3

इस मंत्र से पेट में गैस से होने वाला दर्द दूर करने के लिए आपको इस सिद्ध करने की कोई जरूरत नहीं होती, बस दर्द के समय इस का जप करना होता हैं. इस मंत्र के उपयोग सिर्फ रविवार (Sunday) और मंगलवार (Tuesday) को ही किया जा सकता हैं. मंत्र का उपयोग करने के लिए रोगी को आपके आगे chair लगाकर बिठा दें.

अब आप एक चाक़ू लें और और रोगी के पेट पर जहां दर्द हो रहा हो वहां पर हलके से लाइन खींचने की तरह चलाये, (चाकू को चमड़ी में दबाकर नहीं चलाना हैं) पेट पर चाकू को रख कर मंत्र का जप कर चाक़ू को रोगी के पैरों के निचे की ज़मीन पर जाए और ज़मीन पर भी एक लाइन की तरह चाकू को चलाये.

इस मंत्र का आपको 21 बार जब करना होगा यानी 21 बार ही चाकू को पेट से ज़मीन दोनों पर लगाना होगा. इस तरह इस मंत्र के उपयोग से रोगी का पेट में गैस का दर्द दूर होता हैं.

4. पेट दर्द दूर करने मिटाने के मंत्र

Mantra – 4

यह मंत्र उच्चारण में बड़ा ही आसान हैं, सरल शब्द हैं. इसके उपयोग के लिए मरीज को ज़मीन पर चादर बिछाकर लेटा दें (पीठ के बल लेटाएं). इसके बाद इस मंत्र को करीबन 9 बार जप करे, प्रत्येक बार जप करने के बाद अपने दाए हाथ की हथेली को रोगी के पेट (Abdominal region) पर रखे. हथेली को रोगी को जिस जगह पर पेट में दर्द हो रहा हो वहां पर रखे.

हलके से हथेली को रखकर हर बार मंत्र जप करने पर हथेली को पेट से हलके से दबाये और ऐसी भावना करे की पेट दर्द कम हो रहा हैं. हर बार इसी तरह जप करने के बाद हाथ रख कर भावना करने से दोगुना लाभ होगा. 9 बार मंत्र का जप यानी 9 बार पेट पर हाथ रखना व भावना करना.

अगर एसिडिटी से पेट दर्द होता हैं तो पहले एसिडिटी का इलाज करे. पढ़िए घर पर ही एसिडिटी का इलाज उपचार करने के उपाय के बारे में.

5. देसी मंत्र आयुर्वेदिक नुस्खे से

Mantra – 5

अपने सीधे हाथ अंगूठे और उसके पास की 2 उंगलियों से थोड़ा सा काला नमक लें. इसके बाद इस मंत्र का तीन बार जप करे. जप करने के बाद इस काळा नमक को रोगी के भोजन में मिलाकर उसे खिला दें. साथ ही रोगी को यह भी कह दें की उसे मंत्र से उच्चारित भोजन दिया जा रहा हैं जिससे उसका पेट दर्द हमेशा के लिए दूर हो जायेगा. उसे कहें की यह 100% असरकारी मंत्र हैं. क्योंकि मंत्र टोटके सिर्फ विश्वाश करने पर ही काम करते हैं.

उम्मीद करते हैं आपको यह पेट दर्द का मंत्र और असरकारी पेट दर्द की दुआ इन हिंदी में बताई हुई से आपको भरपूर लाभ मिले. इसके अलावा हमने पेट दर्द के घरेलु इलाज के लिए कई रामबाण आयुर्वेदिक नुस्खे भी बताये हैं आप उन्हें भी जरू पड़ें. साथ ही अपनी जीवनचर्या (Lifestyle) को बदले देर रात को भोजन न करे, रोजाना रात को सोने से 3 घंटे पहले ही भोजन कर लें व रोजाना सुबह 9 बजे से पहले ही भोजन कर ले. ऐसा करने से आपको समस्त पेट के रोगों से छुटकारा मिलेगा.

loading...

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.