nail fungal infection treatment in hindi, fungus in hindi, fungus ka ilaj, fungal infection ka desi ilaj

फंगस का इलाज – 10 Fungal Infection Treatment in Hindi

फंगस यानि फफूंद रोग ज्यादातर कई लोगों में पाया जाता है, पड़ें (Fungus) फंगल इन्फेक्शन का इलाज के लिए घरेलु उपाय के बारे में. फंगस चहरे पर, हाथों पर, उंगलियों में (nail fungus), सिर में, बालों में (hair fungus), गुप्त अंग में आदि शरीर भी कहीं भी हो सकता है. यह इन्फेक्शन तब होता है जब कोई फंगस हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता हैं, प्रवेश करने पर वह हमारी इम्युनिटी पर अटैक करता है और इस तरह धीरे-धीरे फंगस शरीर में फैलने लगता है. ऐसे में कई रोगी फंगस की दवा मेडिसिन भी लेते है लेकिन वह रामबाण इलाज नहीं करती इसीलिए हम यहां आपको hair nail fungal infection treatment in Hindi with ayurvedic remedies के बारे में बताने जा रहे है.

फंगल इन्फेक्शन के लक्षण

शरीर के हर एक अंग में फंगल इन्फेक्शन होने के अलग अलग लक्षण होते हैं, लेकिन इनमे कुछ लक्षण ऐसे होते हैं जो की सभी में पाए जाते हैं.

  • लाल रंग के त्वचा पर निशान चकत्ते होना
  • स्किन पर पैक्स का होना
  • जहां फंगस हुआ हो वहां हल्का दर्द होना
  • फंगस में से सफ़ेद पाउडर जैसा पदार्थ निकलना
  • प्रभावित क्षेत्र की चमड़ी लाल रंग की हो जाती है
  • स्किन में दरारे पड़ना
  • पस के जितने छोटे-छोटे दाने निकलना
  • त्वचा का लाल व सफ़ेद होना

आदि फंगल इन्फेक्शन के लक्षण काफी सामान्य होते है, व कोई भी व्यक्ति फुनगु को देख कर आसानी से पता कर सकता हैं. अगर फंगल इन्फेक्शन का ट्रीटमेंट शुरुआत में ही करवा लिया जाये तो ज्यादा आसान होता है, देरी करने पर यह शरीर में फैलता जाता है जिससे बाद में इसका फंगल के इलाज में तकलीफ होती हैं.

कारण :

टाइट कपडे पहनना, टाइट जुटे पहनने से, बिना धोये एक ही सॉक्स का उपयोग करने से, स्विमिंग पूल में नाहने आदि से व किसी फंगस के रोगी के कपडे पहनने से फंगस एक से दूसरे व्यक्ति के शरीर में फैलता है. इस तरह nail, toe, yeast, head, ears, hand, fingers infection के रोग उतपन्न होते हैं.

nail fungal infection treatment in hindi, fungus in hindi, fungus ka ilaj, fungal infection ka desi ilaj

सभी तरह के फंगल इन्फेक्शन का इलाज के देसी उपाय

डायबिटीज के रोगियों को भी हाथ पैर के नाखुनो में फंगस की शिकायत हो जाती हैं, ऐसे में toe nail fungus से छुटकारा पाने के लिए आप यह उपाय करे. नियमित रूप से रोजाना रात को सोने से पहले अपने पैर, नाख़ून के फंगस (toe nail fungal infection) पर VICKS VAPORUB लगाए. आपको यह जरूर अजीब लगा होगा लेकिन यह फंगल इन्फेक्शन ट्रीटमेंट में 101% हैं, यह फंगस की दवा से बेहतरीन काम करती हैं. आप ज्यादा सोचिये मत बस थोड़े दिन विक्स वेपोरब के इस नुस्खे का प्रयोग करे, बाकी आपको ही परिणाम मिल जायेगे. इसमें ऐसे कई गुण होते हैं जो की सभी तरह के फंगस फंगल इन्फेक्शन को ख़त्म करने में सक्षम होते हैं.

पैरों में या उंगली में फंगस होने पर 1-1 चम्मच वाइट् विनेगर और बेकिंग सोडा दोनों को एक बाल्टी पानी में डालकर पंद्रह मिनट तक अपने पैर या हाथ को डुबोकर रखे. पुराने से पुराना फंगस भी इस उपाय से ख़त्म हो जाता हैं.

1 चम्मच टी ट्री का तेल और आधा चम्मच जैतून का तेल दोनों को आपस में मिलाकर शरीर में जिस जगह पर फंगल इन्फेक्शन हो रहा हो वहां पर लगा दें. इसके अलावा आप बाल्टी में 5 बून्द टी ट्री के तेल की डालकर उसमे अपने पैर या हाथ को 15-20 मिनट तक डुबोये. दोनों विधि में से जो आपको फंगस के इलाज के लिए सही लगाए उसे करे, आप दोनों विधि को भी कर सकते हैं.

शरीर में गुप्त अंग, हाथ, पैर जहां भी फंगस हो रहा हो वहां पर एक रुई लें और उस रुई को दही में अच्छे से डुबोकर उस रुई को फंगस वाली जगह पर रख दें. इसे 30-40 मिनट तक वहीं पर रखा रहने दें आप उस रुई को फंगस वाले स्थान पर बाँध भी सकते हैं. इस तरह सुबह व शाम दोनों समय यह प्रयोग करे, ayurvedic treatment for fungal infection of skin.

lahsun se lakwa ka ilaj, garlic uses in paralysis in hindi

 

दो-तीन लहसुन की कली लें और इन्हे पीस ले फिर इसमें थोड़ा सा जैतून का आयल मिला दें और अच्छे से घोलकर पेस्ट बना लें. फिर आखिर में इसे फंगस पर लगा दें और एक घंटे बाद उसे धो लें इस तरह रोजाना के प्रयोग से फंगस वायरस का असर ख़त्म होता हैं व फंगस फैलने से रोकता हैं. लहसुन में ऐसे कई गुण होते है जो की फंगल इन्फेक्शन का इलाज करते हैं.

All Type Toe Nail Fungal Infection Treatment in Hindi

ग्रीन टी और ब्लैक टी दोनों ही फंगल इन्फेक्शन को मारती है, यह सभी तरह के फंगल में प्रभावकारी होती हैं. इसके लिए आप Tea Bag को दस मिनट के लिए हलके गर्म गुन-गुने पानी में डाल दें और फिर इसे रेफ्रिजेनीटर में ठंडा करने के लिए रख दें, जब यह अच्छा ठंडा हो जाए तो जहाँ भी आपको फंगस हो रही हो वहां पर इसे रख दें. इस तरह दिन में तीन बार यह प्रयोग करे.

पैर और हाथों की उंगली में nail fungal infection में आप यह विधि भी अपनाये- पांच tea bags लें (3-5 चम्मच चाय पत्ती) और इसे एक बर्तन में डालकर 5-10 मिनट तक उबाले फिर पानी को थोड़ा ठंडा होने दें फिर या तो रुई के जरिये उस पानी को फंगस पर लगाए या किसी बाल्टी में tea bags का पानी डालकर अपने हाथ या पैर को डुबोये, आप बाल्टी में अलग से पानी भी मिला सकते है.

अपने फंगस को रोजाना hydrogen peroxide से धोये, एक रुई लें और hydrogen peroxide को फंगस पर डालकर उसकी रोजाना दिन में दो से तीन बार तक सफाई करे. इससे बताये गए उपाय और प्रभावी हो कर अपना असर दिखाते हैं.

जैतून के पत्ते को बारीक़ पीसकर उनके पेस्ट को फंगस पर लगाने से भी आराम मिलता है, दिन में 2-3 बार यह करे. इसके अलावा आप जैतून के सूखे पत्तों की चाय बनाकर भी पि सकते हैं.

हल्दी की जड़ का रस निकालकर फंगस के स्थान पर लगाए और तीन घंटे तक इसे लगा रहने दें फिर इसे धोले इस तरह दिन में दो बार यह प्रयोग करे. इसके अलावा रोजाना रात को एक ग्लास दूध में 1-2 चम्मच हल्दी का पाउडर मिलाकर भी पीना चाहिए यह फंगस वियस को शरीर के अंदर से मारता है व इम्युनिटी बढ़ाता हैं.

Toe Nail Fungus Treatment Ayurvedic Remedies

  • एक चमच गुलाब का अर्क और एक नीबू का रस दोनों को अच्छे से मिलाकर जहां भी फंगस हो वहां पर लेप करे.
  • सेब के सिरके को फंगस पर दिन में दो तीन बार लगाने से भी आराम मिलता हैं.
  • फंगस पर रोजाना नारियल तेल की मालिश करने से उसमे बहुत सुधार मिलता हैं.
  • रोजाना उबले हुए 1 निबे के रस में थोड़ी सी शहद और अजवाइन डालकर पिने से फंगस की खुजली आदि का जड़ से इलाज होता हैं, यह उपाय फंगल इन्फेक्शन को शरीर से बाहर कर देता हैं.
  • नीबू के रस में सूखे सिंघाड़े को घिसकर दाद पर लगाए. शुरुआत में थोड़ी जलन होना स्वाभाविक है लेकिन जल्द आराम भी हो जायेगा. रोजाना नियमित रूप से इसे करने से फंगस दाद आदि से छुटकारा मिलता हैं, इस तरह नीबू फफूंद का इलाज करता है.
  • एक नीबू का रस और 10-15 तुलसी के पत्तों का रस दोनों को अच्छे से मिलाकर फंगल इन्फेक्शन पर लगाए से अत्यंन्त लाभ होता हैं, यह एक बेहतरीन आसान फंगल इन्फेक्शन की होम रेमेडी व फंगस का देसी इलाज का उपाय हैं.
  • फंगल इन्फेक्शन के घरेलु इलाज में – 50 ग्राम आंवला को 50 ग्राम देसी शक़्कर में मिलाकर पानी के साथ सुबह और शाम सेवन करते रहने से सप्ताह भर में ही फंगस की खुजली व फंगस से राहत मिल जाती हैं.
  • शरीर में जहां भी फंगस हो रहा हो वहां एक नीबू को बिच में से काटकर नीबू के आधे भाग से उस फंगस को रगड़े व फिर आखिर में तुलसी के पत्त्तों को पीसकर उसके रस को फंगस पर लगाए. इस तरह फंगल इन्फेक्शन का रामबाण इलाज होता हैं.
  • नाहते वक्त पानी में नीबू का रस निचोड़ कर नाये. साबुन का प्रयोग बिलकुल न करे. इस तरह सभी तरह के चार्म रोगों से छुटकारा मिल जायेगा, त्वचा में नया निखार आएगा.
  • फंगस पर नीबू की निबोली को साफ़ पानी में घिसका लगाने से भी राहत मिलती हैं. इसमें आप नीम के तेल अथवा नीम की पत्तियों के रस का प्रयोग भी कर सकते है.
  • घरेलु उपचार – रोजाना सुबह के समय 20 नीम के पत्तों का रस निकालकर खाली पेट पीते रहने से हर तरह के चर्म रोग व फंगल इन्फेक्शन का उपचार होता हैं. यह आपको 10-15 दिनों तक रोजाना करना चाहिए, यह प्रयोग शरीर के खून को बिलकुल साफ़ कर देती हैं.

fungal infection treatment in hindi, fungal infection ka ilaj, fungal infection ka ilaj in hindi, fungal infection in hindi

  • इस पोस्ट के अगले पेज भी जरूर पड़ें, Click Here For Next Page
  • Page no 1
  • Page no 2
  • Page no 3

बताये गए इन सभी घरेलु उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे के सेवन से आप घर पर ही फंगल इन्फेक्शन का इलाज कर सकते हैं, यह सभी फंगस के घरेलु उपचार असरदार हैं. इसके अलावा इस लेख के दूसरे पेज भी पड़ें. टाइट कपडे, ठीक से पेट साफ़ न होना, खून साफ़ न होना, कमजोरी इम्युनिटी आदि इन सभी पर भी ध्यान दें और इनकी केयर करे fungus hair nail fungal infection treatment in Hindi home remedies अगर आपको यहां बताये गए प्रयोग में से किसी को करने से ज्यादा जलन होती है तो आप उस प्रयोग को नहीं करे. बाकी यह फंगस की दवा से भी बेहतर हैं.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.

हमसे Facebook पर अभी जुड़िये, Group Join करे "Join Us On Facebook"