gale ke chale

गले के छाले का इलाज के उपाय – Home Remedies in Hindi

गले के छाले का घरेलू इलाज करने के उपाय इन हिंदी – बड़ी आंत के साफ़ नहीं होने से व शरीर पेट की गर्मी के कारण से छालो की उतपत्ति होती है. इसके पीछे कई वजह हैं जैसे तली गली चीजे खाना, गर्म मसालेदार चीजों का ज्यादा सेवन, बाजार की चीजों का ज्यादा सेवन आदि. कई लोग छाले की मेडिसिन दवा का प्रयोग भी करते हैं लेकिन यह छालों को जड़ से दूर नहीं करती इसीलिए हम यहाँ आपको आयुर्वेदिक उपाय व नुस्खे के बारे में बताएंगे इनके जरिये आप जड़ से इनको दूर कर सकते हैं.

गले में छाले के कारण

  1. कब्ज होने से
  2. एसिडिटी की शिकायत होने से
  3. बड़ी आंत की सफाई न होने से
  4. पेट साफ़ न होने से
  5. गर्म चीजे खाने से
  6. तीखी मिर्च मसालेदार सब्जी से
  7. पेट की गड़बड़ी से आदि

कई लोगों को ट्रीटमेंट करवाने पर भी ठीक नहीं होते व बार-बार छाले होने की समस्या रहती हैं. ऐसे लोगों को बताये गए इन करने पर विशेष ध्यान देना चाहिए. अगर आप अपनी जीवनचर्या नहीं बदलेंगे तो आप कोई सा भी इलाज करवा लो फिर से छाले हो जायेंगे इसलिए बेहतर हैं की आप गले में छाले होने के कारण को समझे व इनसे बचे. अभी हम निचे घरेलु इलाज के लिए होम रेमेडीज बता रहे हैं इनका नियमित रूप से प्रयोग करे इनसे आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी ilaj of gale me chale in Hindi throat ulcer treatment tips.

यह बहुत ही बुरे होते हैं, इनके होने से रोगी ठीक से कुछ खा भी नहीं पाता, पानी पिने से भी तकलीफ होती हैं, कुछ खाओ तो गले में जलन होती हैं.

gale ke chale

gale ke chale, gale ke chale in hindi, throat ulcers in hindi

गले के छाले का घरेलू इलाज उपचार

Throat Ulcers Gale ke chale home remedies

  • आधा चम्मच हल्दी सीधे मुंह में डालदें गले में, चम्मच भरो भरों और गले में डाल दों और चुप हो कर मुंह को बंद कर के थोड़ी देर बैठ जाइये. तो यह हल्दी गले में मुंह की लार के साथ अंदर उतरेगी और सिर्फ एक खुराक में ही गले के छाले का घरेलु उपचार कर देगी, गले की कोई सी भी बीमारी हो यह घरेलु उपाय उस बीमारी को एक खुराक में ही ठीक कर देता हैं. छोटे बच्चों को अक्सर गले में दर्द होता हैं तो हल्दी की एक खुराक उसे दे देना चाहिए, हल्दी का यह उपाय टॉन्सिल जैसी बीमारी को भी मिटा देता हैं.
  • Borax 200 होमियोपैथी की एक दवा हैं इसको एक दिन में तीन बार लेने से सभी तरह के छले समाप्त हो जाते हैं. एक बार गले के छाले की मेडिसिन में इसका प्रयोग जरूर करके देखें.
  • बच्चों में छाले होने पर कपूर 5 ग्राम और मिश्री 40 ग्राम बारीक़ पीसकर देना चाहिए. यह चूर्ण खाने से छालों में लाभ होता हैं.
  • टमाटर का रस आधा कप और शुद्ध पानी एक कप मिलाकर उससे कुल्ले करने चाहिए. इस प्रकार दिन में दो बार कुल्ले करे. टमाटर के रस में शुद्ध पानी मिलकर कुल्ला करने से मुंह, जीभ, होंठों के छाले भी ठीक हो जाते हैं.
  • गर्म दूध 250 ग्राम ले और इसमें एक चुटकी हल्दी और इतनी ही कालीमिर्च मिलाकर पिए, टॉन्सिल व गले के दर्द से राहत मिलेगी.
  • एक गिलास गर्म पानी में एक नीबू का रस तथा आधी चुटकीभर नमक मिलाये. इसको धीमे-धीमे घूंट घूंट कर पि जाए. इसके पहले शुद्ध शहद चाय का तीन चम्मचभर में चुटकीभर कालीमिर्च मिलाकर चाट लें.
  • गाजर का रस बहुत ही लाभकारी होता हैं. इसके लिए आप रोजाना इस मिश्रण का सेवन करे गाजर का रस,
  • 1 चम्मच अदरक का रस और 2-3 चम्मच शहद इन सभी को आपस में अच्छे से मिलाकर पिए. इस होम रेमेडीज से छाले दूर हो जायेंगे. जिनको गंभीर समस्या हैं उनको रोजाना सुबह शाम यह रस पीना चाहिए.
  • रोजाना सुबह खली पेट एक कप गौ मूत्र पिने से भी छालों की समस्या से निजात मिलता हैं.
  • छोटी हरड़ का यह प्रयोग गले की सूजन दर्द व छाले को दूर करता हैं. रोजाना खाना खाने के बाद छोटी हरड़ को मुंह में डालकर चूसते रहने से सभी तरह के छालों का इलाज होता हैं. यह आसान व असरकारी गले में छाले का उपाय हैं प्रत्येक को आजमाना चाहिए क्योंकि यह पाचनशक्ति को दुरुस्त भी करता हैं.
  • सिंघाड़े में आयोडीन और गले की बीमारी को ख़त्म करने के गुण होते हैं. इसके लिए आपको सिर्फ सिंघाड़ों का सेवन करना हैं, सिर्फ सिंघाड़ा खाने से ही छाले में बहुत राहत मिलती हैं.
  • अच्छी साफ़ सोंठ को गुन-गुने पानी में मिलाकर के पिने से टॉन्सिल बीमारी से हो रहे गले में दर्द व सूजन में आराम मिलता हैं. यह उपाय टॉन्सिल के इलाज में भी बहुत उपयोगी होता हैं.
  • यह उपाय गले के छाले की दवा की तरह काम करता हैं. मिश्री, केला और दही इनको आपस में मिलाकर के खाने से गले के छालों में बहुत आराम मिलता हैं. गले में सूजन व दर्द का इलाज भी इस उपाय से किया जा सकता हैं.
  • फिटकरी भी बहुत अच्छा स्त्रोत हैं. इसके लिए एक गिलास पानी गुन-गुना करे व इसमें एक थोड़ी फिटकरी मिला दें और अच्छे से मिक्स करके इससे कुल्ले गरारे करे. टॉन्सिल आदि में भी यह बहुत लाभ करती हैं गले की सूजन व दर्द में राहत दिलाती हैं.
  • गरारे करे. एक चम्मच हल्दी या नमक को एक गिलास गुन-गुने पानी में घोलकर गरारे करने से भी सभी तरह के छालों में आराम मिलता हैं.
  • रोजाना तुलसी के पत्ते खाने से गले के छालों का ट्रीटमेंट होता हैं. आप तुलसी के पत्तों के रस को भी पि सकते हैं. इसके लिए आप तुलसी के रस या तुलसी के पत्ते खाये व मुंह में अच्छी लार बनने दें अब इस लार को गले में आराम से उतारे. इतने आराम से उतारे की यह गले के छालों से मिलती हुई जाए.
  • रात को एक चम्मच हल्दी को दूध में मिलाकर पिने से भी टॉन्सिल व छाले दूर होते हैं.
  • साधारण सा दिखने वाला गन्ने का रस कई गुणों से भरा होता हैं. छाले होने पर गन्ने के रस को गर्म कर उसमे दूध डालकर पिने से भी गले के दर्द, सूजन, जलन आदि में तुरंत राहत मिलती हैं.
  • गले में छाले के उपाय – अगर छालों या किसी वजह से गले में सूजन आजाये तो फिटकरी से इस तरह घरेलु इलाज करे. 3 ग्राम फिटकरी ले और इसे तवे पर रख कर फुला लें, भून लें अब 300 ग्राम पानी में इस फूली हुई फिटकरी को डाल दें और कुल्ले गरारे करे.
  • दिन में करीबन चार पांच बार इस प्रयोग को करने से गले की सभी तरह की समस्याओं से छुटकारा मिलता हैं, सूजन दर्द व छाले दूर हो जाते हैं. फटकार के अलावा एक चम्मच हल्दी अथवा एक चम्मच नमक के पानी से भी गरारे किये जा सकते हैं.

gale ke chale home remedies, gale ke chale ka gharelu ilaj, gale ke chale ka upay in hindi

गले के छालों सूजन की दवाई है यह घरेलु उपाय

  • गले की सूजन का इलाज के लिए अजवाइन का इस तरह इस्तेमाल करे. करीबन आधा लीटर पानी लें अब इसमें 12 ग्राम अजवाइन मिला दें व गैस पर 15-20 मिनट तक अच्छे से उबाले. इस अजवाइन का काढ़ा कहते हैं. फिर आखिर में बचे हुए पानी से गरारे करे इसको दिन में 4 बार तक करे गले का दर्द व सूजन दूर होगी.
  • छालों के वजह से गले में दर्द होने पर गर्म कपडे से गले का सेंक करने से दर्द व गले की सूजन से राहत मिलती हैं.
  • गले में छाले ज्यादा हो जाने से कई रोगियों को कुछ भी खाने पिने में बहुत तकलीफ होने लगती हैं. इसके लिए रोगी को मिश्री और धनिया चबाकर खाना चाहिए. इस प्रयोग को दिन में तीन से चार बार तक करना चाहिए. इस साधारण से घरेलु नुस्खे से गले की जलन सूजन ठीक हो जाती हैं.
  • छाले पेट की खराबी से होते हैं, इसके लिए कब्जएसिडिटी का इलाज करवाए. पेट साफ़ रहेगा तो ऐसी कोई भी बीमारी आपको नहीं होगी.
  • रोजाना नियमित रूप से सुबह उठने के तुरंत बाद ही पेट भरकर पानी पिने से पेट के सभी तरह के रोगों में लाभ होता हैं. सुबह के समय पीया गया यह बहुत से रोगों से बचाता है, बड़ी आंत को साफ़ करता है. इस प्रयोग को रोजाना करने से उस व्यक्ति का छाला भी ठीक हो जाता हैं जिसको बार-बार छाले उन्हें की बीमारी हो.

बचने के उपाय

  1. बाजार का बना आहार न लें
  2. ठंडी चीजों के सेवन का परहेज करे
  3. मसालेदार सब्जी आदि कुछ भी न ले
  4. तेज मिर्च वाला आहार न खाये
  5. हो सके तो दूध से भी परहेज करे
  6. चिकनाई की चीजों के सेवन से बचे
  7. खट्टी खटाई वाले आहार न लें
  8. रोजाना पेट साफ़ करे
  9. पेट की गड़बड़ न होने दें
  10. भरपेट पानी पीते रहे

आप इन सभी घरेलु नुस्खे को करेंगे तो आपको गले की हर समस्या से छुटकारा मिलेगा, दर्द सूजन आदि भी ख़त्म होंगी. इसके अलावा अगर आपको मुंह भी यह शिकायत है तो ऊपर जो पोस्ट दिए है उसपर क्लिक करे और वह भी पड़ें. उसमे हर तरह के छालो से छुटकारा दिलाने वाले तरीको के बारे में बताया गया है.

तो अब आप ले में छाले की दवा सूजन दर्द के घरेलु उपचार gale ke chale ka gharelu ilaj in Hindi का प्रयोग एक सप्ताह तक अवश्य करे. इसमें खासकर हल्दी का प्रयोग जरूर करे. हल्दी मुंह डालकर लार को अपने आप गले में बहने दें यह गले के छालों की मेडिसिन से काम नहीं हैं.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.