जोड़ों के दर्द का जड़ से इलाज : असरदार दवा, उपाय और तेल

जोड़ों का दर्द का इलाज, jodo ke dard ka ilaj

जोड़ों के दर्द का इलाज के उपाय इन हिंदी – इनके जरिये आप बड़ी आसानी से घर पर ही अपने जोड़ों में होने वाले दर्द को दूर करने का उपचार कर सकते हैं. हम यहां आपको लक्षण और कारण इसके साथ-साथ हड्डियों के जोड़ों में दर्द क्यों होता हैं इसकी दर्द की दवा व जोड़ों का तेल के विषय में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे. यह उपचार बहुत ही अचूक हैं हमने कई बुजुर्ग व वयस्कों पर इसका अच्छा सकारात्मक प्रभाव देखा हैं.

जोड़ : एक हड्डी का दूसरी हड्डी से मिलना ही जोड़ कहलाता हैं, हमारे शरीर में ढेर साड़ी हड्डियां होती हैं वह सब एक दूसरे से जुड़ी हुई होती हैं जब इन हड्डियों के सिरे पर कमजोरी या यूं कहें की इनका ग्रीस ख़त्म हो जाता हैं तो जोड़ों में दर्द होने लगता हैं. यह दर्द ज्यादातर वृद्ध लोगों को यानी ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को होता हैं, लेकिन अब के समय में नई उम्र के कई नोजवानो को भी यह दर्द होने लगा हैं join pain jodon ka dard treatment in Hindi.

  • इस पोस्ट को पुरे ध्यान से एन्ड, आखिर तक पड़ें. पूरा आराम देने वाले उपाय बताये गए है.

(निवारक तेल बनाने की विधि) -हम आपको इस दर्द से राहत दिलाने के लिए योग, एक्सरसाइज और आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे यह तीनो बताएंगे इनके जरिये आपको 100% राहत मिलेगी.

हड्डियों के जोड़ों में दर्द होने का कारण

  • बढ़ती उम्र : जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती हैं और कोलेजन जो आपके जोड़ों में व्यवस्थित बनाता है, वह बिगड़ना शुरू हो जाता है. बढ़ती हुई उम्र के वजह से कोलेजन ठीक प्रकार से काम नहीं कर पता इस वजह से जोड़ों में दर्द पैदा हो जाता हैं.
  • ऐसी क्रिया जिसमे बार-बार जोड़ों पर प्रभाव पड़ता हो यानी बार-बार जोड़ों का उपयोग होने से भी इसमें दर्द होने लगता हैं. जैसे ज्यादा पैदल चलना, नृत्य (dance), ज्यादा शारीरिक कसरत आदि.
  • गलत तरीके से बैठना, कमर दर्द आदि शरीर के हड्डियों में दर्द अधिकतर हमारे गलत तरीके से बैठने उठने के वजह से भी होता हैं.
  • शरीर के किसी अंग पर चोट लगना, दुर्घटना में हड्डी का टूटना या कोई अन्य चोंट
  • निष्क्रियता एक ही जगह पर कई घंटों तक बैठना, एक ही स्थिति में कई देर तक बैठे रहना आदि भी इस दर्द का कारण होता हैं. इस तरह एक ही स्थिति में बैठे रहने से खून ठीक से पहुँच नहीं पाता हैं जिससे जोड़ों की प्रक्रिया धीमी हो जाती हैं.
  • शरीर की हड्डियों में पोषक तत्वों यानि मिनरल्स व खनिज की मात्रा कम होने से
  • अर्थराइटिस और बर्साइटिस का रोग होने से
  • कार्टिलेज का ज्यादा घिस जाने से भी दर्द होता हैं
  • रक्त का कैंसर होने से भी कई व्यक्तियों को दर्द होता है
  • सबसे आम कारण – उम्र बढ़ना
  • शरीर का बहुत कम वजन होना, शरीर का कमजोर होना भी इसका कारण हैं
  • शरीर का ज्यादा वजन होना भी इस दर्द का कारण होता हैं
  • ज्यादा वजन होने से हड्डियों के जोड़ प्रभावित होते हैं

जोड़ों के दर्द के लक्षण

  • चलने फिरने में परेशानी आना
  • खड़े होने व बैठते वक्त तकलीफ होना
  • जिस अंग में दर्द हो रहा हो उसका उपयोग करने पर और ज्यादा दर्द होना
  • किसी भी अंग को गति देते समय यानी उससे काम लेते समय दर्द होना
  • जोड़ में लम्बे समय तक दर्द बना रहना आदि

शरीर में हड्डियों के जिस किसी भी जोड़ को गति देते समय दर्द हो तो समझ ले की यह जोड़ों का दर्द हैं, आप जिस भी अंग को गति देंगे तो वह जोड़ में से ही दर्द देगा और रात को सोकर उठने के बाद भी दर्द करेगा आदि यह सभी joint pain jodon में दर्द होने के लक्षण हैं.

जोड़ों के दर्द का इलाज की दवा और घरेलु उपाय

Haddiyon Ke Jodon Mein Dard Ka ilaj in Hindi

अदरक और हल्दी की चाय

हल्दी में कई औषधीय गुण होते हैं जो की शरीर के लिए हर प्रकार से फायदेमंद होते हैं और अदरक जिसमे की एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं. यह हर तरह के जोड़ों के दर्द को दूर करने में सहायक नुस्खा हैं. इसको आप घर पर ही बना सकते हैं व इसको बनाने की विधि भी बहुत आसान हैं.

  • 2-3 गिलास पिने का पानी लें
  • 4 चम्मच पाउडर लें अदरक का
  • 4 चम्मच पाउडर लें हल्दी का
  • इस नुस्खे को बनाने पर यह थोड़ा कड़वा लगेगा इसलिए इसको मीठा बनाने के लिए आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं.

2-3 पानी लें और इसे अच्छे से पूरी तरह उबाल लीजिये अब इसमें आधी चम्मच अदरक और हल्दी दोनों को लेकर इस पानी में डाल दीजिये. अब आप 12-14 मिनट्स तक इसे अच्छे से उबालिये. अब आखिर में आप इस नुस्खे के कड़वेपन को दूर करने के लिए व इसमें मिठास बढाने के लिए शहद मिला दीजिये. इसको दिन में करीबन दो बार लेने से दर्द में बहुत आराम मिलता हैं.

नींबू के छिलके की मालिश

  • दर्द निवारक तेल बनाने की विधि – करीबन 2-3 नींबू के छिलके और जैतून का तेल (ओलिव आयल) और एक ग्लास यानी कांच का जार डिब्बा
  • सबसे पहले आप कांच के डिब्बे को साफ़ कर लें फिर इसमें नीबू के छिलके डाल दें इसके साथ ही जैतून का तेल भी इस डिब्बे में डाल दीजिये अब आखिर में उस डिब्बे के ढक्कन को बंद करदें, अच्छे से पूरी तरह पैक कर दे ताकि उसमे हवा अंदर न जा सके इसे आपको करीबन दो सप्ताह तक ऐसे ही बंद रखना हैं.
  • दो सप्ताह के बाद इसको प्रयोग में लाना हैं इस बिच इस डिब्बे का ढक्कन न खोले.
  • जब दो सप्ताह हो जाए तो एक रेशमी कपड़ा लें और उसमे कांच के इस डिब्बे का तेल मिला लें.
  • अब इस कपडे को आपके शरीर में जहां भी दर्द हो रहा हो वहां पर इस कपडे को रख दें और उस कपडे को अच्छी तरह से दर्द वाली जगह पर बांध दीजिये.
  • इसको रात के समय पर बांधे और रात भर बंधा रहने दे तुरंत ही आराम मिलेगा.

काली उड़द से मालिश

  • कई लोग जोड़ों के दर्द की दवा का सेवन कर कर के परेशान हो जाते हैं, ढेर सारे पैसे वह दवाइयों में बिगाड़ देते हैं. लेकिन एलॉपथी की दवाइयों से भी ज्यादा असरदार होते हे यह नुस्खे. अब हम आपको ऐसे ही एक और घरेलु उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जो की दर्द को मिटाने में मदद करेगा.

  • इसके लिए आप 9 ग्राम उड़द की डाल लें (काली), 45 मि.ली सरसों का तेल, 5 ग्राम पिसा हुआ अदरक लें और अब आखिर में दो तीन ग्राम कपूर लें यह भी पिसा हुआ ही लें. यह सभी आपको अपने रसोई घर में ही मिलजाएँगे.
  • अब सब से पहले एक कढ़ाई लें और उसमे सरसों का तेल डाल दें इसके बाद इसमें उड़द डाल और अदरक कपूर इन सभी को डाल दीजिये अब गैस को चालु कर दीजिये और तेज आंच पर करीबन 6-7 मिनट्स तक इसे अच्छे से गर्म कीजिये.
  • आखिर में 6-7 मिनट्स के बाद इस गैस से उतार लें और थोड़ा ठंडा होने दे इसके बाद एक कपड़ा लें और इसे छान लें अब आप इस सरसों के तेल को अलग निकाल लीजिये और जब भी आपको अपने जोड़ों में कहीं दर्द हो तो इस तेल से मालिश कीजिये. ऐसा आप एक दिन में दो से तीन बार तक करे ऐसा करने से आपको बहुत राहत मिलेगी.

अन्य बचने के घरेलु उपाय

  • अगर आपके  घुटनो में में कहीं दर्द हो रहा हो तो आप रोजाना 17-18 अखरोट की गिरी खाये. नियमित रूप से सुबह के समय खाली पेट इसका सेवन करने से 30 दिन के अंदर पूरी तरह से आराम हो जाता हैं.
  • जामुन के पेड़ की छाल को अच्छे से पूरी तरह उबालकर उस पानी से दर्द वाली जगह पर मालिश करने से भी आराम मिलता हैं.
  • रोजाना पीसी हुई गाजर में नीबू का रस मिलाकर खाने से हड्डियों के जोड़ मजबूत होते हैं उन जिन नुट्रिएंट्स की कमी होती हैं उसकी इस घरेलु उपाय से पूर्ति हो जाते हैं.
  • अगर आपको गठिया रोग हैं तो आपको रोजाना लगातार 2 महीने तक यह प्रयोग करना चाहिए सफ़ेद चुना चिमटी भर यानी जरा-सा इसको लेकर 1/2 दही में मिलाकर रोजाना पिए इस-से जोड़ की हड्डियों को मजबूती मिलती हैं कैल्शियम की कमी दूर होती हैं. इसका असर पुरे शरीर की हड्डियों पर होता हैं जिससे देसी उपचार हो जाता हैं.
  • पानी ज्यादा से ज्यादा पिए. इसमें रोगी को ज्यादा से ज्यादा पानी पिने की कोशिश करना चाहिए क्योंकि ज्यादा पानी पिने से हमारे शरीर में मौजूद यूरिक आदिक बाहर निकलता रहता हैं जिससे दर्द की शिकायत नहीं होती.

सेंधा नमक

  • सेंधा नमक भी हड्डियों के दर्द से राहत दिलाता हैं इसके लिए आप थोड़ा पानी लीजिये और इस पानी को हल्का गर्म कर लें बाद में इसमें सेंधा नमक मिला दीजिये और अच्छे से मिक्स कर दीजिये. अब आपके शरीर में जहां पर दर्द हो रहा हो उस अंग को इस पाने में डुबो दीजिये करीबन आधे घंटे तक इस पानी में उसे डुबोकर रखे जैसे घुटने, पेट कोहनी आदि यहां पर दर्द होने पर इसे पानी में आसानी से डुबोकर रखा जा सकता हैं. इससे का तुरंत इलाज किया जा सकता हैं.

लहसुन का उपयोग और जोड़ों के दर्द का तेल

  • यह हर प्रकार से इस रोग का इलाज करने में सक्षम हैं. जिन वजहों से जोड़ों में दर्द होता हैं जिन नुट्रिएंट्स की कमी के कारण जोड़ कमजोर होते हैं वह सभी गुण नुट्रिएंट्स लहसुन में पाए जाते हैं इस बात को डॉक्टर्स भी मानते हैं. इस आप हड्डियों के सभी रोगों का उपचार कर सकते हैं.

  • सुबह शाम खाना खाते वक्त लहसुन का सेवन भी जरूर करे, सब्जी में भी लहसुन मिलाये और भोजन के साथ में अलग से 1-2 लहसुन जरूर खाये. इसके अलावा आप लहसुन की कलियों को सुबह के समय भी ले सकते हैं इसके लिए सुबह बिना कुछ खाये ही सीधे लहसुन की काली निगल जाए.
  • लहसुन का तेल बनाकर मालिश करे – लहसुन का तेल बनाकर भी आप मालिश कर सकते हैं इसके लिए एक कढ़ाई में थोड़ा सरसों का तेल लीजिये और उसमे 3-4 काली लहसुन की डाल दीजिये अब गैस की आंच तेज कर दें और तब तक लहसुन की कलियों को तलने दे जब तक की यह तलकर काली न हो जाए.
  • जब लहसुन की कली काली हो जाए तो आप इसे गैस से निचे उतारकर रख लें और इसके ठन्डे होने का इंतजार करे फिर लहसुन को तेल में से अलग निकाल दें फिर तेल को एक डिब्बे में भरकर रख लें. अब जब भी आपको दर्द हो तो लहसुन के तेल की मालिश करे ऐसा करने से दर्द मिट जाएगा.

लाल मिर्च हैं पेनकिलर

  • लाल मिर्च प्राकृतिक रूप से एक रोगनिरोधक का काम करती हैं इसमें ऐसे अद्भुत गुण होते हैं जो की सभी तरह के दर्द को कम करने में मदद करते हैं, विधि :
  • सबसे पहले करीबन आधा कप नारियल तेल लें और इसे किसी बर्तन में डालकर गर्म करे इसके बाद इसमें 2/3 चम्मच मिर्च का पाउडर डालें (कायेन). इसे अच्छे से गर्म कर लें और फिर गैस बंद कर दें व इसके ठन्डे होने का इंतजार करे.
  • अब दिन में 3-4 बार आपके शरीर में जहां भी दर्द हो रहा हो वहां पर इस तेल से मालिश करे. यह मालिश करीबन 25 मिनट तक करते रहे आप थोड़ी देर मालिश कर के उसे आधे घंटे के लिए ऐसे ही खुला छोड़ सकते हैं.

जोड़ों के दर्द के लिए मालिश है जरुरी

  • मालिश शरीर को आराम पहुंचती हैं, जहां भी मालिश की जाती हैं उस अंग में खून की गति बढ़ जाती हैं आदि मालिश करने से बहुत लाभ होता हैं, खासकर अगर आपके शरीर में दर्द हैं तो फिर आपको रोजाना दिन में तीन बार मालिश तो जरूर करना चाहिए.. अन्य दवा के साथ मालिश पर भी विशेष ध्यान दें.

तुरंत इलाज के लिए गर्म ठंडा सेंक

  • गर्म और ठन्डे का सेंक दर्द का तुरंत मिनटों में इलाज कर देता हैं. आप एक सूती कपडा लीजिये और पास में थोड़ी आग जला दीजिये अब उस सूती कपडे को आग के नजदीक लेजाकर गर्म कीजिये जब वह अच्छा गर्म हो जाए तो उसे आपके शरीर में जहां पर दर्द हो रहा हो वहां पर लगा कर सेंक करे फिर जब यह कपडा ठंडा हो जाए तो वापस इस कपडे को आग के नजदीक लेजाकर गर्म करे और वापस दर्द वाली जगह पर रखकर सेंक करे आप इसके लिए दो सूती कपड़ों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं ऐसा आपको लगातार 20-25 मिनट्स तक करना होगा इसके बाद दर्द वाली जगह पर बर्फ का या किसी अन्य ठंडी चीज से आपको दर्द वाली जगह पर 20-25 मिनट तक सेंक करना होगा. इस कहते हैं गर्म और ठंडा सेंक इस सेंक से आपको बहुत राहत मिलेगी.

Omega-3 fatty acids

  • Omega-3 fatty acids Jodon के दर्द के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं, यह आपको सिर्फ मछलियों का सेवन करने से ही प्राप्त हो सकता हैं और ज्यादा omega-3 fatty acids मछली के तेल से प्राप्त होता हैं इसलिए आप मछली के तेल से बने पदार्थ का सेवन कर इसका लाभ ले सकते हैं इसके साथ ही वह सभी चीजे भी खाये जिनमे omega-3 fatty acids भरपूर मात्रा में मिलती हो. यह सच हैं वैज्ञानिकों ने भी इस तथ्य को स्वीकारा हैं.

प्रैक्टिसिंग मार्टिकल आर्ट्स

  • मार्टिकल आर्ट्स का अभ्यास करने से भी शरीर पर बहुत सकारात्मक प्रभाव पढता हैं. इससे शरीर लचीला बनता हैं और हड्डियां मजबूत होती हैं. जो रोजाना मार्टिकल आर्ट्स का अभ्यास करते हैं उन्हें कभी यह दर्द नहीं होता. आज के हर युवक को मार्टिकल आर्ट्स का अभ्यास करना चाहिए ताकि कमर दर्द, गर्दन दर्द आदि रोगों से बचा जा सके.

योगासन और एक्सरसाइज करे

  • योग मनुष्य के लिए एक अमृत सामान हैं अगर हम रोजाना नियमित रूप से योग करे तो हमे कोई रोग नहीं हो सकता हैं. हमारा शरीर वृद्ध अवस्था तक जवान सा दिखाई दे सकता हैं. योग करने से मांसपेशियों में खिंचाव आता हैं हड्डियों की मजबूती बढ़ती हैं व शरीर के सभी अंगों में खून की गति बढ़ती हैं. अगर रोगी रोजाना योग करे तो कुछ ही महीनो में इस दर्द को जड़ से ख़त्म कर सकता हैं. इसके लिए आप रोजाना सुबह के समय यह योगासन जरूर करे.

  • वीर-भद्रासन
  • धनुरासन
  • त्रिकोणासन
  • सूर्यनमस्कार
  • सेतु-बंध आसन
  • मकर अधोमुख श्वानासन
  • उस्ट्रासन

निम्न योगासन को करने से जोड़ों का उपचार होता हैं, आप रोजाना सुबह के समय खली पेट योग जरूर करे. जहां भी आपको दर्द हो रहा हो उस जगह पर अरंडी का तेल लगाए और इसके बाद बेल के पत्तों को उबाल लें और इन उबाले हुए पत्तों को दर्द वाली जगह पर बांध दें ऐसा करने से दर्द का तुरंत इलाज होगा.

एंटी-इन्फ्लोमैट्री जड़ी-बूटी- हल्दी, अदरक और बोस्वाएलिया जैसी जड़ी-बूटियां पूरे शरीर में सूजन को कम करने के लिए महान हैं. ज्यादा खुराक प्राप्त करने के लिए किसी भी रूप में ले सकते हैं या खाना पकाने में उनका उपयोग कर सकते हैं. अलग से इन चीजों को खाने से भी लाभ होता हैं.

जोड़ों के दर्द में क्या खाये किन चीजों को खाने से लाभ होगा

  • एक सही खान पान से किसी भी रोग को मात दी जा सकती हैं ठीक उसी तरह इस रोग में भी सही नुट्रिएंट्स से भरपूर भोजन कर हम दर्द को मिटा सकते हैं आइये जाने जोड़ों के दर्द में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं.
  • सल्मोन मछली – सल्मोन मछली में ओमेगा 3 फटी एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं और अगर आप मांसाहारी हैं तो फिर सल्मोन मछली जरूर खाये इसमें मौजूद ओमेगा 3 फटी एसिड जोड़ों की सूजन कम करता हैं दर्द को कम करता हैं.
  • बेरी : ब्लूबेरी या फिर स्ट्रॉबेर्री इन दोनों में भी दर्द को ख़त्म करने के गुण होते हैं, आप नाश्ते के रूप में बेर्री का सेवन कर सकते हैं, इससे नुट्रिएंट्स की कमी दूर होगी.
  • सब्जियां :ज्यादातर ओमेगा 3 फैटी एसिड का स्टार बिगड़ने से होता हैं ऐसे में रोगी को वह सभी आहार लेना चाहिए जिससे ओमेगा 3 फैटी एसिड्स ज्यादा मात्रा में मिलता हो जैसे हरी सब्जियां, ब्रोकली, अदरक आदि. इसके साथ ही बाजार का आहार कम कर दें पास्ता, पिज़्ज़ा आदि न खाये.
  • एंटी ऑक्सीडेंट और ओमेगा 3 फैटी एसिड यह दोनों बादाम, काजू अखरोठ आदि में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं इनका सेवन करने से सूजन दूर होती हैं और दर्द में भी आराम मिलता हैं. इसके लिए आप इन चीजों का सेवन जरूर करते रहे.
  • ओलिव आयल – इस आयल तेल में सूजन कम करने की क्षमता होती हैं आपको इसका सेवन जरूर करना चाहिए.

दोस्तों बताये गए यह सभी पोस्ट्स भी पड़ें, बहुत रामबाण उपाय उनमे बताये गए है. साथ ही इस पोस्ट को ध्यान से पड़ने के बाद आप भी जान गए होंगे की किस तरह अब इस दर्द से पीछा छुड़ाया जा सकता है. तुरंत आराम के लिए बर्फ का सेंक भी करे और बताये गई चीजों का सेवन भी करते रहे तो आपको बहुत जल्दी राहत मिलेगी.

तो दोस्तों यह रहे जोड़ों के दर्द की दवा से इलाज और तेल Joint pain jodon me dard ka ilaj in Hindi इनके जरिये आप घर पर ही हड्डियों के दर्द का उपचार कर सकते हैं. इसके साथ ही तेल की मालिश बहुत जरुरी हैं इसे भी करते रहे.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.