कमर दर्द के कारण, कमर के नीचे दर्द का कारण, कमर दर्द के कारण व उपचार, kamar dard ke karan, back pain causes in hindi

कमर में नीचे की तरफ दर्द होने के 10 कारण और घरेलु उपचार

कमर दर्द के कारण और उपचार इन हिंदी – हम यहां आपको बहुत गहराई से और चमत्कारी उपाय बताने वाले है. आप इस पोस्ट को पूरा व ध्यान से पड़ें. हमारी जीवनशैली ही ऐसी हो गई है की हम स्वाद के लालच में आकर उच्च पदार्थ वाले आहार का सेवन ही नहीं करते है और न ही कोई श्रमिक काम करते है. इन्ही कारणों से कमर दर्द रीढ़ की हड्डी में दर्द, कमर के निचले हिस्से में दर्द व कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द होने लगता है और अन्य रोग पैदा होते है.

अब के समय में कमर दर्द बहुत ही सामान्य हो गया है, यह 20-21 की उम्र में जी रहे नोजवानो को भी होने लगा है. कारण वही है सही आहार का सेवन नहीं कर पाना. जब हम वह नहीं खाएंगे जिसकी शरीर को जरूरत होती है तो यह स्वाभविक है की हमारा शरीर कमजोर पड़ेगा ही. तो आइये आगे गहराई से पड़ते है कमर के निचले भाग कूल्हों से थोड़े ऊपर की तरह नीचे दर्द का कारण के बारे में back pain causes & symptoms in Hindi.

इसके लक्षण बहुत आम है, हमारे शरीर की रीढ़ की हड्डी में ऊपर की ओर या निचे की ओर दर्द का एहसास होता है. ज्यादातर यह दर्द कुछ सप्ताह में ही चला जाता है लेकिन जब यह लम्बे समय तक बना रहे तो इसे गंभीरता से लेते हुए उच्च कमर दर्द का उपचार करवाना चाहिए.

अक्सर लोगों को कमर के निचे निचले हिस्से में ही दर्द होता है, यह कई कारणों से होता है जो की हम निचे बता रहे है. इस दर्द के लक्षण रीढ़ की हड्डी के निचले हिस्से में कूल्हों के ऊपर की तरह होता है. यह दर्द अक्सर उठते बैठते वक्त ज्यादा समस्या बनता है.

कमर में दर्द तीन कारणों से होता है 1. कमर में चोंट लगने के वजह से, 2. नुट्रिएंट्स उच्च पदार्थ विटामिन्स की कमी से, 3. जेनेटिक्स. ज्यादातर मरीजों में यही वजह देखने को मिलती है.

जैसा की हम सब जानते है हमारी रीढ़ की हड्डी छोटी-छोटी हड्डियों के छल्लों से बनी हुई है, यह कई हड्डियों का समूह होता है. इसमें किसी भी एक हड्डी के कमजोर होने पर दर्द होने लगता है. इनके निम्न कारण हो सकते है.कमर दर्द के कारण, कमर के नीचे दर्द का कारण, कमर दर्द के कारण व उपचार, kamar dard ke karan

सामान्य कारण :-

  • मांसपेशियों में खिंचाव के वजह से
  • ज्यादा तनाव में रहने से
  • पूरी नींद न लेने से
  • शरीर में ऐठन होने से

शरीर में ऐठन या खिंचाव निम्न कारण से पैदा होता है -:

  • किसी भी सामान को सही तरीके से नहीं उठाने से
  • ज्यादा भारी सामन उठाने से
  • बार-बार झुकने से
  • अचानक वजन उठाने से
  • झटके से कोई कार्य करने से
  • चोट लगने से

अन्य कारण

डिस्क का टूटना : रीढ़ की हड्डी में जो ढेरों हड्डियों का समूह है उनमे से अगर किसी एक हड्डी को किसी भी प्रकार की चोंट लग जाए या वह कमजोर हो जाये तो भी कमर दर्द जन्म लेता है.

साइटिका रोग : साइटिका रोग होने से तेज कमर दर्द होता है, इसके अलावा शरीर की मांसपेशियों में कई जगह भी दर्द पैदा होता है. साइटिका का दर्द बहुत तेज और एक दम झटके से आने वाला होता है. कई रोगियों को साइटिका के कारण से ही कमर दर्द होता है. (पड़ें : साइटिका का इलाज)

गठिया रोग : गठिया रोग में शरीर के सभी हड्डियों के जोड़ में दर्द होता है जैसे कमर, घुटने, हाथ की कोहनी, हथेली आदि जिसे जोड़ों का दर्द भी कहते है. इस कारण भी आपको कमर में दर्द पैदा हो सकता है. (पड़ें : गठिया का इलाज और उपाय)

रीढ़ की हड्डी का टेढ़ापन : रीढ़ की हड्डी अगर सही सीधी न रहे तो व्यक्ति को कमर दर्द का सामना करना पड़ता है. इसके लिए डॉक्टर से मिलता चाहिए.

ऑस्टियोपोरोसिस : इस बीमारी में हड्डिया नाजुक हो जाती है और अंदर से खोखली बन जाती है जिस वजह से हड्डी का आतंरिक रूप से टूट भी जाती है और फिर दर्द का कारण बनती है.

रीढ़ की हड्डी में कैंसर : कई लोगों को रीढ़ की हड्डी में कैंसर हो जाता है जिस वजह से भी तेज और लगातार लम्बे समय तक होने वाला दर्द कमर में होने लगता है.

उच्च आहार नहीं लेने से : हम जब पौष्टिक और विटामिन से भरपूर आहार नहीं लेते है तो कई शारीरिक रोग पैदा होते है उसमे कमर दर्द भी शामिल है. इसलिए आपको हरी सब्जियों का ज्यादा सेवन करना चाहिए. कैल्शियम से भरपूर आहार लेना चाहिए.

नींद पूरी न लेने से : जब हम नींद पूरी नहीं लेते है तो कई शारीरिक समस्या पैदा होती है. पूरी और गहरी नींद न ली जाए तो यह भी कमर में दर्द का कारण बन सकती है. (पड़ें : गहरी नींद लेने के उपाय)

सही ढंग तरीके से नहीं सोने से : कई बार हम बिस्तर पर सही तरीके से नहीं सोते है जिस वजह से गर्दन, हाथ, कमर आदि में दर्द शुरू हो जाता है. ऐसा हमे अगली सुबह मालुम पड़ता है. इसलिए सोते वक्त सही तरीके से सीधे सोये.

  • हमेशा सही तरीके से और धीरे-धीरे झुके
  • धक्का लगाते वक्त एक दम झटका न लगाए
  • छींकते वक्त सही तरीके से छींके
  • सामान उठाते वक्त सही तरीके से उठाये
  • ज्यादा देर तक खड़े न रहे
  • कोई भी वजन या भारी काम करने से पहले थोड़ा warm up जरूर करे
  • चलते वक्त कमर सीधी रख कर चले

दोस्तों आज के समय में कमर दर्द का मुख्य कारण सही तरीके से न बैठना और सही आहार न लेना ही हैं. टेक्नोलॉजी की दुनिया में सब काम बैठे-बैठे ही किये जाते है, जब हम लम्बे समय तक सही तरीके से नहीं बैठते है तो यह रीढ़ की हड्डी पर दबाव बनता है जिससे दर्द पैदा होता है. इसलिए चेयर पर बैठते वक्त अपनी कमर को सीधी रखे और आरामदायक पोस्चर में बैठे.

अपने आहार पर विशेष ध्यान दें रोजाना 1 गिलास दूध जरूर लें और कैल्शियम से भरपूर आहार लें. रोजाना चार अखरोट अवश्य ही खाये.

कमर दर्द का उपचार

  • सबसे पहले आप दूध, अखरोट, गेहूं के बराबर सफ़ेद चुना खाये यानी वह सभी आहार ले जो कैल्शियम की कमी को दूर करते हो.
  • जब भी आपको कमर में दर्द हो तो आप बर्फ से दर्द वाले स्थान पर सेंक करे, इससे तुरंत ही दर्द से राहत मिलती है.
  • गर्म और ठंडा सेंक : पहले 5-10 मिनट गर्म पानी या गर्म कपडे से कमर पर सेंक करे फिर इसे तुरंत बाद बर्फ से उसी जगह पर 5-10 मिनट तक सेंक करे. इससे तुरंत ही कमर दर्द का उपचार होता है.
  • नारियल या सरसों का तैल लें और इसे कढ़ाई में डाले और फिर लहसुन की 4 कलियाँ डालकर उन्हें तब तक उबलने दें जब तक वह काली न पढ़ जाए फिर बाद में गैस बंद कर दें और लहसुन को अलग करके उस तेल को ठंडा हो जाने पर सुबह शाम कमर पर मालिश करे.
  • अजवाइन को हल्का गर्म सेंक कर खाने से भी कमर में दर्द से राहत मिलती है.
  • नमक जो टुकड़ों में आता है यानी डिगले वाला नमक जो की बड़े बड़े टुकड़ों में होता है, उसे आप तवे पर रख कर गर्म कर लें और फिर एक कड़पे में बांध कर कमर में जहां दर्द हो रहा हो वहां पर रख कर सेंक करे.
  • योग का सहारा लें, यह रीढ़ की हड्डी को लचीला और मजबूत करता है जिससे उसकी कार्यक्षमता बढ़ती है.
  • इस पोस्ट का अगला पेज जरूर पड़ें वहां हमने चमत्कारी आयुर्वेदिक नुस्खे और दवा के बारे में बताया है
  • :- कमर दर्द का इलाज

इसके अलावा हमने कमर दर्द पर और भी कई पोस्ट लिखे है जिसमे आयुर्वेदिक नुस्खे, एक्सेरिक्से, योग और अन्य कई चीजे बताई है उनको आप एक बार जरूर पड़ें और अपनाये तो आपको कभी कमर दर्द नहीं होगा. उन्हें आप निचे रिलेटेड पोस्ट सेक्शन में पढ़ सकते है.

आप कमर दर्द को नजरअंदाज न करे, यह आगे चलकर कैंसर भी बन सकता है. इसलिए अगर आपको लम्बे समय तक दर्द बना रहता हो और जरा भी आराम न हो तो अपने नजदीकी डॉक्टर से मिलकर इसका उचित निदान करवाए.

तो इस तरह आपने जाना कमर के नीचे दर्द का कारण व उपचार causes symptoms of Back pain in Hindi के बारे में साथ ही इसके लक्षण भी हमने बताये है. इसमें ज्यादातर बार-बार झुकना, एक ही स्थिति में लम्बे समय तक बैठना आदि कमर के निचे के दर्द का कारण बनती है.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.

हमसे Facebook पर अभी जुड़िये, Group Join करे "Join Us On Facebook"