muh ke chale, muh ke chale ka upchar, mouth chale treatment in hindi

मुंह के छाले का उपचार की दवा – 101% Treatment Remedies

मुंह के छाले के घरेलु उपचार – यह शिकायत ख़राब जीवनशैली के वजह से होती हैं, और किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती हैं. मुंह में, होंठों, जीभ में छाले होने पर व्यक्ति कुछ भी खा पि नहीं सकता हैं, अर्थात कुछ भी खाने पिने से बड़ी तकलीफ होती है छाले जलन करते हैं. ज्यादातर लोग छाले होने पर मुंह के छाले की दवा मेडिसिन का प्रयोग करते हैं जो की एक कुछ हद तक ठीक होती है लेकिन mouth ulcer medicine का अत्यधिक प्रयोग शरीर को कई नुकसान पहुंचाती हैं. लेकिन अब आपको इन दवा का इस्तेमाल करने की जरुरत नहीं हैं क्योंकि हम आपको घरेलु नुस्खे व उपाय बताएंगे जिनके जरिये आप तुरंत ही जीभ मुंह के छाले का उपचार होम रेमेडीज से कर सकेंगे, जानिए आसान आयुर्वेदिक home remedies for mouth chale treatment in Hindi within days.

मुंह में छाले होने के कारण

  • बड़ी आंत साफ़ नहीं होने से
  • कब्ज रहने से
  • एसिडिटी होने से
  • पेट ख़राब रहने से
  • ज्यादा तली गली चीजे खाने से
  • ठीक से पेट साफ न होने से
  • ज्यादा गर्म भोजन के सेवन से
  • मुंह व दांत को ठीक से साफ नहीं करने से
  • पेट में गर्मी होने से

आदि मुंह के छालो के कारण होते हैं, अगर व्यक्ति समय पर भोजन करे व सात्विक आहार लें तो उसे छाले जैसी समस्या कभी नहीं होती हैं. बाजार के भोजन से, ज्यादा मिर्च मसाले व गर्म मसाले के प्रयोग आदि से बचना चाहिए इनको खाने से ही ज्यादातर मुंह में, जीभ में व होंठों में छाले होने लगते हैं. ऐसे में हम आपको आयुर्वेदिक घरेलु उपाय बता रहे हैं इनके जरिये आप सभी तरह के जैसे होंठों के छाले का घरेलु इलाज कर उन्हें दूर कर सकते हैं यह देसी होम ट्रीटमेंट हैं जो की चंद समय में राहत दिला देता हैं.

muh ke chale, muh ke chale ka upchar, mouth chale treatment in hindi

जीभ होंठों मुंह के छाले का उपचार के घरेलु नुस्खे व उपाय की दवा

छाले होना एक सामान्य समस्या हैं, जिनकी पित्त की प्रकृति है और कई बार सामान्य लोगों को भी मेने देखा शरीर में जैसे ही गर्मी बढ़ती हैं तो मुंह के छाले हो जाते हैं. और किसी किसी को तो इतने छाले हो जाते हैं की पूरा मुंह अंदर से भर जाता हैं जीभ में, होंठों में आदि सभी दूर यही हो जाते हैं. तो मुंह में छाले होना और किसी भी तरह का फंगस इन्फेक्शन ये बहुत तरह की ऐसी दिक्कते होती हैं तो क्या करे उसके लिए.

तो होंठों जीभ के छाले के लिए घरेलु उपाय में सबसे पहले बताता हूँ सुबह खाली पेट पानी पिया करे और wheat grass का रस और अलोएवेरा का रस और गिलोय का पानी या नहीं तो गिलोय की गोली भी खा सकते हैं. Wheat grass, अलोएवेरा का रस और गिलोय इनका सुबह खाली पेट पीते हैं तो इससे चालों में 100% लाभ होता हैं, यह रामबाण उपाय हैं. और जिन लोगों को भी छालों की प्रॉब्लम होती हैं वह सारी गर्म चीजे खाना बंद कर दें. सलाद ज्यादा खाया करे, अंकुरित अन्न लिया करे, पका हुआ कम खाया करे और कच्चा ज्यादा खाया करे इस home remedies से 101% mouth ulcer treatment होता हैं.

और जीभ मुंह होंठों में छाले के घरेलु नुस्खे में आपको एक और आयुर्वेदिक उपाय बताता हूं. नीला थोथा, यह पंसारी के पास आसानी से मिल जाता हैं. नीला थोथा को तवे के ऊपर डालकर के जब सेंक लेते हैं तो पहले थोड़ा सा एक बार पानी-पानी जैसा होता हैं फिर बाद में वो ड्राई हो जाता हैं, थोड़ा ब्राउन भूरे कलर का हो जाता हैं. अब यह जो नीला थोथा जो अपने भून लिया था तवे के ऊपर, इसको एक चुटकी लें और उसको करीब ऐसे ही एक चम्मच पानी में मिला दें और फिर उसमे रुई कॉटन भिगोकर के जहां छाले हो रहे हो वहां लगा दीजिये

और फिर उस समय जो पानी निकलेगा तो करीब 3 से 5 मिनट जो भी पानी निकलता हो उसे बाहर निकलने दीजियेगा. बहुत पानी निकलेगा और इस घरेलु उपाय से मुंह के छालों , जीभ के छाले, होंठों के छाले सभी का एक ही बार में उपचार हो जायेगा. यह ऐसी मुंह के छाले की दवा हैं जो एक ही बार में छाले का इलाज ट्रीटमेंट कर देती हैं. (रुई को छाले पर रखते समय आने वाले पानी को मुंह के बाहर ही निकाले अंदर बिलकुल भी न ले जाए)

muh ke chhale, मुंह के छाले की दवा, muh me chale ki dawa, muh ke chale ka upchar, muh ke chale home remedies

Ayurvedic Mouth Chale Treatment Home Remedies in Hindi

छाले को दूर करने के लिए शीतकारी प्राणायाम भी किया करे, यह शरीर की गर्मी को कम करने में मदद करती हैं जिससे शरीर में छाले होने ही बंद हो जाते हैं. शीतकारी प्राणायाम के साथ साथ अनुम विलोमा, कपालभाति भी कर सकते हैं. इसके अलावा चन्द्रभेदी प्राणायाम भी इसमें बहुत हितकारी होता हैं अथवा शीतकारी व चन्द्रभेदी प्राणायाम अवश्य करे.

शीशम के 5-10 पत्ते और बिल्व (बेल) के 5-10 पत्ते इनको सुबह के समय पीसकर के शरबत की तरह पिने से भी मुंह जीभ होंठ के छाले दूर हो जाते हैं, यह muh ke chale home remedies भी 100% लाभ देती हैं.

गेंदे का एक पौधा होता हैं, जिसमे फूल आते हैं. इस पौधे के पत्तों को अच्छे से चबाये व लार बनने पर मुंह में जहां भी छाले हो रहे हो वहां पर उस लार को ले जाए. उस लार को छाले पर रहने दें व पेट के अंदर इस लार को न जाने दें. गेंदे के फूल के पत्ते किसी भी तरह का नुकसान नहीं करते हैं और छालों को दूर भी करते हैं यह सबसे आसान घरेलु इलाज का उपाय हैं. इस पौधे को आप घर पर बालकनी में भी उगा सकते हैं.

मुंह के छाले बय राजीव दीक्षित – मुंह में छाले यानि पेट साफ़ नहीं हैं, बड़ी आंत आपकी कचरे से भरी हुई हैं. तो इसके लिए सबसे पहला नियम में बताऊंगा सुबह पहली उठने के बाद घूंठ-घूंठ करके पेट भरकर पानी पिए तो इससे छाले अपने आप ख़त्म हो जायेंगे जिंदगी में फिर कभी नहीं होंगे. एक और मुंह में छाले की दवा बता देता हूं, जो की होमियोपैथी की दुकान में मिलती हैं, यह दवा बड़ी आंत को सबसे जल्दी से साफ कर देती हैं.

इस मेडिसिन दवा का नाम हैं बोरेक्स (borax 200) सुहागा आप सब जानते है न. सुहागा बड़ी आंत को साफ़ करने वाली दुनिया की सबसे तेज दवा हैं. इसी का दिलूशन करके होमियोपैथी में बोरेक्स नाम की यह दवा बनाई गई हैं. borax 200 की अगर आप तीन खुराक लेते हैं तो जिंदगी भर आपको छाले की समस्या आएगी ही नहीं. एक ही दिन में यह mouth chale treatment कर देता हैं.

muh ke chale ka gharelu nuskhe, muh ke chale ka ilaj, muh ke chale home remedies, muh ke chale in hindi

मुंह जीभ होंठों के छाले की दवा है यह नुस्खे

  • छोटी हरड़ लें और इसे अच्छे से बारीक पीस लें व जीभ होंठों में छाले आदि जहां भी छाले हो रहे हो वहां पर इसको लगाए. यह छाले की दवा आपको बिलकुल लाभ देगी यह देसी आयुर्वेदिक होम रेमेडीज में से एक हैं.
  • इसके अलावा रोजाना खाना खाने के बाद में छोटी हरड़ लेकर उसे चूसें. इस छोटे से प्रयोग से आपको जिंदगी में कभी छाले नहीं होंगे व इस प्रयोग से पाचनशक्ति भी तेज होगी.
  • रोजाना सुबह खाली पेट तुलसी की 7-8 पत्तियों को खाकर पानी पिने से भी छाले ठीक हो जाते हैं. व आप mouth ulcers problem में तुलसी के पत्तों के रस को छालों में भी लगा सकते हैं ऐसा करने से भी शीघ्र लाभ होता हैं.
  • सुहागा को भून लें, व अब 3 ग्राम सुहागा लें और इसे 18 ग्राम ग्लिसरीन में अच्छे से मिला लें और दिन में 2 बार तक जीभ में छाले आदि कहीं भी हो वहां पर लगाए तुरंत इलाज होगा.
  • नारियल के तेल को रात को सोने से पहले व सुबह खाली पेट 3 चम्मच की मात्रा में लेकर मुंह में सभी जगह पर घुमाये 10-15 मिनट तक घूमने से सिर्फ 2-3 दिन में ही होंठों के छाले आदि दूर हो जाते हैं.
  • छालों पर बर्फ के टुकड़े रखने से भी आराम मिलता हैं.
  • एक गिलास गुन-गुने पानी में 1 चम्मच हल्दी मिलकर कुल्ले गरारे करने से छालों से राहत मिलती हैं. इसके साथ ही हल्दी की जगह एक चम्मच नमक मिलाकर गरारे करने से भी लाभ होता हैं.
  • पान खाने से भी छालों में राहत मिलती हैं. इसके अलावा पान में जो कत्था लगाया जाता है उसको अगर होंठों जीभ के छाले आदि पर लगाया जाए तो तुरंत राहत मिलती हैं. इस प्रयोग को दिन में 3 बार तक करे, इस और असरकारी बनाने के लिए मुल्थी, शहद भी इस कत्थे में मिलाकर लगाए.
  • यह भी पड़ें – सिर दर्द के रामबाण उपाय – Sar Dard Ka ilaj in Hindi

  • अमरुद के पत्तों में कथा लगाये व इस चबाकर मुंह में सभी जगह पर फैलाकर खाने से भी छालों की समस्या से निजात मिलती हैं.
  • शहद को रुई में भिगोकर छालों पर लगाने से भी छाले दूर होते हैं, शहद किसी आयुर्वेदिक मेडिसिन से कम नहीं होती.
  • इस तरह आप होंठों के छाले जीभ के छाले से घरेलु उपचार के जरिये बड़ी आसानी से घर पर ही छुटकारा पा सकते हैं. यह सभी रामबाण घरेलु नुस्खे हैं इनको करने से बार-बार छाले होना बंद हो जायेंगे व पूर्ण राहत मिलेगी.

मुंह में चले होने से कैसे रोके बचने के उपाय

  1. छाले की दवा में आप ऊपर बताइए गई बोरेक्स व बी काम्प्लेक्स का सेवन कर सकते हैं.
  2. भोजन करने के बाद तुरंत न सोये
  3. ज्यादा गर्म भोजन न करे
  4. मिर्च मसालेदार भोजन से बचे
  5. समय पर शौच करे
  6. पानी भरपूर मात्रा में पिए
  7. भोजन के बाद तुरंत न सोये
  8. दांतों को अच्छे से साफ करे
  9. रोजाना सुबह खाली पेट 3-4 गिलास पानी पिए.

तो दोस्तों इस तरह मुंह के छाले का इलाज इन घरेलु नुस्खे के जरिये आप कर सकते हैं या रामबाण उपचार करेंगे. इसके साथ ही खानपान पर विशेष ध्यान दें व इन बताई गई मुंह में छाले की दवा मेडिसिन का सेवन भी कर सकते हैं. सुबह खाली पेट पानी पिने से आपको कभी छालों की समस्या नहीं होगी. Home remedies for mouth chale treatment in Hindi तो इस तरह आप इन आयुर्वेदिक उपाय को जरूर आजमाए, यह सभी नुस्खे बाबा रामदेव व राजीव दीक्षित जी द्वारा बताये गए हैं.

loading...

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.