मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर कैसे लगाये, मुल्तानी मिटटी से कील मुहासे कैसे हटाए

कील मुहासे हटाने के लिए मुल्तानी मिटटी चहरे पर कैसे लगाए

मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर कैसे लगाये और मुल्तानी मिटटी से कील मुहासे कैसे हटाए ? इस बारे में हम आपको पूरी जानकारी देंगे साथ ही मुल्तानी मिटटी लगाने का तरीका विधि भी बताएंगे जिससे आप ऑयली स्किन, कील मुहासे (pimples) से आसानी से छुटकारा पा सकते है. इस को चहरे की सुंदरता बढ़ने के लिए कई समय से उपयोग लाया जा रहा है, यह एक ऐसा नाम है जो की हर एक नयी उम्र के लड़के लड़कियों को मालूम है. बड़ी आसानी से इसके प्रयोग कर के मुल्तानी मिटटी से चहरे को गोरा कर सकते है आइये जाने इसके फायदे लाभ के बारे में.

मुल्तानी मिटटी एक पाउडर होता है जो की सफ़ेद और हलके सफ़ेद रंग में पाया जाता है, यह मिटटी से ही बनता है. इसके जरिये आप चहरे और बालों दोनों की सुंदरता को बढ़ा सकते है. फेस मास्क, कील मुहासे, मुलायम रेशमी बाल, चहरे का कालापन आदि इससे बड़ी से दूर किया जा सकता है.

मुल्तानी मिटटी लगाने के फायदे और इससे होने वाले फायदे को बढ़ने के लिए आप इसे दूसरी चीजों के साथ मिलाकर लगाए. ऐसा करने से इसका लाभ आपको दुगना मिलेगा. हम इसके बारे में आपको निचे बता रहे है. इन तरीको के जरिये आप काफी अच्छे परिणाम प्राप्त कर सकते है.

मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर कैसे लगाये, मुल्तानी मिटटी से कील मुहासे कैसे हटाए

मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर कैसे लगाये लगाने का तरीका और उपाय

Multani Mitti Se Kil Muhase Kaise Hataye

दही और मुल्तानी मिटटी

  • इन दोनों का मिश्रण त्वचा को नमी देता है, मुलायम करता है इसके साथ ही कील मुहासो को भी यह दूर करता है. साथ ही चहरे के रोम छिद्रों को खोलता है और चेहरि की सफाई भी होती है.
  • दो चम्मच मुल्तानी मिटटी ले, दो चम्मच दही लें और फिर इसमें एक चम्मच नीबू मिला दें. इन सभी को अच्छे से मिक्स कर ले और पेस्ट जैसा बना लें. अब अपने चहरे को साफ़ पानी से अच्छे से धो लें और साफ़ कर ले फिर इस पेस्ट को अपने चहरे पर अच्छे से हलकी सी मालिश करते हुए लगाए ताकि यह त्वचा में अच्छे से गहराई तक जाए इसके बाद 15-20 मिनट तक चहरे पर इस मुल्तानी मिटटी के फेस मास्क को लगा रहने दें फिर बाद में इतनी देर बाद साफ़ पानी से धो लें. एक सप्ताह में दो से तीन दिन इसका उपयोग करे तो चेहरा साफ़ और मुहासे ठीक होंगे.

शहद और मुल्तानी मिटटी

  • शहद चहरे को नमी देती है, निखारती है. इन दोनों का मिश्रण चहरे के लिए बहुत फायदे करेगा. एक बर्तन लें उसमे एक चम्मच मुल्तानी मिटटी डाले फिर दो चम्मच शहद डाले अब दोनों को अच्छे से मिलाये और मिक्स कर ले. अगर यह मिश्रण ज्यादा गाढ़ा गट्ठा हो गया हो तो इसे थोड़ा पतला करने के लिए इसमें गुलाबजल मिला सकते है. फिर इसको चहरे पर 10-15 मिनट तक लगाए और फिर धो ले इससे कील मुहासे अच्छे से हटेंगे.

अलोएवेरा और मुल्तानी मिटटी

  • अलोएवेरा अपने गुणों से बहुत ही मशहूर है और अलोएवेरा तो खासकर त्वचा के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है इसके कई प्रोडक्ट है स्किन की देखभाल के लिए. इसके लिए आप दो चम्मच अलोएवेरा का जेल या अलोएवेरा के पत्तों का रस दोनों में से एक को ले और फिर एक चम्मच मुल्तानी मिटटी लें. इन दोनों को अच्छे से मिक्स कर ले फिर अपने चहरे को अच्छे साफ़ पानी से धोकर साफ़ कर ले और इस मिश्रण को लगाए. 20 मिनट तक इस मिश्रण को चहरे पर लगा रहने दें फिर साफ़ पानी से धो ले आपको फर्क दिख जायेगा.
  • चहरे पर दाने हो रहे है तो मुल्तानी मिटटी को एक घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें फिर जब वह गल जाए तो इसमें हल्दी चन्दन दोनों को मिलाकर अगर आपके पास हल्द चन्दन न हो तो भी सिर्फ मुल्तानी मिटटी को चहरे पर लगा सकते है इसके बाद जब यह मिटटी चहरे पर सुख जाए तो सुख जाने के कुछ देर बात हलके गर्म पानी से अपने चहरे को साफ़ कर लें. इससे त्वचा साफ़ होगी, मुल्तानी मिटटी से गोरे होने के उपाय में यह बहुत अच्छा है.

एक्ने पिम्पल्स का मतलब क्या होता है

  • एक्ने एक त्वचा का रोग है जिसमे त्वचा पर निशान, फुंसी होने लगती है. यह ज्यादातर चहरे पर होती है. इनके होने से चहरे की सुंदरता ख़त्म होती है, चहरे बेकार लगने लगता है इसीलिए तो कोई भी नहीं चाहता की उसके चहरे पर कील मुहासे हो. यह ज्यादातर यौवन अवस्था में होते है, जब हमारे शरीर में हार्मोन बदलते है वह उनमे कोई उतर चढाव आता है तो उससे भी यह प्रभावित होते है.
  • अक्सर देखने को मिलता है की कई लोगों के चहरे के रोम छिद्र बंद हो जाते है इस कारण भी उनके चहरे की त्वचा बेजान सी हो जाती है और मरी-मरी सी लगने लगती है. ज्यादा तेलीय भोजन, मसालेदार भोजन करने से भी त्वचा सम्बन्धी रोग होते है. इसलिए ज्यादा तेल से बनी चीजों का सेवन नहीं करे और अपने चहरे को रोजाना धोये ताकि उसके छिद्र बंद न हो.
  • चहरे पर होने वाली एक्ने से छुटकारा पाने के लिए ज्यादा बाजार के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करे और बार बार प्रोडक्ट्स न बदले ऐसा करने से त्वचा में सिलवटे होने लगती है. त्वचा कम उम्र में ही ज्यादा पुरानी लगने लगती है, झुर्रियां पड़ने लगती है इससे बचने के लिए आप ध्यान रखे और ज्यादा प्रोडट्स को न लगाए.

तो यह कुछ आसान से तरीके थे और आपके सवालो को जवाब भी मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर कैसे लगाये व इस मुल्तानी मिटटी से कील मुहासे कैसे हटाए तो अब आपको अपने प्रश्न का सही जवाब मिल ही गया होगा.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.