पीलिया कैसे होता है, पीलिया कैसे ठीक करे, piliya kaise hota hai

पीलिया क्या और कैसे होता है – कैसे ठीक करे आसान उपाय

पीलिया कैसे होता है और ठीक करे – जॉन्डिस रोग भारत व देश विदेश सभी जगह पर फैला हुआ हैं, इस रोग को समय पर ठीक करना बहुत जरुरी होता हैं. अगर इसे शुरुआत में हलके में लिया जाए तो यह और गंभीर हो जाता हैं जिससे रोगी को और परेशानियां उठानी पढ़ती हैं. यहां हम आपको इसके फैलने के बारे में और इसके उपाय के बारे में पूरी जानकारी यहां पर देंगे.

पीलिया कैसे होता है, पीलिया कैसे ठीक करे, piliya kaise hota hai

  • यह एक ऐसा रोग हैं जो व्यक्ति के शरीर का रंग रूप बदल देता हैं, यानी इस रोग में रोगी का शरीर पीला हो जाता हैं. यह एक पदार्थ जिसे बिलीरुबिन के नाम से जाना जाता हैं उसके वजह से होता हैं. बिलीरुबिन की शरीर में मात्रा बढ़ जाने से पीलिया रोग हो जाता हैं. (जब हमारे शरीर में मौजूद रेड ब्लड सेल्स अपने जीवनकाल से पहले ही ख़त्म हो जाते हैं यानी मर जाते हैं तो इससे भी बिलीरुबिन प्रभावित होता है)
  • बिलीरुबिन की बढ़ती हुई मात्रा लिवर को कमजोर कर देती हैं, और जब इसकी मात्रा बहुत अधिक हो जाती हैं तो लिवर काम करना बंद कर देता हैं जिससे बिलीरुबिन पदार्थ लिवर में से निकलकर पुरे शरीर में फेल जाता हैं. इसकी बढ़ती संख्या रेड ब्लड सेल्स को नष्ट करती जाती हैं. इससे शरीर में खून की कमी भी आने लगती हैं.

पीलिया कैसे होता है ठीक करे और फैलता है

यह कितने तरह का होता हैं

  • पीलिया के कई प्रकार हैं, यह सभी प्रकार रोग की स्थिति के ऊपर हैं. इसमें शुरूआती स्थिति को हम पीलिया जॉन्डिस के नाम से जानते हैं, इसके अलावा इसके और भी प्रकार हैं जैसे काला पीलिया, सफ़ेद पीलिया, Hepatitis A, Hepatitis B, Hepatitis C आदि.

बिलीरुबिन पदार्थ

आखिर पीलिया कैसे होता हैं

  • जिस व्यक्ति का लिवर कमजोर होगा उसे जल्दी व बढ़ी आसानी से पीलिया हो जाता हैं. आपने देखा होगा की जैसे ही किसी नवजात शिशु का जन्म होता हैं तो उसे पीलिया हो जाता हैं, ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि नवजात शिशु का भी लिवर कमजोर होता हैं तो यह एक उदाहरण हैं इस बात का की जिन लोगों का भी लिवर कमजोर रहेगा उनको जल्दी व आसानी से पीलिया हो सकता हैं.
  • बाजार की चीजों का ज्यादा सेवन करने से भी पीलिया होता हैं. अक्सर बाजार की होटलों में रखा नाश्ता जैसे पोहे, समोसे, कचोरी आदि खुली जगह पर रखे हुए होते हैं, और ऐसे में रोड (रास्ते) पर उड़ रही धूल उनपर आकर गिरती हैं इसके साथ ही मक्खियां भी उनपर आकर बैठ जाती हैं.
  • यह आपको भी पता होगा की मक्खियां कहां-कहां पर बैठती हैं, यह किसी के मल पर बैठने के बाद सीधे उस होटल की चीजों पर आकर बैठ सकती हैं आदि यह तो सिर्फ उदाहरण हैं ऐसा अक्सर होता भी हैं. और जब ऐसी मक्खियां किन्हीं खाने वाले पदार्थ पर आकर बैठती हैं तो यह कुछ अंश वही छोड़ जाती हैं और जब कोई व्यक्ति उस खाने को खाता हैं तो वह गंदगी उसके शरीर के अंदर चली जाती हैं, वह एक वायरस होती हैं यह शरीर में अंदर जाकर बहुत नुकसान पहुंचाती हैं, लिवर को कमजोर करती हैं आदि.

दूसरे कारण हैं –

  • बाजार के गंदे पानी पिने से
  • किसी व्यक्ति का झूठा खाने से
  • ज्यादा बीमार रहने से
  • ऐसी चीजों को खाने से जिनको खाने से लिवर कमजोर होता हो आदि
  • ज्यादा चाय कॉफ़ी पिने से

कैसे जाने पता करे की आपको पीलिया हुआ हैं

  • पीलिया की पहचान करने के लिए हम आपको कुछ लक्षण बता रहे हैं जो की पीलिया के सामान्य रोगी में दिखाई देते हैं.

  • शुरुआत में पेशाब पिली आने लगती हैं, (हलकी व गहरे रंग की पेशाब)
  • बुखार आने लगता हैं
  • थकान ज्यादा होने लगती हैं
  • आंखों पर पीलापन आ जाता हैं, धीरे-धीरे आंखें पिली हो जाती हैं
  • हाथों की हथेलियां पिली पढ़ जाती हैं, हाथों के नाख़ून पिले पढ़ जाते हैं
  • पूरा शरीर पीला पढ़ने लगता हैं
  • जिबान भी पिली हो जाती हैं आदि अगर आप के शरीर में यह सभी हो रहा हैं तो समझ लीजिये की आपको पीलिया रोग हो गया हैं.
  • (इसके अलावा आप ब्लड टेस्ट भी करवा सकते हैं)
  • इस रोग के लक्षण के बारे में और अधिक जानने के लिए यहां पर क्लिक करे

जॉन्डिस यानी पीलिया कैसे फैलता हैं

  • पीलिया एक छुआ छूद का रोग हैं, उदाहरण के लिए मान लीजिये की मुझे पीलिया हो रहा हैं और ऐसे में अगर आप मेरा झूठा पानी या मेरा झूठा भोजन करते हैं तो इसकी बहुत संभावनाएं हैं की आपको भी पीलिया रोग हो जाए. ऐसे में जिसको पीलिया हुआ हैं उसका झूठा कुछ भी नहीं खाना चाहिए, उसके बिस्तर में भी नहीं सोना चाहिए.
  • इसके अलावा जिसे एक बार पीलिया हो गया हो उसे और भी ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए. ऐसे में अगर व्यक्ति फिर भी अपनी बुरी आदतें नहीं छोड़ता तो उसको दुबारा पीलिया होने की संभावनाए ज्यादा होती हैं. क्योंकि जिसे एक बार पीलिया हो जाए उसका लिवर बहुत कमजोर हो जाता हैं, इसलिए पीलिया ठीक होने के बाद भी महीनो तक खानपान में सावधानी बरतनी चाहिए.

काला व सफ़ेद पीलिया कैसे ठीक होता हैं

  • जिस तरह गलत चीजें खाने व गन्दी चीजों के सेवन से पीलिया हो जाता हैं ठीक वैसे ही इन चीजों का परहेज कर अगर अच्छे-अच्छे पौष्टिक आहारों का सेवन किया जाए तो पीलिया आसानी से ठीक हो जाता हैं. इस रोग में परहेज का बहुत महत्त्व होता हैं, वह इसलिए क्योंकि इस रोग में लिवर बहुत कमजोर हो जाता हैं और अगर आप तली गली चीजों, ज्यादा मिर्च मसालों वाली चीजों का सेवन करते रहेंगे तो पीलिया में और ज्यादा मुश्किल बढ़ जाएंगी क्योंकि लिवर हमारे शरीर में भोजन को फ़िल्टर करने का काम करता हैं और जब आप ऐसा आहार करेंगे तो लिवर उसे जरा भी फ़िल्टर नहीं कर पायेगा और उल्टा नुकसान भी होगा.
  • तला भोजन, घी की रोटी, घी का सेवन, नशीली चीजों का सेवन, चाय कॉफ़ी आदि का सेवन करना बिलकुल बंद कर दें” इन चीजों का पीलिया में खासकर परहेज ही रखें. इसके अलावा हम पीलिया ठीक करने के लिए नुस्खे निचे बता रहे हैं जिनके माध्यम से आप घर पर ही इसका उपचार कर सकते हैं.

टिप्स और नुस्खे

  • पीलिया ठीक करने के लिए आप यहां निचे दिए जा रहे उपाय के बारे में अच्छे से पड़ें व इनका अपने रोजाना के जीवन में अपनाये.

अरंड के पत्तों का रस पिए

Arand Ke Patte Castor leaves

  • अरंड के पत्तों का रस व काढ़ा दोनों ही पीलिया ठीक करने के लिए बहुत उपयोगी होते हैं. अरंड का पौधा आपको बड़ी आसानी से अपने घर के आसपास ढूंढने पर मिल जायेगा आपको बस करना इतना हैं की इस पौधे के पत्तों को तोड़कर इनका रस निकालना हैं और इस रस को रोजाना सुबह खाली पेट बिना कुछ खाये 3-4 छोटी चम्मच अरंड के पत्तों का रस पीना हैं. बस यह छोटा सा उपाय पीलिया दूर करने में अचूक काम करेगा.

कपालभाति योग करे

Kapalbhati Pranayama

  • कपालभाति प्राणायाम रोजाना सुबह के समय 15 से 30 मिनट्स तक करने से पीलिया में बहुत आराम मिलता हैं, इससे शरीर के सभी पाचन अंग ऊर्जावान हो उठते हैं. बाबा रामदेव ने पीलिया के कई रोगियों पर कपालभाति का प्रयोग किया और उन्होंने पाया की इससे सकारात्मक लाभ मिलते हैं, हाँ इसमें थोड़ा समय लगता हैं लेकिन यह पीलिया का जड़ से इलाज कर देता हैं.

बार बार पीलिया होने पर यह करे

  • अब हम जो उपाय बता रहे हैं इसे आप पहली बार पीलिया होने पर व बार-बार पीलिया होने पर दोनों ही अवस्था में आजमा सकते हैं. आंक की जड़ (आंकड़े की जड़) इसे अन्य नाम अर्क से भी जाना जाता हैं, यह बड़ी ही आसानी से मिल जाता हैं इसके फूल शिव भगवान को चढ़ाये जाते हैं. इसका पीलिया में इस तरह प्रयोग करे –

  • इस पौधे की जड़ का आधा ग्राम पाउडर लें और इसे रोजाना सुबह के समय बिना कुछ खाये खाली पेट पानी में मिलाकर पीलिया रोगी को दें यह उपाय पुराने से पुराने पीलिया को भी ठीक कर देगा. यह उपाय बार बार फीवर आने वालों के लिए भी कारगर होता हैं. (आंक की जड़ का पाउडर आप किसी पंसारी की दुकान से खरीद सकते हैं अगर यह न मिले तो आंक के पौधे को जड़ सहित उखाड़ लें और उसकी जड़ को सुखाकर अच्छे से बारीक पीस लें फिर इसे पाउडर के रूप में प्रयोग में लाये)

गन्ने का रस हैं आसान नुस्खा

  • पीलिया में गन्ने का रस पिने से अत्यंत लाभ होता हैं. इसके सेवन से लिवर की कमजोरी दूर होती हैं. अगर आप गन्ने का रस नहीं पि सकते तो सीधे गन्ने ही चबा-चबाकर खाये यह पीलिया में अत्यंत लाभकारी होते हैं. आप दिन में तीन बार तक गन्ने का रस पि सकते हैं. इसके अलावा सत्तू खाकर गन्ने का जूस पिने से भी दुगना लाभ होता हैं यह तुरंत कुछ ही दिनों में लाभ दिखा देता हैं.

दिन में तीन बार नारियल पानी पिए

  • नारियल पानी. जी हाँ गन्ने के रस के बाद दूसरा नाम आता हैं नारियल पानी का, रोजाना दिन में तीन से चार बार तक नारियल पानी पिने से पीलिया में बहुत तेज लाभ होता हैं. यानी हर बार में एक पूरा नारियल पिए ऐसे दिन में 3-4 नारियल हो जायेंगे. इस घरेलु उपाय को कब करे सुबह, दुपहर, शाम और रात को चारों समय पर नारियल पानी पिए केवल चार पांच दिनों में ही आपको फायदा दिखने लगेगा.

लिवर ज्यादा कमजोर हो जाने पर

  • गेहूं का रस यानी wheat grass juice यह कमजोर से कमजोर लिवर को भी मजबूत बना देता हैं. इसके लिए आपको कहीं बहार जाने की जरूरत नहीं हैं, आप अपने घर पर हैं एक टब या किसी बर्तन में मिटटी डालकर गेहूं डालदे यानी उस बर्तन में गेहूं को उगा दें 3-4 दिन में वह उग आएंगे जब यह अच्छे बड़े हो जाये तो इनको काटकर इनका रस निकाले. रस निकालने के लिए इन्हें मिक्सर में पानी डालकर पीसे. इस तरह लिवर की कमजोरी दूर करने का उपाय हो जायेगा.

  • इस रस को और प्रभावशाली बनाने के लिए इसमें यह भी मिला दें. अलोएवेरा का रस 45mm और गेहूं का रस 50mm इसके अलावा करीबन एक फ़ीट गिलोय की डंडी को कूटकर उसका रस बनाकर के मिला दें. इन सभी चीजों को मिलाकर रोजाना सुबह के समय पर पिने से लिवर की कमजोरी, रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं. इससे बार-बार बुखार आने की समस्या भी दूर हो जाती हैं.

कुछ अन्य टिप्स – Jaundice Tips in Hindi

  • गन्ने के रस में चुटकी भर यानी एक गेहूं के बराबर चुना मिलाकर पिने से भी पीलिया जल्दी ठीक होता हैं.
  • पपीता की पत्तियों का रस सुबह के समय पिने से भी पीलिया में लाभ होता हैं
  • लोकि का रस व लोकि की सब्जी खाने से भी पीलिया में फायदा होता हैं
  • पीलिया रोग में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए, जितना पानी पिएंगे उतना ही लाभ होगा
  • रोजाना सुबह के समय नारंगी यानी संतरे का रस पिने से भी पीलिया में अत्यंत लाभ होता हैं
  • संतरे के रस पर उपवास करने से शरीर के सभी रोग मर जाते हैं
  • करीबन 3-4 लहसुन की कलियों को दूध में मिलाकर खाने से भी सिर्फ सात दिन में पीलिया ठीक हो जाता हैं.
  • तो यहाँ आपने जाना की पीलिया कैसे होता है.

पीलिया में अगर आप बताये गए उपाय करते है तो आपको बहुत जल्द ही लाभ नजर आने लगेगा. इसके अलावा हमने जो ऊपर पोस्ट दिए है आप इन्हे भी जरूर पड़ें. इनमे तरह तरह की जानकारियां दी गई है जिससे आपको बहुत कुछ सिखने को मिलेगा.

दोस्तों उम्मीद करते हैं की आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पीलिया कैसे ठीक करे होता है और फैलता है आदि को पढ़कर अच्छा लगा होगा. इसके अलावा हमने पीलिया रोग पर और भी लेख लिखे हैं आप उन्हें निचे Related Post Section में जाकर पढ़ सकते हैं.

loading...

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.