बच्चे के पेट में दर्द घरेलू उपचार, बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार, बच्चों के पेट मे दर्द

तुरंत बच्चे के पेट में दर्द घरेलू उपचार : 8 आयुर्वेदिक इलाज

loading...

बच्चों में पेट दर्द का होना बहुत आम हैं, क्यूंकि इस उम्र में शिशुओं का पाचन तंत्र बहुत ही नाजुक होता हैं. ऐसी नाजुक अवस्था में शिशु/बच्चे के कुछ गलत खाने पिने से शिशु के पेट में दर्द होने लगता हैं. अगर आपका शिशु अभी बोलने नहीं लगा हैं तो ऐसे में पेट दर्द आपके सिर का दर्द बन सकता हैं. आइये जाने बच्चे के पेट दर्द का इलाज करने के उपाय और नुस्खे के बारे में, इनके जरिये आप अपने बच्चों को घर पर ही बिना किसी दवा के दर्द को रोक सकते है.

बच्चे के पेट में दर्द घरेलू उपचार, बच्चों में पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार, बच्चों के पेट मे दर्द

बच्चों के पेट दर्द का कारण अक्सर गन्दा पानी पीना, कुछ भी चीज को मुंह में ले लेना, साफ़ सफाई आदि होते हैं. अगर बच्चा व शिशु ज्यादा दूध पि लें तो ऐसी अवस्था में भी पेट दर्द होने लगता हैं. ऐसे में शिशुओं को अक्सर पेट दर्द के साथ दस्त और उलटी भी हो जाया करती हैं.

  • मलावरोध – पेट साफ़ नहीं होने पर
  • कब्ज – पेट साफ़ नहीं हो पाने से कब्ज होती है और कब्ज से पेट दर्द
  • अपचन – भोजन या कुछ खाने के बाद दर्द होना
  • भूख खुलकर नहीं लगना आदि.

जैसा की हमने पेट के रोगों से सम्बंधित पिछले लेखों में भी बताया हैं की पेट दर्द का सिर्फ एक ही रामबाण उपाय हैं जो की आपको पेट के सभी रोगों से हमेशा के लिए बचा के रखता हैं और वह हैं “पानी”. पानी शरीर में तरलता बनाये रखता हैं, जिससे शरीर के ऊर्जे पुर्जे आदि सभी सही ढंग से चलते रहते हैं.

  • आप इस पोस्ट को निचे तक पूरा पड़ें, जल्दबाजी बिलकुल न करे.

  • साथ ही पानी ख़राब पदार्थों को शरीर से बहार निकालने में भी बहुत मदद करता हैं. इसीलिए बात चाहे शिशु, बच्चों या बड़ों की हो पानी सभी को पर्याप्त मात्रा में पीना चाहिए. जिस तरह एक बड़ी उम्र के व्यक्ति को दिन में 14 लीटर पानी पीना चाहिए ठीक वैसे ही छोटे बच्चों को दिन में करीबन 8 लीटर तक पानी पीना चहिये.
  • छोटे शिशु जो ठीक से बोल भी नहीं पाते वह तो पानी ठीक से पि नहीं पाते इसलिए आप उनके साथ कोई जबरदस्ती न करे. बल्कि उन्हें मां का दूध ही पिलाते रहे. लेकिन जो बच्चे बोलने लगे हैं उनके लिए तो बहुत जरुरी हैं की आप उन्हें 8 लीटर पानी पिलाये.

इसके साथ ही अब हम आपको यहां बच्चे के पेट दर्द ठीक करने के उपाय और उपचार  के बारे में बताएंगे. हम ऐसे असरकारी व सरल आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे बताएंगे जिनके जरिये आप आसानी से रामबाण इलाज कर सकेंगे. इनसे किसी तरह के कोई नुकसान नहीं होते. लेकिन इन नुस्खों का उपयोग आप अपनी जिम्मेदारी पर ही करे.

 शिशु बच्चे के पेट में दर्द घरेलू उपचार

Bachon ke Pet Dard Ka ilaj in Hindi

  • बच्चे की पेट में गैस की वजह से दर्द हो रहा हो तो बच्चे को पेट के बल लेटा कर उसकी पीठ थप थपाये. फिर कमर के बल सीधा लेटाकर उसके पेट पर तेल से मालिश करे. ऐसा करने से शिशु की आंतों को राहत मिलती हैं दर्द कम होता हैं.
  • बच्चे को हलके गरम पानी के टब में बैठाने से भी दर्द में आराम मिलता हैं, इसके बदले आम पानी की हलकी गर्म बोटल को भी उसके पेट पर रख सकते हैं. साथ ही बच्चे शिशु को हल्का गर्म पानी पिलाने से भी दर्द में बहुत आराम मिलता हैं.
  • अगर आपका बच्चा दही खा सकता हैं तो उसे दही का सेवन ज्यादा से ज्यादा करवाए. खासकर गर्मी के दिनों में तो जरूर करवाए. दही पेट के रोगों से बचाने में बहुत मदद करता हैं.
  • अगर आपका बच्चा भोजन करते वक्त बार-बार पानी पिता हैं तो उसे ऐसा करने से मना करे. क्योंकि यह सेहत के लिए बिलकुल भी ठीक नहीं होता. इससे अपचन होता हैं खाना ठीक तरह से पच नहीं पाता. इसके बदले बच्चे से कहे की वह खाना खाने के बाद 2-4 घूंट पानी पिए व फिर खाना खाने के 45 मिनट बाद पेट भरकर पानी पिए.

शिशु का पेट दर्द

बाबा रामदेव का आयुर्वेदिक नुस्खे

  • मुक्त सूक्ति भस्म 10 ग्राम
  • शंक भस्म 10 ग्राम
  • मोती पिष्टी 5 ग्राम

बाबा रामदेव का इलाज – इनका पाउडर बनाकर घर में रखो. छोटे-छोटे बच्चे हैं जैसे एक महीने भर का हैं तो उसे 1-2 चावल की मात्रा में यह दें और अगर थोड़ा बड़ा है तो मूंग के बराबर दें, इससे भी ज्यादा बड़ा बच्चा है तो चने के बराबर दें. और बड़े आदमी को भी यह आधे ग्राम की मात्रा में दिया जा सकता हैं.

bachon ka pet dard : एक दौ चावल से लेकर आधा ग्राम तक उम्र के हिसाब से इसका डोज दे सकते हैं. यह आयुर्वेदिक नुस्खा बच्चों/शिशुओं के उलटी, दस्त आदि सभी पेट के रोगों में बहुत काम आएगा 100% लाभ देगा. यह 1% भी हानिकारक नहीं होता यानी आप बिना किसी रिस्क के इसका उपयोग कर सकते हैं, बच्चे शिशु का पेट दर्द में यह उपाय भी अच्छा है.

  • थोड़ी सी हींग, काला नमक और अजवाइन इन तीनो को बराबर मात्रा में लेकर बारीक़ करके हलके गर्म पानी के जरिये बच्चे को खिलाये, आराम मिलेगा.
  • बच्चे को मूली खिलाये या फिर मूली का रस बनाकर पिलाये तो जल्द ही दर्द ठीक हो जायेगा.
  • एक गिलास पानी में दो नीबू का रस मिलाकर पिलाने से भी दर्द ठीक होता है.
  • बच्चों में पेट दर्द का होने पर सरसों के तेल को जरा सा गर्म कर ले और बच्चे के पेट पर मालिश करे
  • शहद का नुस्खा

  • बच्चे शिशु का पेट दर्द होने पर आधा कप पानी लें और इसे हल्का गर्म कर लें. अब इस गुन-गुने पानी में थोड़ी शहद मिलाये व अच्छे से हिलाये. फिर बच्चे को यह पीला दें यह घरेलु उपाय बच्चे के पेट दर्द को दूर करने में मदद करता हैं. शहद का यह उपाय बिलकुल सामान्य है और बहुत आसान भी है आप इससे बच्चे के पेट दर्द का इलाज बड़े आराम से कर सकते है.

अजमा और गूढ़

  • अगर छोटे बच्चे को कब्ज के वजह से पेट में दर्द हो रहा हो तो अजमा और गूढ़ दोनों को आपस में मिलाकर बच्चे को खिलाने से शिशु के दर्द का तुरंत उपचार हो जाता हैं.
  • बच्चे व शिशु को अरंडी का तेल पिलाने से भी बहुत आराम मिलता हैं यह रामबाण इलाज हैं जो की दादी नानी के द्वारा बताये गए हैं.
  • बड़ों व छोटे बच्चों को चावल का पानी पिलाने से भी दर्द में बहुत राहत मिलती हैं. इस उपाय को कोई भी आजमा सकता हैं, छोटी उम्र से लेकर बड़ी उम्र तक.

सायना होम्योपैथिक दवा –

  • मल सुखना, शौच नहीं होना, सूखा शौच होना, शौच करने पर सिर्फ हवा ही निकलना आदि लक्षणों पर सायना औषदि को 3x की मात्रा में रोगी को दें. इस दवा को पेट में कीड़े होने पर भी दे सकते हैं.
  • नक्स वोमिका – अगर शिशु बच्चे को दस्त सही से न हो रहे हो, पेट में ऐठन हो रही हो तो नक्स वोमिका की 30 शक्ति का सेवन करवाए. यह बच्चे के लिए बेहतरीन दवा मेडिसिन हैं.

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए

  • अचानक तेज पेट दर्द होने पर
  • घरेलु उपचार आदि के बावजूद लम्बे समय तक पेट दर्द होने पर
  • पेट में किसी एक ही जगह पर दर्द होने पर
  • पेट के दर्द के वजह या इसके साथ बुखार आदि के आने पर
  • बच्चे को शौच करते समय खून आने पर
  • शौच काले रंग का आने पर
  • आदि लक्षण दिखाई देने पर बिना समय गवाए अपने शिशु बच्चे को डॉक्टर को जरूर दिखाए, ताकि उसका सही इलाज हो सके. हम
  • यहां आपको सिर्फ सुझाव ही दे सकते हैं.
  • इस पोस्ट का अगला पेज भी पड़ें, वहां हमने और भी जड़ से दर्द को दूर करने वाले आसान से नशे बताये है जो बचो और वयस्क व्यक्तियों के लिए है आप इसे जरूर पड़ें : NEXT PAGE

उम्मीद हैं आपको यहां बताये गए शिशु बच्चे के पेट में दर्द घरेलू उपचार bachon ke pet me dard in Hindi इनको पढ़कर आपको अच्छा लगा हो. आशा करते हैं आपके बच्चे शिशु के दर्द में इनसे पूरा लाभ हो और वह फिर स्वस्थ हो जाए. इसके साथ ही इस पोस्ट का दूसरा पेज भी पड़ें.

Advertisement
loading...

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.