(Diet) Typhoid में क्या खाये और (क्या नहीं खाना चाहिए)

typhoid me kya khaye, typhoid me khaye in hindi

Typhoid Fever – यहां हम आपको टाइफाइड में क्या खाये और क्या नहीं खाना चाहिए इसके बारे में हिंदी भाषा में पूरी जानकरी के साथ बताएंगे. इसके जरिये आप टाइफाइड बुखार से जल्दी छुटकारा पा सकते हैं. इसके साथ ही सही भोजन (डाइट) टाइफाइड बुखार से शरीर पर होने वाले (Damage) नुकसान से भी बचा सकती हैं.

बात सिर्फ टाइफाइड की ही नहीं बल्कि एक सही व नियमित खान-पान हर एक रोग के लिए रामबाण दवा है. अगर आप बीमार हैं और सही तरह से खाना खाएंगे तो जल्द ही आप Healthy Recovery हासिल कर लेंगे और अगर बुखार में कुछ भी खाएंगे तो इससे आपके शरीर को और नुकसान पहुंचेगा. इसलिए टाइफाइड हो या कोई ओर रोग हमेशा सही खाना खाना चाहिए.

पढ़िए बुखार टाइफाइड में क्या खाये और क्या नहीं इन हिंदी में

  • क्यों जरुरी हैं टाइफाइड में सही खाना

रोग/बीमारी चाहे कोई सी भी हो वह शरीर को अंदर से कमजोर कर देती हैं. खासकर पाचन तंत्र, लिवर आदि को जो की भोजन को पचाने में अहम् भूमिका निभाते हैं. और जब शरीर के यह अंग कमजोर पढ़ जाते हैं तब यह ठीक से अपना काम नहीं कर पाते और अगर ऐसे में भारी व अनियमित भोजन करेंगे तो यह अंग उसे ठीक से पचा (Digest) नहीं कर पाएंगे.

इसलिए हर एक बीमारी में हल्का व नियमित भोजन महत्व रखता है. यह हल्का भोजन शरीर की पाचन प्रणाली पर ज्यादा दबाव नहीं डालता यानी पाचन तंत्र को इसे पचाने में ज्यादा काम नहीं करना पढता जिससे शरीर के अंग को राहत मिलती हैं.

तो शायद अब आप टाइफाइड में क्या नहीं खाना चाहिए और क्या भोजन करना चाहिए इसके महत्व के बारे में अच्छे से समझ गए होंगे. अब हम टाइफाइड के लक्षण और कारण के बारे छोटे रूप में जानने की कोशिश करते हैं.

  • टाइफाइड बुखार क्यों होता है शार्ट में समझे

यह फीवर “Bacteria Salmonella typhi” के infection में आने से होता हैं. Salmonella typhi bacteria सिर्फ मानव जाती को ही प्रभावित कर सकता हैं. खासकर यह पाचन तंत्र और लिवर को कमजोर करता हैं, टाइफाइड में यह बैक्टीरिया intestine (आंतों) में सूजन कर देता हैं. जिससे इंटेस्टाइन में कभी-कभार खून भी निकलने लगता हैं.

Sahi Bhojan Typhoid Bukhar Me Kya Khana Chahiye

typhoid me kya khana chahiye, typhoid me kya khana chahiye in hindi

जब Salmonella typhi Bacteria” शरीर में प्रवेश करता हैं तो पहले Intestine में कुछ समय तक रहता हैं फिर जब यह ओर शक्तिशाली हो जाता हैं तो intestinal wall और bloodstream में पहुंच जाता हैं. यहां पहुंच कर इन पर अपना असर दिखाने लगता हैं. फिर यही से पुरे शरीर को भी प्रभावित करना शुरू कर देता हैं.

  • Bacteria Salmonella typhi शरीर में कैसे आता हैं

यह बैक्टीरिया हमारे मुंह के जरिये दूषित पानी व ख़राब भोजन करने से प्रवेश करता हैं. जब हम कहीँ यात्रा (Tour) पर जाते हैं तो वहां हमे मज़बूरी में जैसा पानी व भोजन मिल जाए उसी से काम चलाना पढता हैं. ऐसे में अगर इस भोजन व पानी में Salmonella typhi bacteria होगा तो यह आपके शरीर में प्रवेश कर जाएगा.

और इसके साथ ही यह किसी बीमार व्यक्ति का झूठा पानी व भोजन करने से भी शरीर में प्रवेश कर जाता हैं. भारत में ज्यादातर टाइफाइड सर्दी जुकाम, खांसी व सामान्य बुखार के होने पर इनका समय पर इलाज न करवाने व देखभाल न करने से होता हैं. ऐसे में यह बैक्टीरिया शरीर में तेजी से फेल जाता हैं.

कैसे जाने की आपको टाइफाइड हुआ है

यह आप भी जानते हैं की यह उन जानलेवा रोग में से एक हैं की जिसका समय पर इलाज न करवाया जाए तो फिर मौत का मुंह देखना पढता है. आपको यह पढ़कर बड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन यह सच है हमारी आंखों देखि बात है इसलिए हम आपको टाइफाइड के बारे में इतना जौर देकर कह रहे हैं.

भारत में टाइफाइड की परिभाषा ही ऐसी दी गई है – “बुखार बिगड़ जाना = टाइफाइड” यानी जब किसी को सामान्य बुखार आता हैं और अगर वह उसका ठीक से देखभाल नही करता तो यह सामान्य बुखार “टाइफाइड” में बदल जाता हैं. यानी सामान्य बुखार का बिगड़ना ही टाइफाइड कहलाता हैं. और जिस तरह सामान्य बुखार का बिगड़ना टाइफाइड कहलाता हैं ठीक वैसे ही जब हम टाइफाइड का समय पर इलाज व देखभाल नहीं करते तो यह टाइफाइड भी बिगड़ जाता है यानी जानलेवा बुखार में बदल जाता हैं. फिर आप एक बिस्तर से चिपक जाते हैं.

इन लक्षणों को पढ़कर आप टाइफाइड बुखार को जान सकते हैं

  1. शरीर पुरे दिन व रात हल्का गर्म रहना
  2. दिन रात शरीर हल्का गर्म रहने के साथ धीमा बुखार रहना
  3. शरीर में बहुत थकान महसूस होना
  4. जरा सा काम करने पर भी थकान महसूस होना
  5. तेज बुखार आना, पेट में दर्द होना, आंतों में खून आना
  6. सर्दी जुकाम, खांसी, सर दर्द, उलटी, जी मचलना, दस्त आदि यह सामान्य लक्षण हैं.

शायद अब आपने टाइफाइड के बैक्टीरिया व इसके लक्षण, कारण के बारे में जान ही लिया होगा. अगर आप इसके लक्षण के बारे में और जानना चाहते हैं तो निचे दिया गया लेख पडें.  Typhoid Symptoms & Prevention in Detail.

अब हम आपको टाइफाइड फीवर में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए इसके बारे में पूरी information देंगे. इन चीजों को खाने से आप टाइफाइड में कमजोरी महसूस नहीं करेंगे, यह आपके शरीर को क्षीण होने से बचाएंगी.

हर तरह की बीमारी में हमेशा हल्का भोजन करना चाहिए. क्योंकि हल्का भोजन आसानी से जल्दी पच जाता हैं. जिससे पाचन क्रिया पर ज्यादा दबाव नहीं पढता हैं. इसलिए आपको इस बुखार में भारी भोजन, मांस मदिरा, बीड़ी सिगरेट आदि को छोड़ देना होगा. और भूख से कम खाना होगा यानी पेट भरकर भोजन नहीं करना होगा.

इसके साथ ही ऐसा भोजन करना होगा जो की आसानी से पच सके जैसे फलों का रस, फलों का सेवन, पत्तेदार सब्जियां, सब्जियों का सूप, उबली हुई सब्जी आदि.

टाइफाइड में क्या खाये फूड्स फ्रूट्स (फल) और सब्जी

  • Fruits

रोगी को अगर जल्दी स्वस्थ होना हो तो उसके लिए सबसे जरुरी हैं की वह ज्यादा से ज्यादा फलों का सेवन करे. क्योंकि बीमारी में हमारे शरीर को ऐसे भोजन की जरूरत होती हैं जिसमे प्रोटीन और कैलोरी ज्यादा मात्रा में हो ओर पचाने में भी आसान हो. तो ऐसा भोजन सिर्फ फलों को ही कहा जा सकता हैं क्योंकि सिर्फ इनमे ही यह क्षमता मौजूद होती हैं. तो जानिये टाइफाइड में क्या खाये – foods Names

टाइफाइड में मुनक्का ज्यादा खाना चाहिए, यह इस बुखार में बहुत असरकारी होते हैं. Read It – 5 दिन में टाइफाइड का आयुर्वेदिक देसी इलाज

  • अनार के दाने
  • अनार का रस
  • नारियल पानी
  • सेब का रस (apple or apple juice)
  • पपीता
  • चीकू
  • चुकुन्दर का रस
  • संतरे का रस
  • ग्लूकोस का पानी आदि

Vegetables Soup For Typhoid Fever

टाइफाइड में फूड्स का सेवन

  • सब्जियों का सूप
  • दलिया
  • सफ़ेद उबले हुए चावल
  • पालक का सूप
  • पतली रोटियां
  • केले और छाछ का मिक्स सेवन
  • मूंग की दाल और मूंग की खिंचड़ी

टाइफाइड में क्या नहीं खाना चाहिए

  • तेज मसालेदार, तैल की तली हुई चीजों का सेवन न करे
  • बाजार की बनी हुई चीजें न खाये
  • भारी भोजन न करे, मांसाहारी भोजन न करे, और पेट भरकर कुछ भी न खाये
  • जिन भोजन में फाइबर ज्यादा मात्रा में हो उनका सेवन न करे
  • यह न खाये cabbage, capsicum and turnip

किन बातों का ध्यान रखे

  1. टाइफाइड की दवा लेने के बाद कंबल ओढ़कर आराम करे, शरीर में गर्मी आने दें
  2. समय पर याद से दवाई लें
  3. टाइफाइड की दवाइयों का पूरा कोर्स लें. ज्यादातर ऐसा होता हैं की आराम होने पर रोगी दवाई लेना बंद कर देता है जिससे बुखार फिर पलटकर आता हैं.
  4. अगर आपके घर पर साफ़ पानी नहीं हैं तो उसे उबाल कर पिए
  5. 3-4 लीटर फलों का रस पिए
  6. डिहाइड्रेशन का खतरा हो तो नारियल पानी का ज्यादा सेवन करे
  7. समय पर पेट साफ़ करे (पेट साफ़ रखना बहुत जरुरी है)
  8. पानी ज्यादा पिए, दवाइयों को दूध के साथ लें

उम्मीद हैं दोस्तों आपको टाइफाइड में क्या खाये इन हिंदी में और क्या नहीं खाना चाहिए इस बारे में पढ़कर व जानकर बहुत अच्छा लगा हो. इसके अलावा हमने टाइफाइड फीवर के बारे में और भी बहुत से लेख लिखे हैं जिनमे टाइफाइड के बारे में खुलकर बताया गया हैं. हमारी आपको सलाह हैं की आप उन्हें भी पढ़ें ताकि आपको इस फीवर के बारे में पूरी जानकारी हो जाए.

अगर आपको यह बहुत पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Google plus और Facebook पर SHARE करना बिलकुल न भूले.

132 Comments

  1. Mohit
    • Ask Your Question
  2. ashish kumar
    • Ask Your Question
  3. Manoj
    • Ask Your Question
  4. अरविंद
    • Ask Your Question

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.

हमसे Facebook पर अभी जुड़िये, Group Join करे "Join Us On Facebook"