vomiting in hindi, ulti aana, ulti ka ilaj

तुरंत उलटी रोकने के उपाय से इलाज : 8 Vomiting घरेलु नुस्खे

बताये उलटी का इलाज रोकने के उपाय इन हिंदी – vomiting होना कई लोगों की आम समस्या हैं. कई लोगों को सफर में उलटी होने की शिकायत होती हैं वहीं कुछ लोगों को गलत खान-पान आदि के कारण भी उल्टियां हो जाती हैं, ऐसे में कई समय तक तो जी घबरता और फिर उलटी आती हैं. हम यहाँ आपको इसको रोकने के घरेलु उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे बताएंगे, इनको करने से आपको तुरंत ही मिनटों में आराम मिलेगा. इसके अलावा और भी इसके होने की वजह आदि के बारे में भी पूरी जानकारी के साथ बताएंगे. आप इसे पूरा ध्यान से और निचे तक पड़ें.

उलटी क्या होती हैं

उलटी आना कोई बीमारी नहीं बल्कि शरीर की एक प्रक्रिया हैं जिसमे पेट में मौजूद सारा पदार्थ ऊपर की ओर चढ़ जाता हैं और मुंह के द्वारा बाहर निकल जाता हैं. उलटी आने पर घबराना नहीं चाहिए बल्कि उलटी कर लेना चाहिए ऐसा करने से जी हल्का होता हैं और पेट की सफाई भी हो जाती हैं ulti vomiting treatment in Hindi.

  • पोस्ट को पूरा निचे तक ध्यान से पड़ें, रामबाण उपचार बताया है.

उलटी के कारण

  • सफर के दौरान
  • गर्भावस्था के प्रारंभिक चरण
  • किसी दवा को लेने से (साइड इफेक्ट्स)
  • पेट के तेज़ दर्द से
  • भावनात्मक तनाव (जैसे डर)
  • पित्ताशय का रोग
  • विषाक्त भोजन
  • संक्रमण (जैसे “पेट फ्लू”)
  • ज्यादा भोजन
  • उत्तेजना या मस्तिष्क की चोट
  • मस्तिष्क का ट्यूमर
  • अल्सर
  • मनोवैज्ञानिक बीमारियों
  • विषाक्त पदार्थों का सेवन
  • ज्यादा अल्कोहल का सेवन
  • आधासीसी
  • मोशन बीमारी
  • यात्रा से जुड़े मतली और उल्टी

लक्षण

  • उलटी होने के लक्षण सामान्य से होते हैं जैसे जी घबराना, पेट से ऊपर की ओर कुछ उठता हुआ मेहसूस होना, पेट भारी-भारी सा लगना आदि.

vomiting in hindi,

क्या उलटी होना खतरनाक हैं

  • अगर कभी कभार किसी वजह से जैसे पेट की शिकायत आदि से उलटी आती हो तो वह नुकसानदायक नहीं होती, बल्कि और लाभ देती हैं. लेकिन अगर किसी व्यक्ति को बार-बार उलटी होती हो तो यह शरीर को कमजोर कर देती हैं. ऐसे में इलाज वोमिटिंग ट्रीटमेंट करवाने के लिए डॉक्टर से अवश्य मिलना चाहिए.

उलटी का इलाज की दवा और उपाय

Ulti Rokne Ke Upay in Hindi

  • बाबा रामदेवसफर में उलटी होना या घर पर ही चक्कर आकर उलटी होना, जी घबराकर उलटी होना आदि किसी भी वजह से उलटी का मन हो रहा हो तो आप यह करे तुरंत ही उलटी करने का जी ख़त्म हो जायेगा.
  • सफ़ेद आर्क (आंकड़ा) यह एक पौधा होता हैं जिसके फूल हम शिव भगवान को चढ़ाते हैं, इस पौधे के 1-2 ताज़ा पत्ते की हमे जरुरत लगती हैं. तो जब भी उलटी का मन हो तो सबसे पहले देखें की नाक (nose) का कोन सा स्वर चल रहा हैं, हमारी नाक में दो स्वर होते हैं सूर्य स्वर और चंद्र स्वर तो आप पहले पता लगाए की उस समय कौन सा स्वर चल रहा हैं.
  • यह पता लगाने के लिए देखे की आप नाक के किस छिद्र से ज्यादा आसानी से सांस ले पा रहे हैं. जिस नाक के छिद्र से सांस आसानी से ले पा रहे हो उस तरफ के पैर के निचे आंकड़ा के पौधे का पत्ता रख लें, यानी की अगर आपकी नाक का दाया स्वर चल रहा है, यानी नाक के दाया छिद्र से सांस लेना आसान हो रहा हैं तो दाया पैर के पंजे के निचे इस पौधे के पत्ते रख लें.
  • इसके लिए आप जुटे या मोज़े का प्रयोग कर सकते हैं, पैर में आंकड़े के पत्तों को लगाकर ऊपर से मोज़े पहन लें और खड़े हो जाए ताकि वह पत्ते पैर से अच्छी तरह सिमट जाए.

अगर आपको नाक का स्वर पता लगाने में तकलीफ हो रही हो तो आप दोनों पैरों के पंजो में आंकड़े के पत्ते रख सकते हैं. आप इसको सफर पर जाते समय भी कर सकते हैं इससे किसी भी तरह की उलटी नहीं होती.

ulti rokne ke upay, vomiting treatment in hindi, ulti rokne ka ilaj

छोटे बच्चों को उलटी, दस्त, पेट दर्द होता हैं तो यह प्रयोग करे- बाबा रामदेव की दवा पतंजलि मुक्ताशुक्ति भस्म 10 ग्राम, शंक भस्म 10 ग्राम, मोटिपिष्टि 5 ग्राम इनको आपस में मिलाकर घर में रख लें. 1-2 महीने का बच्चा है तो चावल के बराबर इसका मिश्रण दें और उससे बड़ा 3-4 महीने का बच्चा हैं तो मूंग की दाल के बराबर यह मिश्रण दें. और अगर बड़े आदमी को भी यह समस्या हैं तो उसे आधा ग्राम की मात्रा में यह मिश्रण दें तुरंत ही रहत मिलेगी.

अन्य उपाय

  • पोदीना का तेल ओर नींबू का तेल दोनों तेलों की 2-2 बूंदे एक रुमाल में डालकर उसको सूंघे, इस तरह पोदीना के तेल व नींबू के तेल की गंध को सूंघने से उलटी करने का मन नहीं होता और जिनको उलटी करने का मन हो रहा हो उनको भी राहत मिलती हैं.
  • 1 कप पानी और 11 ग्राम शहद दोनों मिलाकर पिए उलटी का उपचार हो जायेगा.
  • सूखे पोदीना 1 चम्मच ले और इसे 1 गिलास पानी में डालकर खूब उबालिये 5-10 मिनट बाद इस गैस से उतारकर ठंडा होने पर पि जाए पेट की खराबी से आने वाली उलटी में लाभदायक होता हैं.
  • 1 चम्मच प्याज का रस और एक चम्मच अदरक का चुरा इन दोनों को आपस में मिलाकर थोड़े-थोड़े समय के अंतराल में लेवे उलटी नहीं आएगी. यह सबसे आसान उलटी रोकने का उपचार में से एक हैं.
  • उलटी आने पर सौंफ चबाने से भी बहुत लाभ होता है, सौंफ चबाने से उलटी आना रुक जाती हैं. यह बच्चों की उलटी के इलाज के लिए बेहतरीन हैं. एक कप पानी में एक चम्मच सौंफ को बारीक़ पीसकर अच्छे से उबाले और फिर इसे पिए दिन में 2-3 इस प्रयोग को करने से उलटी नहीं होती.
  • करीबन आधे चम्मच जीरे के पाउडर को एक-डेढ़ कप पानी में मिलाकर पिने से भी उलटी नहीं आती हैं.
  • एक चम्मच दालचीनी का पाउडर को एक कप पानी में डालकर उबाले अच्छे से उबलने पर इसका सेवन करे पेट की खराबी से उलटी आने पर यह उपाय बहुत लाभदायक होता हैं.
  • उलटी जी मचलने का जा मन हो रहा हो तो उस समय पेट से गहरी-गहरी स्वांस लेना चाहिए.
  • प्रेगनेंसी में उलटी आती हो तो रोजाना सुबह के समय नीबू पानी पिए यह प्रेगनेंसी में उलटी रोकने के नुस्खे  में से एक हैं. 2 लौंग को एक कप पानी में उबालकर आधा रह जाने पर महिला को पीला दें इससे भी उलटी रुक जाती हैं.
  • उलटी ज्यादा आने पर नमक और चीनी मिला हुआ पानी पीना चाहिए, यह शरीर को पानी की कमी होने से बचता हैं और बार-बार उलटी आने से रोकता हैं.
  • सफर में उलटी होती है तो सफर के दौरान अदरक के एक टुकड़े को मुंह में रखकर सफर पर जाए और इस अदरक के टुकड़े को चूसते रहे उलटी नहीं होगी.
  • उलटी आने पर इलाइची मुंह में रख कर चूसने से भी उलटी को आसानी से रोका जा सकता हैं.
  • उलटी का इलाज में लौंग को मुंह में डालकर चूसते रहने से भी उलटी नहीं आती, यह सफर के दौरान भी कर सकते हैं. लौंग को तवे पर सेंक ले और फिर इसमें शहद मिलाकर खाये तो तुरंत उलटी बंद हो जाएगी.
  • पोदीना की पत्तियों को एक कप पानी में 10 मिनट तक उबालकर पिने से भी जल्द लाभ मिलता हैं.
  • 2-3 लौंग ले और करीबन 100 ग्राम पानी में डालकर अच्छे से उबाले जब पानी आधा रह जाए तो इसमें थोड़ी सी मिश्री मिलाकर पि जाए, दिन में चार घंटे के अंतराल में 3-4 बार लौंग का पानी पिने बहुत लाभ मिलता हैं.

ulti rokne ke upay in hindi, vomiting treatment in hindi, ulti ke gharelu upay

Acupressure for vomiting treatment 

  • निचे दिए जा रहे इन फोटो में दिखाए जा रहे बिंदुओं पर अपने हाथों से मालिश मसाज करने से भी उलटी नहीं आती हैं, जी घबराने जैसा मन नहीं होता हैं. इसका प्रयोग आप सफर के दौरान बैठे-बैठे कर सकते हैं. देखिये एक्यूप्रेशर पॉइंट्स को फोटो में और इन्हें हलके हाथों से दबाये खासकर हाथों में दिए गए पॉइंट को ज्यादा दबाये.

आप इन नुस्खों को जरूर अपनाये इनमे तूअंत ही उलटी को ख़त्म करने की क्षमता है जो की आपको बहुत लाभ देगी. साथ ही आप सफर में सांस गहरी लें तो सफर की उलटी नहीं आएगी. जी मिचलना, घभराने पर भी आप ऐसे ही गहरी सांसे लेते रहे तो आपको बहुत ही लाभ होगा. ऐसे में जरुरी है की आप मानसिक शांति को बनाये रखे.

दोस्तों इस तरह ulti rokne ke upay ayurvedic treatment of vomiting in Hindi करने से तुरंत ही आराम मिलता हैं इसमें लौंग, सौंफ आदि के उपाय सबसे आसान हैं व इनसे आप उलटी रोकने का तरीका और तुरंत उपचार कर सकते हैं. बाकी आर्क के पत्ते को पैर में रख कर भी आप उलटी आने को रोक सकते हैं.

Leave a Reply

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.